कोरोना महामारी में हाथों की देखभाल

नई दिल्ली।  कोरोना महामारी को रोकने के लिए हाथों की स्वचछता को सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है तथा यह माहामारी को रोकने का महामन्त्र समझा जाता है। हाथों को प्रभावी, सुरक्षित, उपयुक्त तथा बार-बार धोने से समाज, घरों, स्वास्थयकर्मियों तथा सार्वजनिक स्थानों पर कोरोना संक्रमण के खतरे को कम किया जा सकता हैं/ साबुन से हाथ धोने से हाथों पर जमे संक्रमण के किटाणु घुल कर नीचे गिर जाते हैं तथा निष्क्रिय हो जाते हैं जिससे आपके हाथ संक्रमण से सुरक्षित हो जाते हैं । सामान्यतः आपको अपने हाथ 20-30 सैकेंड साबुन के पानी से अन्दर बाहर दोनो तरफ अच्छे से धोने चाहिए। आसान सा तरीका यह भी है कि आप ‘‘हैप्पी बर्थडे’’ गाने को अपनी धून में मस्ती से गाने के लिए जितना वक्त लेते है उतना समय ही आपको अन्दर बाहर दोनों तरफ से अपने हाथ साबुन लगाकर धोने हें तांकि आप सुरक्षित हो सके तथा अपने परिजनों को भी सुरक्षित रख सकें।
वास्तव में हाथों की पिछली ओर की त्वचा काफी पतली होती है तथा इसमें तैलीय ग्रन्थियों की कमी रहती है जिसकी वजह से हाथों में झुर्रियां पड़ जाती हैं। बार-बार साबुन से हाथ धोने से नाखुन भी शुष्क होकर भुरभुरे हो जाते हैं तथा नीरस होकर आसानी से टूट जाते हैं।
इस महामारी में अपने आपको सुरक्षित रखते हुए हमें अपने हाथों की सुरक्षा का ध्यान देने की जरूरत है। हाथों को कैमिकलयुक्त साबुन से बार-बार धोने से हाथों मं पीड़ा, लालिमा, दाद खाज, खुजली आदि समस्यायें खड़ी हो सकती हैं। हाथों को बार-बार धोने से त्वचा में छिद्र पैदा हो सकते हैं जिससे बैक्टीरिया हमारी त्वचा में प्रवेश कर सकता है जिससे ‘‘एक्जिमा’’ जैसे रोग घर कर सकते हैं।
हमारी त्वचा की बाहरी परत की त्वचा वाॅटरप्रूफ बैरियर की तरह काम करती है । यह परत समतल कोशिकाओं से बनी होती है जोकि त्वचा की सामान्य नमी को बनाए रखते हुए त्वचा की बाहरी पदार्थों से रक्षा प्रदान करती है। जब हम हाथों को साबुन को झाग से बार-बार धोते हैं तो यह प्रकृतिक बैरियर टूट जाता है तथा हाथों की त्वचा को नुकसान पहुँचना शुरु हो जाता है तथा ऐसे में हाथों की त्वचा की रक्षा करना अनिवार्य हो जाता है। सबसे पहले सुबह के स्नान के समय हाथों को आयॅल तथा माईस्चराईज करने की शुरुआत करनी चाहिए।
स्नान से पहले हाथों पर गुनगुना तेल लगाकर हाथों पर अच्छी तरह मालिश कीजिए जिससे हाथों की त्वचा मुलायम हो जाये। इसके लिए आप नाॅरियल तेल या बादाम तेल का उपयोग करे तो ज्यादा बेहतर होगा। नहाने के तत्काल बाद जब आपकी त्वचा गीली हो तो हाथों पर माॅइस्चराईजर लगा लीजिए जिससे त्वचा में नमी को बनाए रखने में मदद मिलेगी/
