प्रमुख सुर्खियाँ :

Business News : डीएचएल सप्‍लाय चेन ने अहमदाबाद, दिल्‍ली और मुंबई में अपने इंडिया फुलफिलमेंट नेटवर्क का विस्‍तार किया

नई दिल्ली। बेंगलुरू में अपने इंडिया फुलफिलमेंट नेटवर्क के लॉन्‍च और उसे मिली सफलता के बाद कॉन्‍ट्रैक्‍ट लॉजिस्टिक्‍स के बाजार में विश्‍व-अग्रणी डीएचएल सप्‍लाय चेन ने अहमदाबाद, मुंबई और दिल्‍ली तक अपने इंडिया फुलफिलमेंट नेटवर्क (आईएफएन) का विस्‍तार किया है। यह सेक्‍टर के लिये अपने बुनियादी ढांचे और सेवाओं के विस्‍तार द्वारा भारत के ईकॉमर्स पारितंत्र की वृद्धि पर कंपनी के ध्‍यान के अनुरूप है। डीएचएल सप्‍लाय चेन ने इंडिया फुलफिलमेंट नेटवर्क के माध्‍यम से अब तक क्षमता निर्माण में 25 करोड़ रुपये से ज्‍यादा का निवेश किया है।

2022 के अंत तक भारत के ईकॉमर्स बाजार के 74.8 बिलियन अमेरिकी डॉलर का होने की अपेक्षा है और इसके 2025 तक लगभग 35% की दर से वृद्धि करते हुए 188 बिलियन अमेरिकी डॉलर का होने का अनुमान है।[i] इस बदलाव को ऑनलाइन चैनलों पर खरीदारों और विक्रेताओं की गतिशीलता आसान बना रही है। इसी के साथ, ईकॉमर्स और 3पीएल सेक्‍टरों का विस्‍तार भी नये वेयरहाउसिंग स्‍पेस की मांग बढ़ा रहा है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 160% तक बढ़ने की अपेक्षा है।[ii]

उपरोक्‍त के अनुसार, आईएफएन को बी2सी फुलफिलमेंट की प्रक्रिया आसान बनाने के लिये तैयार एक लॉन्‍च पैड के रूप में डिजाइन किया गया है। यह विभिन्‍न सेक्‍टरों के उद्यमों के लिये एक संपूर्ण डिग्री आपूर्ति श्रृंखला समाधान है, जो उन्‍हें एक पूरी तरह से ऑनलाइन बाजार के परिदृश्‍य में अपने फुलफिलमेंट सम्‍बंधी परिचालन को अबाध तरीके से प्रबंधित करने की अनुमति देता है। इसके अलावा, आईएफएन ऑनलाइन बिक्री के इच्‍छुक ब्राण्‍ड्स और कंपनियों के लिये कैरियर से इतर परिवहन तंत्र की पेशकश भी करता है, जिससे उन्‍हें अंतिम मील की आपूर्ति सेवाएं मिलती हैं, ताकि उनके स्‍वतंत्र dot.com मॉडल्‍स को बढ़ावा मिले।

प्रमुख शहरी केन्‍द्रों के समीप डीएचएल सप्‍लाय चेन की रणनीतिक रूप से स्थित साइट्स फैशन, परिधान, एसेसरीज, कॉस्‍मेटिक्‍स, कंज्‍यूमर इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स, आदि जैसे सेक्‍टरों के काम आएंगी। आईएफएन एक ओम्‍नी-चैनल पेशकश है, जो एक सिंगल वेयरहाउस सेटअप से लेकर गतिशीलता से जुड़े कई माइक्रो-फुलफिलमेंट सेंटरों तक के यूज-केसेस के साथ ईकॉमर्स ऑर्डर को पूरे भारत में पूरा करेगी, ताकि ब्राण्‍ड्स अपने ऑनलाइन खरीदारों के ऑर्डर्स पूरे करने के लिये उपयुक्‍त रणनीति चुन सकें। कंपनियों ने ऑनलाइन व्‍यवसाय में 20% बढ़त का अनुभव किया है, जिसका कारण तेजी से होने वाली पूर्ति और आपूर्ति है। आईएफएन का मॉडल व्‍यापारियों को पूरे देश में सीधे अपने उत्‍पादों की बिक्री में समर्थ बनाता है और ऑनलाइन खरीदारों के करीब लाता है। इसके लिये बुनियादी ढांचे और आईटी में बड़ा निवेश किये बिना डीएचएल सप्‍लाय चेन के नेटवर्क का इस्‍तेमाल किया जाता है और परिचालन की एक सिरे से दूसरे सिरे तक निगरानी होती है।

इस विस्‍तार पर अपनी बात रखते हुए, डीएचएल सप्‍लाय चेन, इंडिया के प्रबंध निदेशक विकास आनंद ने कहा, “बेंगलुरू में इंडिया फुलफिलमेंट नेटवर्क की सफलता के आधार पर ब्राण्‍ड्स और कंपनियाँ पूरे भारत में हमारी मौजूदगी का इस्‍तेमाल कर सकती हैं। ताकि एक अत्‍याधुनिक चालू मॉडल के माध्‍यम से उनकी ओम्‍नी-चैनल बिक्री मजबूत हो सके। यह मॉडल उनके समग्र व्‍यवसाय को बढ़ाने में एक महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाएगा।” उन्‍होंने आगे कहा, “आईएफएन के इस्‍तेमाल से न केवल आपूर्ति का समय कम होता है, बल्कि देशभर में लंबी दूरी के शिपमेंट्स से भी बचा जा सकता है और इस प्रकार परिवहन से होने वाला CO2 का उत्‍सर्जन कम होता है।”

वर्तमान में, डीएचएल सप्‍लाय चेन भारत में अपने ईकॉमर्स परिचालन से हर दिन 100,000 से ज्‍यादा ऑर्डर्स पूरे करती है। डीएचएल का खोजपरक दृष्टिकोण एसएमई और उन बहुराष्‍ट्रीय ईकॉमर्स समूहों के बीच स्थिति में समानता लेकर आएगा, जो कई बाजारों में परिचालन का खर्च उठा सक‍ते हैं और अगले दिन आपूर्ति का वादा करते हैं। डीएचएल के रेडियो फ्रीक्‍वेंसी से सक्षम बुनियादी ढांचे और ईकॉमर्स बाजारों तथा आपूर्ति भागीदारों से जुड़े मजबूत आईटी प्‍लेटफॉर्म के साथ कंपनियाँ देश के भीतर क्षेत्र विशेष के लिये सेवा को अनुकूल बना सकती हैं और ऑर्डर के परिमाण से मेल खाने के लिये अपना पैमाना बढ़ा सकती हैं।

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account