प्रमुख सुर्खियाँ :

बा नी रसोई में चखिए गुजराती जायका

नई दिल्ली। आपका फूूड लवर हैं या आपको खालिस गुजराती जायका पसंद है, तो दिल्ली स्थित गरवी गुजरात भवन में बा नी रसोई रेस्त्रां में आएं। यहां आपको मिलेगा पारंपरिक गुजराती व्यंजन। इस भवन में कैंटीन स्टाइल में यह रेस्त्रां शुरू किया गया है, जो कस्तूरबा गांधी के नाम से प्रेरित है। बा नी रसोई के प्रवक्ता ने बताया कि इस भवन में आने वाले लोगों को मां की ममता भरी गर्माहट भरा प्रेम देने की कोशिश की गई है। इस रसोई के लिए शेफ गुजरात से लाए गए हैं। इसके लिए खाद्य सामग्री भी गुजरात से ही आती है और परंपरागत तरीके से पकाई जाती है। इस रेस्त्रां में सुबह में नाश्ता, चाय और स्नैक्स तथा दोपहर एवं रात का भोजन परोसा जाता है।

बता दें कि बीते सितंबर 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरबी गुजरात भवन का उद्घाटन किया था। नया गुजरात भवन 25 बी अकबर रोड पर बना है। दो साल पहले गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इसकी नींव रखी थी। इस भवन के अंदर 79 कमरों के साथ वीआइपी लाउंज, पब्लिक लाउंज और मल्टीपरपज हॉल बनाए गए हैं, जिसमें एक बार में 2000 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। इस बाबत उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि एक समय ऐसा था जब लोग, विशेषकर उत्तर भारत से, गुजराती भोजन पसंद नहीं करते थे, क्योंकि गुजराती व्यंजन काफी मीठे होते हैं। वो कहा करते थे कि गुजराती करेले में भी चीनी डालते हैं। आज सब यह पूछते हैं कि हमें गुजराती भोजन कहां मिलेगा। गरवी गुजरात सदन गुजरात के करोड़ों लोगों की भावनाओं, परंपराओं और संस्कृति के अनुकूल सभी की सेवा के लिए तैयार है। मैं आप सभी को इसके लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

बा नी रसोई की खासियतें
– प्रत्येक थाली में 16 से 18 खालिस गुजराती पकवान परोसे जाते हैं।
– थाली की कीमत सिर्फ 355 रुपए है, जिसमें अनलिमिटेड मात्रा में खाएं।
– साफ-सफाई को तवज्जो
– ईको फ्रेंडली डेकोर
– एक साथ 100 लोगों की बैठने की व्यवस्था है।
– रोजाना सुबह 7.30 से रात तक 10.30 खुला रहता है।
– नजदीकी मेट्रो स्टेशन उद्योग भवन, पार्किंग की व्यवस्था है

 

दीप्ति अंगरीश

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account