हरियाणा में पचहतर पार या झूठ नहीं अबकि बार

 


नई
दिल्ली/ टीम डिजिटल। हरियाणा में विधानसभा चनाव की घंटी बजने लगी है । भाजपा राज्य में लोकसभा चुनाव में दस की दस सीटें जीतने के बाद अति उत्साहित हो रही है और मुख्यमंत्री कार्यकर्त्ताओं को सम्मानित करते समय नारा दे रहे हैं – अबकि बार पचहतर पार । वैसे लोकसभा चुनाव में कुल नब्बे में से इकहतर विधानसभा सीटों पर भाजपा को बढत मिली है । विपक्ष सिर्फ बारह सीटों पर बढत ले सका । इसलिए भाजपा का हौंसला बुलंद है । स्वाभाविक सी बात है ।
दूसरी ओर कांग्रेस अभी तक गुटबाजी में उलझी है । अशोक तंवर को बदलने की मांग को लेकर हाईकमान तक दबाब बनाया जा रहा है लेकिन अशोक तंवर हैं कि अंगद की तरह पांव जमाए हुए हैं । अभी रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी ही अध्यक्ष थे , अध्यक्ष हैं और रहेंगे । लोकसभा चुनाव के बाद से यस सस्पेंस भी खत्म हुआ । शुक्र है । अब शायद हरियाणा का सस्पेंस भी दूर हो जाए । पर्दा उठ जाए । नये अध्यक्ष के चेहरे से ।
जहां तक इनेलो की बात है तो ओमप्रकाव चौटाला ने अध्यक्ष अशोक अरोडा को मनाया नहीं बल्कि इस्तीफा मंजूर कर लिया । अब नयी कार्यकारिणी बनेगी । इस बीच फतेहाबाद के विधायक भी भाजपा ज्वाइन कर गये । इस तरह दिनप्रतिदिन इनेलो में बिखराव हो रहा है । क्या भविष्य होगा कह नहीं सकते ।
दुष्यंत चौटाला ने एक मजेदार बयान दिया है कि विधानसभा में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा इनेलो के मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी होंगे । वाह । मुंगेरीलाल के हसीन सपने ही कहे जा सकते हैं । हुड्डा एक बात समर्थकों के बीच कह रहे हैं कि झूठ बार बार नहीं चलेगा । अब भाजपा का झूठ लोग समझ गये और ठगा हौआ महसूस कर रहे हैं । विधानसभा में मोदी फैक्टर नहीं रहेगा ।
बसपा ने लोकसुरक्षा पार्टी से भी अपना गठबंधन तोड दिया । अब अकेले ही चुनाव लडेगी । सबसे दिलचस्प खबर यह कि नीतिश कुमार की पार्टी भी हरियाणा से चुनाव लडेगी । ल्यो कर ल्यो बात । अब देखते हैं कि पचहतर पार या झूठ नहीं अबका बार ?
 – कमलेश भारतीय

 

 

 

 

 

एडमिन

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account