खुले 280 प्लस टू स्कूल, साइंस में एक भी नामांकन नहीं

रांची : राज्य में इंटरमीडिएट साइंस में 50 हजार सीट रिक्त हैं. वर्ष 2017 में 280 प्लस टू उच्च विद्यालय खाले गये. इन विद्यालयों में नामांकन भी शुरू किया गया. 280 नये प्लस टू उच्च विद्यालय में से लगभग आधे विद्यालय में साइंस में एक भी विद्यार्थी ने नामांकन नहीं लिया. जिन विद्यालयों में साइंस में विद्यार्थियों ने नामांकन लिया है, उनमें भी अधिकतर विद्यालयों में विद्यार्थियों की संख्या दहाई से कम है. इन विद्यालयों में सरकार ने शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की है. प्रत्येक विद्यालय में साइंस के लिए गणित, भौतिकी, रसायन व जीव विज्ञान विषय के शिक्षक की नियुक्ति की जायेगी. इन चार विषयों में 280 विद्यालय में 1,120 शिक्षकों की नियुक्ति होगी. शिक्षकों की नियुक्ति के लिए आवेदन जमा करने की प्रक्रिया पूरी हो गयी है. नियुक्ति प्रक्रिया इस वर्ष पूरी हो जाने की संभावना है. ऐसे में इन विद्यालयों में बिना विद्यार्थी शिक्षकों का पदस्थापना हो जायेगा. शिक्षकों के वेतन पर करोड़ों खर्च होंगे. राज्य में वर्तमान में 510 प्लस टू उच्च विद्यालय हैं.
राज्य के कॉलेज व स्कूलों में इंटर साइंस में लगभग 1.55 लाख सीट है, जबकि गत पांच वर्षों में कभी भी इंटरमीडिएट साइंस में परीक्षार्थियों की संख्या एक लाख नहीं पहुंची. वर्ष 2017-18 में खुले 280 प्लस टू स्कूल में बढ़ी हुई सीट को छोड़ भी दिया जाये, तो इंटर साइंस में पहले से ही शिक्षण संस्थानों में लगभग एक लाख सीट थी. ऐसे में पहले से जो सीट उपलब्ध थी, वह भी रिक्त रह जाती थी. ऐसे में नये स्कूलों में बिना समीक्षा के ही साइंस की पढ़ाई शुरू कर दी गयी.

सीट 500, नामांकन 50 विद्यार्थियों का

राजधानी के प्लस टू स्कूल व कॉलेजों को साइंस के विद्यार्थी नहीं मिलते. रांची के बीआइटी प्लस टू उच्च विद्यालय से वर्ष 2017 की इंटर साइंस की परीक्षा में मात्र दो विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे. बालकृष्ण प्लस टू उच्च विद्यालय से 27, राजकीय बालिका प्लस टू उच्च विद्यालय बरियातू से मात्र 20 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे. श्री शिव नारायण बालिका प्लस टू उच्च विद्यालय में तो साइंस की पढ़ाई ही बंद हो गयी. राजधानी के प्लस टू उच्च विद्यालय ही नहीं, बल्कि कॉलेजों में भी इंटर के साइंस के 80 फीसदी सीट रिक्त रह जाती हैं.
अंगीभूत कॉलेजों में इंटर में प्रत्येक संकाय में लगभग 500 से अधिक सीट हैं, पर कुछ कॉलेजों में नामांकन 50 विद्यार्थियों का होता है. जेएन कॉलेज धुर्वा में वर्ष 2017 की परीक्षा में 54, मौलाना आजाद कॉलेज में 32, रामलखन सिंह यादव कॉलेज से 110 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे.

