बजट 2018 में छत्तीसगढ़ सरकार किसानों पर मेहरबान

रायपुर । छत्तीसगढ़ विधानसभा में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने सुबह ठीक 11 बजे से अपना बजट भाषण शुरू कर दिया। मुख्यमंत्री ने 12वां बजट पेश कर रहे हैं। बजट भाषण में मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ की जीडीपी 7.1 होना अनुमानित है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों की भरपूर मदद की है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए 136 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसानों की स्थिति में काफी सुधार आया है। सिंचाई के लिए 91 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। 4 लाख 52 हजार किसानों को बिजली योजना लाभ मिलेगा। जबकी प्रदेशभर के कृषि क्षेंत्र के लिए 13480 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। 100 उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में कृषि संकाय शुरू किया जाएगा। 06 नए कृषि विश्वविद्यालय खोले जाएंगे। 2990 करोड़ रुपए कृषक ज्योति योजना के लिए दिए जाने का प्रावधान है।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि स्कूल शिक्षा को कृषि से जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में उत्पादन और उत्पादकता में बढोतरी हुई है। बीते 14 साल में हर क्षेत्र में बदलाव आया है। सौर पंप के लिए 631 करोड़ रुपए का प्रावधान है। सिंचाई के लिए 6 नए परियोजनाएं चलाई जाएंगी। प्रदेश में सिंचाई क्षमता 20 लाख 60 हजार हेक्टेयर हो गई है।
108 की तर्ज पर पशु चिकित्सा वाहन शुरू किए जाएंगे। 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा गया है। 25 नए पशु औषधालय खोले जाएंगे। मितानिनों के लिए 75 प्रतिशत अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि का ऐलान किया गया। मेडिकल कॉलेजों के आधुनिक बनाने के लिए 68 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। ग्राम ज्योति योजना के तहत नि:शुल्क कनेक्शन दिए जाएंगे। पत्रकार और सिनियर सिटीजन के लिए बीमार राशि 30 हजार रुपए से बढ़ाकर 50 हजार रुपए की गई। सभी जिला और सामुदायिक अस्पतालों में निशुल्क पैथोलॉजी और रेडियोलोजी जांच होगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ ऊर्जा हब बन गया है। यहां जीरो पॉवर कट होता है। बिजली कर्मचारियों को 2 लाख का बीमा कवर मिलेगा। श्रमिकों को कैशलेस उपचार उपलब्ध कराया जाएगा।
129 माध्यमिक शालाओं को उच्च माध्यमिक शालाओं में बदला जाएगा। दंतेवाड़ा में एजुकेशन सिटी की स्थापना की गई। शिक्षिकों की समस्याओं और मांगों पर निर्णय होगा। शिक्षा कर्मियों के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी काम कर रही है इसकी रिपोर्ट आने के बाद सरकार सभी विकल्पों पर विचार करेगी।
नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा कि मुख्यमंत्री के भाषण में अब तक स्वामीनाथन कमेटी और शिक्षाकर्मियों के संविलियन की कोई बात नहीं है उन्हें उम्मीद है कि बजट में इसे शामिल किया जाएगा इसके जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि आप पूरा बजट सुन ले यहां से संतुष्ट होकर जाएंगे।
मुख्यमंत्री भाषण में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 04 हजार से बढ़ाकर 05 हजार किया है। सहायिकाओं का मानदेय 02 हजार से बढ़ाकर ढाई हजार किया गया है। इससे करीब एक लाख लोगों को लाभ मिलेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सारंगढ़ में 100 बिस्तर का अस्पताल खोला जाएगा, 24 घंटे स्वास्थ्य सुधिधा के लिए 35 करोड़ का प्रावधान किया गया है। 3 लाख बीपीएल को बिजली उपलब्ध कराई जाएगी। 3 लाख विधवाओं और परित्यागाओं को पेंशन मिलेगी। सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री ने दंतेवाड़ा में ई रिक्शा की तारीफ की थी। 2017 में छत्तीसगढ़ को सर्वश्रेष्ठ राज्य के लिए पुरस्कृत किया गया है।
20 जिलों के 2200 स्कूलों में सेनेटरी नै‍पकिन के लिए वेंडिंग मशीन लगाई गई है। इसका 3 लाख बालिकाओं को लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा कि नया भारत ज्ञान के मंदिर से निकलेगा। स्कूल का इन्फ्रास्ट्रक्चर बढ़ाया जाएगा, प्रदेश में शाला त्याग दर 0 से 1 प्रतिशत है।

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account