साहित्य

मिथिला में युग्म का बहुत अधिक महत्व है। कई गांवों के नाम हैं। कई संस्कार और लोकाचार भी युग्म में हैं।मैथिल विवाह संस्कार में आम-महु विवाह से अधिकाधिक लोग परिचित हैं। युग्म की परिकल्पना मिथिला में सदियों से चली आ रही है। यहां के लोक जीवन में लोग इसे आत्मसात कर चुके हैं। मिथिला लिटरेचर
Complete Reading

आजकल हर रोज सुबह अखबार पढ कर शक होता है कहीं यह अखबार पुराना तो नहीं ? फिर तारीख देखता हूं वह तो आज के दिन की होती है यह क्या ? यह रेप कांड तो कल भी हुआ था यह आग तो कल भी लगी थी आतंकवादियों ने कल भी किसी जवान को शहीद
Complete Reading

नई दिल्ली। सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज राष्ट्रपति भवन में भारत छोड़ो आंदोलन की जयंती पर राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद को “महात्मा गांधी : चित्रमय जीवन गाथा” नामक पुस्तक भेंट की। इस पुस्तक में 550 तस्वीरों के जरिये महात्मा गांधी के जीवन और उनके समय की सचित्र कहानी प्रस्तुत की
Complete Reading

दरभंगा। मैथिली के चर्चित साहित्यकार, आकाशवाणी दरभंगा के संवाददाता एवं भारत निर्वाचन आयोग के दरभंगा जिला आइकॉन मणिकांत झा द्वारा मणिश्रृंखला अंतर्गत हिन्दी सिनेमा के सदाबहार गीतों की तर्ज पर मैथिली में रचित नचारी संग्रह ‘नचारीमणि’ का लोकार्पण सोमवार को माँ श्यामा केर दरबार में पं विष्णु देव झा विकल, चौधरी हेमचन्द्र राय, हीरा कुमार
Complete Reading

नई दिल्ली / टीम डिजिटल।  देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में एक पुस्तक के बहाने गिरमिटियों के इतिहास और वर्तमान में उनकी प्रासंगिकता पर एक चर्चा का आयोजन किया जा रहा है। पहली अगस्त, 2019 के दोपहर में होने वाले इस आयोजन को सीएसटीएस कर रही है। सीएसटीएस की डाॅ सविता झा
Complete Reading

शिमला।  आज का दुखांत यह है कि बाजार के मुताबिक मनुष्य बनाया जा रहा है । पहले मनुष्य के लिए बाजार था , अब बाजार के लिए मनुष्य है । यह कहना है हिमाचल विश्वविद्यालय के पूर्व प्रो कुमार कृष्ण का । वे शिमला के रोटरी हाॅल में डाॅ आर डी शर्मा द्वारा संचालित संस्था
Complete Reading

नई दिल्ली। बदलते दौर में जब कई सारे स्थापित मीडिया हाउस ज्यादातर सनसनीखेज खबरों की तरफ ध्यान दे रही है वहीं कुछ ऐसे लोग भी हैं, जो पत्रकारिता की साख को बचाए रखने के लिए मानवीय और सामाजिक सरोकार से जुडी खबरों को प्रमुखता दे रहे हैं। हाल के दिनों में पत्रकारिता की गिरते स्तर
Complete Reading

सतीश झा हौज़ खास में जब आप प्रवेश करते है तो पेड़ के झुरमुटों पर बैठे चिड़ियों की कलरव ध्वनि आपका ध्यान भंग करती है। इसके बायीं ओर एक बहुत ही बड़ा पेड़ पौधों से आच्छादित पार्क है जहां दिल्ली के बच्चे कुछ हसीन पल बिताने आते रहते हैं। खैर, मै कह रहा था कि
Complete Reading

दरभंगा। मैथिली के चर्चित साहित्यकार, आकाशवाणी के दरभंगा संवाददाता एवं भारत निर्वाचन आयोग के दरभंगा जिला आइकॉन मणिकांत झा द्वारा मणिश्रृंखला अंतर्गत मैथिली में रचित महेशवाणी एवं नचारी संग्रह ‘केदारमणि’ का लोकार्पण रविवार को एमएमटीएम महाविद्यालय के सभागार में विद्यापति सेवा संस्थान के महासचिव डा0 बैद्यनाथ चौधरी बैजू, दरभंगा की महापौर बैजयंती देवी खेड़िया, पं
Complete Reading

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल।  हिन्दी बोलने मात्र से भारत का बोध होता है। विश्व के किसी भी कोने में कोई हिन्दी बोलते और सुनते नजर आएंगे, तो उनका सरोकार भारत से ही होगा। भारतीयता को हिन्दी के माध्यम से वैश्विक स्तर पर पहुंचाने का बीड़ा उठाया है श्री तरुण शर्मा ने। उन्होंने द हिन्दी नाम से
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account