गरीबों के लिए क्यूनेट ने किया 21 शहरों में 39 ईवेंट्स की तैयारी

नोएडा। डायरेक्ट सेलिंग कंपनी, क्यूनेट के स्वतंत्र प्रतिनिधि एक बार फिर गरीबों के लिए त्योहारों की खुशी बढ़ाने के लिए एकत्रित हुए हैं। भारत के 21 शहरों में योजनाबद्ध की गई ईवेंट्स में स्वतंत्र प्रतिनिधियों के विभिन्न समूह गरीब समुदायों के लिए पूंजी एकत्रित करने के उद्देश्य से आगे आए। क्यूनेट के साथ डायरेक्ट सेलिंग बिज़नेस चलाने वाले लगभग 1500 युवा उद्यमियों ने जरूरतमंद स्थानीय समुदायों को सहयोग करने के लिए हर शहर से 50,000 से 1 लाख रुपये एकत्रित करने का संकल्प लिया। इन उद्यमियों ने त्योहारों के दौरान चौथे साल दान देने की भावना के साथ समुदायों को मदद करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता आगे बढ़ाई।

इस साल समूह द्वारा एकत्रित की गई राशि को अनाथालयों, विकलांगों एवं बुजुर्गों के घरों तथा शिक्षा के लिए और स्टेशनरी व किताबों सहित शैक्षिक सामग्री और आवश्यक वस्तुओं की व्यवस्था के लिए उपयोग में लाया जाएगा। दिल्ली एवं आसपास के इलाकों में इस साल की गतिविधि का प्रारंभ ऐसे 500 उद्यमियों ने किया और नोएडा की नई दिशा फ्री एजुकेशन सोसायटी में नोटबुक्स, क्रेयंस, पेंसिल के साथ कलर सेट पाउच एवं अन्य सामान, जैसे खाने-पीने की वस्तुएं वितरित कीं। उन्होंने अन्य स्थानों, जैसे बाल सहयोग, ब्राईट फ्यूचर्स एवं ग्रेस होम्स, इंदिरापुरम आदि जगहों पर भी जरूरत के सामान वितरित करने की योजना बनाई।

उद्यमियों के समूह ने 14 अक्टूबर से 7 नवंबर, 2018 के बीच चेन्नई, हैदराबाद, पुणे, कोलकाता, भुवनेष्वर, हुबली, मैंगलोर, दिल्ली, लखनऊ, जयपुर, चंडीगढ़, जम्मू और मेरठ में अन्य चैरिटेबल अभियानों की योजना भी बनाई। कुणाल, मनमोहन, अंशुमन और सरफराज़ आलम ने अन्य उद्यमियों के साथ दिल्ली में इन प्रयासों का नेतृत्व किया और कहा कि हम भाग्यशाली हैं कि हमने क्यूनेट के साथ अपने पथ एवं उद्देश्य को पाया, जिससे न केवल हममें परिवर्तन आया और हमारी जिंदगी बदल गई, बल्कि हमारे आसपास के लोगों की जिंदगी भी बदल गई। त्योहारों के इस पवित्र मौसम में समाज को अपना योगदान देना हमारा आभार प्रकट करने का तरीका है।

इस प्रयास के बारे में क्यूनेट ग्लोबल सीईओ, ट्रेवर कुणा ने कहा कि हमारे स्वतंत्र प्रतिनिधियों द्वारा उनकी व्यक्तिगत सामर्थ्य में चलाया गया अभियान उत्साहवर्धक है। क्यूनेट का अंतर्निहित सिद्धांत है, रिद्म, यानि रेज़ योरसेल्फ टू हेल्प मैनकाईंड। हम इसी सिद्धांत के साथ आगे बढ़ते हैं। यह हमारे बिज़नेस का प्रतिबिंब है तथा लोगों को अपने जीवन को नियंत्रण में लेने में सषक्त बनाता है, ताकि वो बदले में समाज को सशक्त बना सकें। जब आप अच्छा कर रहे हों, तो इससे अच्छी कोई भावना या अनुभव नहीं होता। क्यूनेट इससे पूर्व कम आय वर्ग के बच्चों को कैंसर के इलाज में मदद करने के लिए मुंबई में कैंसर पेषेंट एड एसोसिएषन के साथ साझेदारी कर चुका है। क्यूनेट ने बैंगलोर, चेन्नई और हैदराबाद में बच्चों के लिए स्वच्छ पेयजल, पोषण शिक्षा व स्वास्थ्य शिविर जैसे अनेक प्रोजेक्ट्स में लॉयंस क्लब के साथ साझेदारी करके स्वच्छ भारत स्वच्छ विद्यालय अभियान में काफी महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

 

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account