बंद करने पड़े 2500 प्राथमिक व मध्य विद्यालय

राज्य में बड़े पैमाने पर प्राथमिक व मध्य विद्यालय खोले गये थे. राज्य गठन के समय झारखंड में लगभग 19000 प्राथमिक व मध्य विद्यालय थे, जो बाद में बढ़ कर लगभग 40 हजार हो गये. विद्यालयों में विद्यार्थी काफी थे. राज्य में सैकड़ों ऐसे विद्यालय थे, जहां छात्र अनुपात में शिक्षक अधिक थे. इन विद्यालयों में छात्रों की संख्या दहाई अंक से भी कम थी. सरकार को इन विद्यालयों को बाद में बंद करना पड़ा. प्रथम चरण में लगभग एक हजार ऐसे प्राथमिक व मध्य विद्यालय को निकट के विद्यालय में मर्ज किया गया. वर्तमान में 1500 और विद्यालयों को मर्ज करने की प्रक्रिया चल रही है.
राज्य में जो 290 हाइस्कूल, प्लस टू में अपग्रेड किये गये हैं, उसकी अनुशंसा स्थानीय सांसद व विधायक ने भी की थी. जिला द्वारा विभाग को अपग्रेड करने के लिए जो नाम भेजे गये, उनमें सांसद-विधायक की अनुशंसा को भी आधार बनाया गया. जिला स्तर पर गठित कमेटी में इस पर अंतिम निर्णय लिया गया था.

इन नये प्लस टू विद्यालय में एक भी नामांकन नहीं

गुमला
विद्यालय
उत्क्रमित प्लस टू उवि तुरीअंबा भरनो
उत्क्रमित प्लस टू उवि सिविल चैनपुर
उत्क्रमित प्लस टू उवि मुरकुंडा गुमला
उत्क्रमित प्लस टू उवि जारी
उत्क्रमित टेन प्लस टू उवि कुरकुरा कामडारा
उत्क्रमित टेन प्लस टू उवि सुरसांग रायडीह
उत्क्रमित टेन प्लस टू उवि पुसो सिसई
कोडरमा
उत्क्रमित प्लस टू उच्च विद्यालय डगरनवां मरकच्चो
उत्क्रमित प्लस टू उच्च विद्यालय मेघातरी
उत्क्रमित प्लस टू उच्च विद्यालय ढुब्बा
रामगढ़
राज बल्लभ +2 उच्च विद्यालय सांडी चितरपुर
उत्क्रमित उच्च + 2 विद्यालय होन्हे
प्लस टू उच्च विद्यालय डीमरा
श्रमिक + 2 उच्च विद्यालय तोपा पिंडरा
उत्क्रमित +2 उच्च विद्यालय बाराघुटू पतरातू
उत्क्रमित श्रमिक +2 उच्च विद्यालय सिरका
चाईबासा
प्लस टू उच्च विद्यालय जैसगढ़
अपग्रेड प्लस टू उच्च विद्यालय कुलडा

रांची

एसएस प्लस टू उवि ककरीया
प्रोजेक्ट उवि ओपा चान्हो टांगर
हंसराज बधवा प्लस टू हाइस्कूल नामकुम
भवानी शंकर उच्च विद्यालय ठाकुरगांव
जयपाल सिंह उच्च विद्यालय तैमरा
उत्क्रमित उच्च विद्यालय टोरो बेड़ो
पहले से चल रहे प्लस
टू स्कूलों में नामांकन

स्कूल नामांकन

बीआइटी प्लस टू हाइस्कूल मेसरा 02
बालकृष्ष्ण प्लस टू हाइस्कूल 27
बालिका प्लस टू हाइस्कूल बरियातू 20
राजकीय प्लस टू हाइस्कूल कांके 37
एसएस प्लस टू हाइसकूल बेरो 40
एसएस डोरंडा बालिका प्लस टू स्कूल 10
प्लस टू हाइस्कूल तमाड़ 10
प्लस टू हाइस्कूल लंदुपडीह 04
एसएस प्लस टू हाइस्कूल सिल्ली 11
जीएम प्लस टू हाइस्कूल मरडीह कुरु 06
एसएस प्लस टू हाइस्कूल सिमडेगा 25
केजीआरजी प्लस टू हाइस्कूल 02
प्लस टू हाइस्कूल कर्रा 20
एएनएस प्लस टू हाइस्कूल रेलीगढ़ा 41
प्लस टू जिला हाइस्कूल हजारीबाग 45
प्लस टू हाइस्कूल कटकमसांडी 32
केएन प्लस टू हाइस्कूल इचाक 13
एसएस प्लस टू हाइस्कूल केरेडारी 14

इंटर साइंस में परीक्षा में शामिल परीक्षार्थियों की वर्षवार संख्या

वर्ष संख्या
2013 81831
2014 82945
2015 79385
2016 87307
2017 90871

इंटर साइंस में सीट

अंगीभूत कॉलेज 36,272
प्लस टू हाइस्कूल 62,280
इंटर कॉलेज 50000
डिग्री संबद्ध कॉलेज 8,428

 

साभार: प्रभात खबर

एडमिन

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account