भूपेन हज़ारिका के परिवार ने ठुकराया भारत रत्न

भूपेन हजारिका न केवल हिंदी बल्कि असमिया और बंगाली भाषाओं के कलाजगत के प्रमुख स्तंभ रहे। उन्हें पद्म और दादा साहेब फालके के अलावा कई प्रतिष्ठित सम्मानों से नवाजा जा चुका है। इस साल उन्हें भारत रत्न देने का ऐलान किया गया था. हालांकि नागरिकता कानून के विरोध के कारण अब उनका परिवार ये सम्मान नहीं लेगा।

इस मामले में भूपेन हजारिका के बेटे तेज हजारिका का कहना है कि नागरिकता को लेकर एक अलोकप्रिय बिल पास करने की योजना चल रही है, जिसके लिए उनके पिता के नाम का इस्तेमाल किया जा रहा है। इस कारण तेज हजारिका ने नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में भारत रत्न सम्मान लौटाने का निर्णय किया है।

 

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account