मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिल्ली में किया ‘बिहार सदन‘ का शिलान्यास

नई दिल्ली। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिल्ली के द्वारका सेक्टर-19 में नए बिहार राज्य अतिथि गृह ‘बिहार सदन‘ का शिलान्यास किया। दो एकड़ में बनने जा रहा यह भव्य भवन दिल्ली में ‘बिहार भवन‘ एवं ‘बिहार निवास‘ के बाद बिहार राज्य का तीसरा गेस्ट हाउस होगा। मुख्यमंत्री ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच भारतीय परम्परा के अनुसार नारियल फोडकर शिलापट्ट का अनावरण कर बिहार सदन के भवन का शिलान्यास किया। उन्होंने इस भवन के माॅडल का गहनतापूर्वक निरीक्षण किया। शिलान्यास के पश्चात काफी बड़ी संख्या में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री कुमार ने कहा कि बिहार सदन आधुनिक एवं प्रगतिशील बिहार की छवि प्रस्तुत करेगा। इस भवन के निर्माण से दिल्ली में जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों एवं बिहार के निवासियों को काफी सुविधा मिलेगी। इस भवन की विशेषता बताते हुए मुख्यमंत्री श्री कुमार ने कहा कि यह भवन बेसमेंट एवं भूतल के अलावा 10 (दस) फ्लोर का होगा। इसमें 118 कमरा होगा। 200 लोगों के लिए कान्फ्रेंस रूम तथा 180 लोगों के कैफेटेरिया रहेगा। 200 लोगों के लिए एक्जीविशन क्षेत्र रहेगा। ऊर्जा संरक्षण के उद्देश्य से सौर पैनल का अधिष्ठापन किया जाएगा। बिहार सदन का भव्य भवन पूर्ण रूप से भूकंपरोधी होगा। मुख्यमंत्री श्री कुमार ने कहा कि हमारे सारे अधिकारी एवं अभियंता इस कार्य में तत्परता के साथ लगे हुए है। उन्होंने कहा कि जैसा कि भवन निर्माण विभाग के प्रधान सचिव श्री चंचल कुमार ने कहा कि एक साल छः महीने के अन्दर यह भवन बनकर तैयार हो जाएगा। इस लक्ष्य के अनुसार अगर 02 अक्टूबर 2019 को इस भवन का उदघाटन हो जाए तो यह महात्मा गाँधी की 150वीं जन्मशती के उपलक्ष्य में अत्यंत हर्ष का विषय होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में हाल के वर्षो में आधुनिकतम तकनीकों पर आधारित भवनों का निर्माण किया गया है जिसकी चर्चा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर हो रही है। बिहार आपदा प्रवण राज्य है इसलिए हम लोग सभी भवनों को भूकंपरोधी बना रहे है। राजमिस्त्री को भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है। बिहार म्यूजियम का निर्माण जवाहरलाल नेहरू पथ, जिसे आमतौर पर बेली रोड़ कहा जाता है, में किया गया है। यह पूरी दुनिया के लिए आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। सम्राट अशोक कन्वेंशन सेंटर, ज्ञान भवन तथा बापू सभागार का निर्माण उत्कृष्ट कोटि का हुआ है। भूकंपरोधी पुलिस भवन का निर्माण किया जा रहा है। पूर्व राष्ट्रपति स्व0 डाॅ0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम के नाम पर साईंस सिटी का निर्माण किया जा रहा है। सभी भवनों का निर्माण नवीनतम तकनीक पर आधारित है। हम लोग इतिहास, पर्यावरण एवं विज्ञान के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य कर रहे है।

इससे पूर्व प्रधान सचिव, भवन निर्माण विभाग-सह-माननीय मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव  चंचल कुमार ने मुख्यमंत्री एवं माननीय भवन निर्माण मंत्री के साथ-साथ सभी अतिथियों का गुलदस्ता से स्वागत किया। प्रधान सचिव श्री कुमार ने अतिथियों के स्वागत में सम्बोधन करते हुए कहा कि हम सब के लिए यह अत्यंत हर्ष का विषय है कि दिल्ली में तीसरे गेस्ट हाउस का निर्माण हो रहा है। बिहार सदन की विशेषताओं के बारे में विस्तार से उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि इस भव्य एवं आकर्षक भवन में सारी सुविधाएँ उपलब्ध रहेंगी। इसका बिल्ट-अप एरिया 16153 (सोलह हजार एक सौ तिरपन) वर्ग मीटर है।  इसमें 89 डबल बेड रूम, 19 सिंगल बेड रूम, 08 वी0आई0पी सूट एवं 02 वी0वी0आई0पी सूट रहेगा। 224 कार के पार्किंग की व्यवस्था रहेगी। उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि निर्धारित समय सीमा के अन्दर इसका निर्माण कर दिया जाएगा एवं 02 अक्टूबर 2019 को बिहार सदन का उदघाटन होगा।  इस अवसर पर मंत्री, भवन निर्माण विभाग, बिहार सरकार श्री महेश्वर हजारी ने आम जनता को सम्बोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में बिहार सदन का निर्माण हम सभी बिहारवासियों के लिए गर्व का विषय है। मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के कुशल नेतृत्व में बिहार तीव्र गति से विकास कर रहा है। बिहार सदन में आधुनिकतम सभी सुविधाएँ उपलब्ध रहेंगी। इसके बाद प्रधान सचिव, भवन निर्माण विभाग-सह-माननीय मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव  श्री चंचल कुमार ने माननीय मुख्यमंत्री एवं भवन निर्माण मंत्री को पुस्तक एवं पौधा प्रदान कर सम्मानित किया। कार्यक्रम के अंत में स्थानिक आयुक्त, बिहार, बिहार भवन, नई दिल्ली श्री विपिन कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया।  इस अवसर पर बिहार के विधान पार्षद श्री दिलीप चैधरी, विधान पार्षद श्री देवेश चंद्र ठाकुर, विधायक श्री ज्ञानेन्द्र सिंह ज्ञानू, नवनिर्वाचित विधान पार्षद श्री रामेश्वर महतो, एन0एच0ए0आई0 के अध्यक्ष श्री दीपक कुमार, मुख्यमंत्री के सचिव श्री अतीश चंद्रा, दिल्ली में प्रतिनियुक्त बिहार कैडर के अनेक अधिकारीगण  एवं अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

सुभाष चन्द्र

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account