प्रमुख सुर्खियाँ :

कश्मीर की समस्या का हल होगा ?

नई दिल्ली / टीम डिजिटल। कश्मीर की समस्या का क्या कोई हल निकलने वाला है ? तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों को घर में ही नजरबंद कर दिया गया है । ये पूर्व मुख्यमंत्री हैं – फारूक अब्दुल्ला , उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती । अमित शाह बार बार जम्मू कश्मीर के चक्कर लगा रहे हैं । अजीत डोभाल भी सारी रूचि जम्मू कश्मीर में दिखा रहे हैं । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी जम्मू कश्मीर में पूरी रूचि ले रहे हैं । संभवतः यह भाजपा की प्राथमिकता की सूची में है ।

गृहमंत्री रहे सरदार पटेल की च्रचा यह कि वे कश्मीर समस्या भी हल कर देते लेकिन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू आडे आ गये । तब से यह समस्या फंसी हुई है । स्वतंत्रता के बाद से कश्मीर समस्या जस की तस है । कभी तिरंगे की जगह पाक का झंडा लहरा दिया जाता है तो कभी स्कूल जला दिये जाते हैं । कभी सायरा बसीम जैसी अभिनेत्री को घर बिठा दिया जाता है । वह युवा अभिनेत्री आतंकवादियों के दबाव में आकर भरी जवानी में फिल्मी दुनिया से अलविदा ले गयी । क्या कश्मीर जलता रहेगा ? पुलवामा जैसे कांड होते रहेंगे ? भारी सुरक्षा के बीच स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराया जाता है । तिरंगा फहराने के बाद ही पिछले वर्ष सैन्य अधिकारी को आतंकवादियों ने मार गिराया था । इतने हौंसले फुलंद कैसे हो गये ?

क्या पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती का अपरोक्ष समर्थन ? पत्थर मारने वाले युवकों को माफी की पैरवी करने का नतीजा ? अपने बच्चों को विदेशों में पढाने वाले अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा पर करोडों रुपये स्वाहा क्यों किए जाते रहे ? यदि महबूबा के इरादों का पता था तो फिर उसके साथ भाजपा ने सरकार बनाने का असफल प्रयोग क्यों किया ?
बहुत सारे सवाल हैं । अब देखते हैं कि कश्मीर की राजनीति क्या करवट लेती है ?
 – कमलेश भारतीय, वरिष्ठ  पत्रकार

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account