माॅर्डन और कंटेम्पररी डायलाॅग की काॅकटेल है एपिक : सिद्धार्थ निगम

सोनी सब चैनल पर प्रसारित शो ‘अलादीनः नाम तो सुना होगा’ में अलादीन का किरदार निभा रहे हैं सिद्धार्थ निगम। अरेबिनयन नाइट्स’ की क्लासिक कहानी पर आधारित इस शो में जादू, हल्की-फुलकी कॉमेडी, रोमांच, रोमांस और ड्रामा के अलावा बहुत कुछ है जानते हैं अलादीन यानी सिद्धार्थ निगम से।

सवाल – शो में अलादीन बनने पर कैसा महसूस कर रहे हैं?
जवाब – मुझे बहुत खुशी महसूस हो रही है, मैं काफी उत्साहित हूं। अलादीन का किरदार निभाकर अपने किरदार अलादीन के जरिए अपनी प्रतिभा साबित करने का यह मौका है। पूरी दुनिया में हर कोई अलादीन के बारे में जानता है। मैंने बचपन में ‘अलादीन देखा है। इस शो में मैं मुख्य किरदार निभा रहा हूं, इसलिए यह अच्छी बात है।

सवाल – ‘अलादीन’ जैसे एपिक शो को क्यों चुना आपने?
जवाब – पहले मुझे गंभीर, गुस्सैल और विविध तरह की भूमिकाएं निभाने का अनुभव रहा है। लेकिन अलादीन का मेरा यह किरदार काफी अलग, पहले मैंने जिस तरह की भूमिकाएं निभाई हैं उससे काफी अलग है। मुझे काफी सीखने का मौका मिलेगा। मुझे हर शो से सीखने का मौका मिला है। हर दिन मैं कुछ अलग सीखता हूं और मैं अपनी सीन्स में सुधार कर रहा हूं, ताकि पूरी दुनिया में ‘अलादीन’ के चर्चे हों। कुल मिलाकर यह शो एपिक और माॅर्डन है। इसमें कई कंटेम्पररी डायलाॅग हैं।

सवाल – इस भूमिका के लिए क्या आपने किसी वर्कशाॅप में हिस्सा लिया?
जवाब -: हां, क्योंकि इसकी लाइनें और काॅमिक टाइमिंग मेरे लिये मुश्किल होती जा रही थी। इसकी सबसे अच्छी बात यह थी कि इस शो की संवाद और स्क्रीनप्ले दोनों ही बहुत दिलचस्प हैं। यदि आप कुछ नहीं भी कर रहे हैं और बस वह लाइनें बोल रहे हैं तो आपको वह मजेदार लगेंगे। इसलिए जब वर्कशाॅप्स चलती थीं तो हम उन लाइनों को पढ़ते थे और आपस में हंसा करते थे।

सवालः जब आपसे कहा गया कि आप अलादीन की भूमिका निभा रहे हैं तो आपकी क्या प्रतिक्रिया रही?
जवाब – जब मुझे कहा गया कि मैं अलादीन की भूमिका निभा रहा हूं तो मैं बहुत खुश था। मेरी ऐसी प्रतिक्रिया थी-‘वाह अलादीन’! मेरी कल्पना- जादू, जीनी, चिराग, सबकुछ सच होगा। साथ ही मैं सोच रहा था कि मैं इसे कैसे करूंगा? अलादीन तो कई सारी चीजें करता है और उसमें काफी जोश है। जब मैं इसे आॅनलाइन देखा करता था, मैं यास्मीन के साथ उसकी केमेस्ट्री देखता था, मुझे लगता था कि मैं इसे कैसे कर पाऊंगा? मैं अभी भी सीख रहा हूं। इतना ही नहीं, जब हम वर्कशाॅप कर रहे थे तो मेरे डायरेक्टर ने कहा था कि अब तक आपने जो कुछ भी किया है वह सब भूल जाइये। अब आप अलादीन है। इसलिए मैं हमेशा खुद को याद दिलाता रहता था कि मैं अलादीन हूं। एक कलाकार के तौर पर मैं बहुत खुश था और उत्साहित भी क्योंकि, अब मैं कुछ नया करने की कोशिश कर रहा हूं।

सवालः यदि आपको तीन विश दी जाएं तो आप क्या करेंगे?
जवाब – मेरी सबसे पहली विश होगी कि मेरा शो अच्छा करे। मेरी दूसरी विश है कि भारतवासी आगे बढ़ें, सुरक्षित रहें और कभी कोई परेशानी ना आए। तीसरी विश है कि भारत में कोई धमाका या हमला ना हो।

सवालः ‘अलादीन’ बाकी शोज से किस तरह अलग है?
जवाब – यह बाकी शोज से अलग इसलिए है, क्योंकि मैं इस शो में हूं। (मजाक कर रहा हूं)। इस शो का ऐक्शन बाकी सारे शोज की तुलना में काफी अलग है। मैं जिस तरह से ऐक्शन सीक्वेंस कर रहा हूं वह हाॅलीवुड फिल्मों की तरह नैचुरल नजर आएगा। इसमें जो भी ऐक्शन सीन हैं, वह मैं खुद कर रहा हूं। मैंने कोई डुप्लीकेट इस्तेमाल नहीं किया है। कोरियोग्राफी में भी मैं अपनी चीज कर रहा हूं।

 

प्रस्तुति – दीप्ति अंगरीश

 

दीप्ति अंगरीश

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account