एनपीसीआईएल को जनसंचार के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय अवॉर्ड

नई दिल्ली। न्यूक्लियर के क्षेत्र में कार्यरत विश्व की अग्रणी संस्थानों के दिग्गज विशेषज्ञों के बीच, रूस के प्रसिद्ध शहर सोची में आयोजित एटमएक्स्पो-2018 की दसवीं वर्षगाँठ के दौरान भारत में परमाणु ऊर्जा से बिजली बनाने वाली कंपनी न्यूक्लियर पावर कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के “ऐटम ऑन वील्स” को विश्व के सर्वोत्तम जनजागरूकता अभियान के लिए दिनांक 14 मई 2018 को अंतरराष्ट्रीय अवॉर्ड प्रदान किया गया. इस अवॉर्ड को रूस के न्यूक्लियर क्षेत्र में अग्रणी सरकारी संस्था रॉसएटम के अध्यक्ष द्वारा एक भव्य समारोह के दौरान प्रदान किया गया. इस अवॉर्ड को प्राप्त करने के लिए विश्व के 22 देशों ने भाग लिया, जिसमे से विश्वप्रतिष्ठित ज्यूरी के सदस्यों के द्वारा फाइनल में 3 देशों भारत, हंग्री और दक्षिणी अफ्रीका को चयनित किया गया और अंत में भारत ने सभी अन्य देशों को पीछे छोड़ते हुए बाजी मार ली. एनपीसीआईएल द्वारा संचालित, भारत में ग्रामीण क्षेत्र की जनता को परमाणु ऊर्जा के विभिन्न आयामों से रूबरू कराने के लिए इस अनूठे चलायमान प्रदर्शनी “ऐटम ऑन वील्स” के अंतर्गत विगत 2 वर्षों के दौरान भारत के 6 राज्यों हरयाणा, गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश के 1500 से भी अधिक गावों के 6 लाख से भी ज़्यादा लोगों को परमाणु ऊर्जा से जुड़ी तमाम जानकारियाँ प्रदान की गयी. इस अनूठे कार्यक्रम की परिकल्पना श्री अमृतेश श्रीवास्तव द्वारा की गयी जो वर्तमान में एन पी सी आई एल, मुंबई में वरिष्ठ मीडिया प्रबंधक के पद पर कार्यरत हैं. इस प्रदर्शनी के दौरान वातानुकूलित बस के अंदर परमाणु ऊर्जा से जुड़ी तमाम बातों को बहुत ही सरल और रोचक तरीके से पैनल्स, पोस्टर्स, मॉडल्स और परमाणु ऊर्जा पर विशेष तौर पर तैयार की गयी एनिमेटेड फ़िल्म्स “कहानी बुधिया की” के माध्यम से जनसाधारण को अवगत कराया गया. इसके साथ ही इसे हर राज्य के अनुसार विभिन्न भाषाओं जैसे मराठी, गुजराती, तेलुगु आदि में भी अनुवाद किया गया ताकि लोगों को उन्हे उनकी भाषा में सरल तरीके से समझाया जा सके. इस पूरे अभियान का प्रमुख मक़सद लोगों को परमाणु विद्युत के प्रति एक सकारात्मक सोच विकसित करने के साथ साथ भविष्य में भारत के विभिन्न राज्यों में लगने वाले परमाणु विद्युत संयंत्र के लिए लोगों के बीच जागरूकता फैलाना है. अपनी तरह के इस अनूठे जनजागरूकता अभियान को देश में काफ़ी सफलता और सराहना मिली और भारत में राष्ट्रीय स्तर के कई अवॉर्ड्स और पुरस्कारों से भी इसे सम्मानित किया गया. भारत में मौजूदा समय में बिजली की बढ़ती माँग के चलते स्वच्छ एवं हरित तरीके से बिजली बनाने के लिए परमाणु विद्युत एक बेहतरीन विकल्प के रूप में सामने है जिससे दीर्घ कालिक समय के लिए बिजली का उत्पादन किया जा सकता है और काफ़ी हद तक भविष्य में लोगों तक बिजली को स्वच्छ, हरित और सुरक्षित तरीके से पहुँचाया जा सकता है.

 

एडमिन

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account