प्रमुख सुर्खियाँ :

Gupt Navratri 12 Feb, तन-मन से उपवास करें और मनोकामना को गुप्त रखें, फिर देखें मां कैसे आशीष बरसाती हैं

नई दिल्ली। आज से Gupt Navratri आरंभ हो रही है। गुप्त नवरात्रि में सात्विक और तांत्रिक पूजा की जाती है। गुप्त नवरात्रि में पूजा और मनोकामना को गुप्त रखा जाता है। कहते हैं कि ऐसा करने से मां दुर्गा जी का आशीर्वाद प्राप्त होता है। Gupt Navratri के दौरान विवाह, नौकरी, स्वस्थ, व्यापार आदि से संबंधित कई उपाय भी किये जाते हैं। साल में चार नवरात्रि आते हैं, जिनमें से दो गुप्त नवरात्रि आते हैं। यानी शारदीय, चैत्र और दो गुप्त नवरात्रि।

Gupt Navratri 12 Feb, संतान प्राप्ति के लिए

गुप्त नवरात्रि के दौरान संतान प्राप्ति के लिए 9 दिन मां दुर्गा जी के लिए पान का पत्ता अर्पित करना चाहिए, पान का पत्ता कटा-फटा नहीं होना चाहिए। पूजा के दौरान यह मंत्र का जाप करें-

ॐ नन्दगोपगृह जाता यशोदागर्भ सम्भवा।
ततस्तौ नाशयिष्यामि विन्ध्याचलनिवासिनी।।

नौकरी की समस्या के लिए

नौकरी या जॉब में किसी तरह की समस्या आ रही है तो गुप्त नवरात्रि के दौरान 9 दिन तक मां दुर्गा जी को बताशे पर रखकर लौंग अर्पित करनी चाहिए। इस दौरान यह मंत्र का जाप करें-

ॐ सर्वबाधा विनिर्मुक्तो धन धान्य सुतान्वितरू।
मनुष्यो मत्प्रसादेने भविष्यति ना संशयरू।।

 

 

Gupt Navratri 12 Feb, खराब सेहत के लिए

 

खराब सेहत से छुटकारा पाने के लिए 9 दिन तक देवी मां को लाल पुष्प अर्पित करना चाहिए। इस दौरान ॐ क्रीं कालिकायै नमरू मंत्र का जाप करना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से व्यक्ति स्वस्थ होता है।

 

कर्ज से मुक्ति पाने के लिए

 

कर्ज या किसी वाद-विवाद से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इसके लिए 9 दिन तक देवी मां के सामने गुग्गल की सुगंध वाला धूप जलाएं। ऐसा करने से समस्याओं से मुक्ति मिलती है। इस दौरान ॐ दुं दुर्गाय नमरू का जाप करना चाहिए।

 

कन्या विवाह के लिए

 

अगर विवाह में कोई बाधा आ रही है तो पूरे 9 दिन पीले फूलों की माला अर्पित करनी चाहिए। इस दौरान यह मंत्र का जाप करें-
ॐ कात्यायनी महामाये, महायोगिनयधीश्वरी।
नन्दगोपसुतं देवी, पति में कुरु ते नमरू।।

Inputs – ज्योतिषाचार्य पं. नरेन्द्र कृष्ण शास्त्री

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account