साहित्य

हिंदी साहित्यजगत के चर्चित आलोचक नामवर सिंह ने काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के अलावा दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में लंबे अरसे तक अध्यापन कार्य किया था। बीएचयू से हिंदी साहित्य में एमए और पीएचडी की डिग्री हासिल करने वाले नामवर सिंह ने हिंदी साहित्य जगत में आलोचना को नया मुकाम दिया। दीप्ति 
Complete Reading

  शतशत नमन उन शूरवीरों को। शहादत की कीमत चुकानी तो पडे़गी। आज सुबह भी वो जागी थी अरूणोदय की लाली से विरहणी की चूड़ी खनकी थी प्रीत मिलन की खुशहाली से। दो दिन ही तो शेष रहा था छुट्टी में तुम घर आओगे। मन के अरमां उछल रहे थे पता नहीं क्या क्या लाओगे।
Complete Reading

शहादत को सम्मानित कर अमरत्व का उद् घोष करने वालों बस एक पल बस एक पल ठहरो शरीर जल गया पर धरा पर हैं उनकी सिसकती अर्धांगिनी बिखरे सपने के संग बिलखते गुमसुम मासूम के मर्म स्पर्शी भावों को आह्लादित करने की सोचो शहीद की चिता के संग ही क्यों जल जा रही भावना क्यों
Complete Reading

धन्य धन्य हे भारत मां जहां ब्रह्मा विष्णु शिव की गाथायें गायी जाती हैं । ऐसे हम देश में रहते हैं जहां गायें पूजी जाती हैं ।। पेड़ों को साक्षी देव मानकर पेड़ भी सींचे जाते हैं । ये देश है मेरा भारत यहां पत्थर पूजे जाते हैं ।। है स्वाभिमान इस धरती में यह
Complete Reading

वैलेंटाइन डे, एक ऐसा दिन जिसके बारे में कुछ सालों पहले तक हमारे देश में बहुत ही कम लोग जानते थे, आज उस दिन का इंतजार करने वाला एक अच्छा खासा वर्ग उपलब्ध है। अगर आप सोच रहे हैं कि केवल इसे चाहने वाला युवा वर्ग ही इस दिन का इंतजार विशेष रूप से करता
Complete Reading

मुंबई। दिग्गज अभिनेता और राजनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि प्रत्येक सफल व्यक्ति के पतन के पीछे एक महिला है । लेकिन उन्होंने स्पष्ट किया कि वह मीटू आंदोलन का मजाक नहीं बना रहे हैं और उनकी टिप्पणियों को सही भाव में लिया जाना चाहिए। लेखक ध्रुव सोमानी की पुस्तक ‘ए टच ऑफ एविल’ के
Complete Reading

नई दिल्ली। ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित हिंदी की वरिष्ठ साहित्यकार कृष्णा सोबती का आज निधन हो गया। कृष्णा सोबती का जन्म 18 फरवरी, 1925, पंजाब के शहर गुजरात में (जो अब पाकिस्तान में है) हुआ। पचास के दशक से आपने लेखन आरम्भ किया और आपकी पहली कहानी, ‘लामा’ 1950 में प्रकाशित हुई। आप मुख्यत: उपन्यास,
Complete Reading

नई दिल्ली। लेखक रवि डबराल जो शैक्षिक रूप से उच्च योग्य तथा पेशे से एक अंतरराष्ट्रीय कमोडिटी व्यापारी हैं ने एक उपन्यास लिखा है। वर्तमान में वे सिंगापुर में स्थित हैं। वह भौतिक दुनिया के रहस्यों के बारे में जानते हैं और साथ ही साथ दर्शन, मनोविज्ञान और आध्यात्मिकता में गहरी रुचि रखते हैं। उन्होंने जनवरी
Complete Reading

नई दिल्ली। दिल्ली के प्रगति मैदान में विश्व पुस्तक मेले में वरिष्ठ पत्रकार और दूरदर्शन के सलाहकार संपादक डाॅ रहमतुल्लाह की पुस्तक मीडिया और जनसंचार का विमोचन किया गया। पुस्तक विमोचन नेशनल बुक ट्स्ट की डायरेक्टर प्रो रीता चैधरी ने किया। भावना प्रकाशित से प्रकाशित इस पुस्तक का विमोचन करते हुए प्रो रीता चैधरी ने
Complete Reading

परिवर्तन नहीं, तो कुछ नहीं चलो फिरो लोगांे से मिलो । घर में पड़े रहने से क्या फायदा ।। जाने अनजाने कुछ तो मिलेगा । गुमशुदा रहने से क्या फायदा ।। जब कोई मिलेगा तो काम बनेगा । नाकामी से भला क्या फायदा ।। जिन्दगी है जब तक चलते रहो । उन्नति न हुई तो
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account