बादाम, दही और चुटकी भर हल्दी डालकर बने मिश्रण को हाथों पर लगाकर 30 मिनट बाद हाथों को ताजे ठण्डे पानी से धो डालिए। इस प्रक्रिया को आप हफ्ते में दो बार अपना सकते हैं। रात्रि को सोने से पहले हाथों पर पौष्क क्रीम की हल्के मालिश करने के बाद सो जाइए।
हाथों की त्वचा को मुलायम बनाए रखने के लिए आप कुछ घरेलू हर्बल प्रसाधनों की मदद भी ले सकती है। आजकल बाजार में कई तरह के माॅइस्चराईजर, हैंड क्रीम आदि उत्पाद उपलब्ध है। बाॅडी लोशन की बजाय हैंड क्रीम हमेशा बेहतर साबित होती है क्योंकि हैंड क्रीम ज्यादा पौषक होती है। पानी पर अधारित लोशन लगाने से त्वचा में सुखापन बढ़ जाता है क्योंकि पानी हवा में उड़ जाता है। इसके मुकाबले आयॅल पर आधारित क्रीम लगाना कहीं ज्यादा प्रभावी तथा लाभप्रद रहता है। जब भी आपके हाथ शुष्क हों तो तत्काल हैंड क्रीम लगाना कतई ना भूलें । हाथों को धाने के लिए उपयोग किए जाने वाले साबुन हल्के तथा सुगन्धरहित होने चाहिए। चार चम्मच बादाम तेल, एक चम्मच गुलाब जल तथा आधा चम्मच टिनचर बेंज़ोइन को मिलकार बने मिश्रण को हाथों पर लगाकर हाथों पर सूती कपड़ा लपेटकर हाथों को ढक लें तथा इसे रात भर हाथों पर लगा रहने के बाद सुबह हाथों को ताजू सामान्य पानी से धो डालिए। इससे आपके हाथ कोमल तथा मुलायम हो जायेंगे।
– नींबू जूस और चीनी को हाथों पर रगड़ने से त्वचा मुलायम होती है।
– दो चम्मच सूर्यमुखी तेल, 2 चम्मच नींबू जूस तथा तीन चम्मच चीनी को मिलाकर बनाये मिश्रण को हाथों पर लगाकर आधे घण्टे बाद हाथों को ताजे साफ पानी से धो डालिए। इसे हफ्ते में तीन बार प्रैक्टिस कर सकते हैं।
– ताजे संतरे की फांकों को एक फार्क से भेदकर इन्हें अपने हाथों पर आहिस्ता-आहिस्ता रगड़िये।
– चोकर, बेसन, हल्दी तथा दूध को मिलाकर इसका पेस्ट बना लीजिए।  इस मिश्रण को 20 मिनट तक हाथों पर लगाने के बाद हाथों को ताजे साफ पानी से धो डालिए।
– बादाम तेल तथा शहद को बराबर अनुपात में मिलाकर बने मिश्रण को अपने नाखूनों तथा सटी त्वचा पर लगाने से नाखून मुलायम हो जायेंगे।
– वैजीटेबल आॅयल को गर्म करके इसमे  नाखून डुबोने के बाद गीले तौलिए से नाखूनों को पोंछ दीजिए। प्रतिदिन बादाम खाने से नाखून मजबूत होते हैं। अपने आहार में अनाज, दही पत्तेदान सब्जियों तथा फलों को सम्मिलित करें।
– यदि आपकी त्वचा कैमिकलयुक्त साबुन,डिटरजैंट के प्रति संवेदनशील है तो आप बर्तन धोते समय हाथों पर दस्ताना पहनना कतई न भूलें। – एक चम्मच खमीर को एक गिलास ताजे जूस में डालकर पीने से नाखुन तथा त्वचा बेहतर और स्वास्थ्यवर्धक रहती है।

शहनाज़ हुसैन  अन्र्ताष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सौन्दर्य विशेषज्ञ हैं
तथा हर्बल क्वीन के रूप में लोकप्रिय हैं

 

 

 

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account