हरियाणा की राजनीति में कितना अहम होगा 18 अगस्त ?


दीप्ति अंगरीश
पार्टी पदों से बाहर गांधी परिवार अब हरियाणा के नेताओं के दिल से भी आउट होने लगा है। कांग्रेस में आरपार की जंग लड़ रहे पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने अब गांधी परिवार का सहारा छोड़ दिया है। 18 अगस्त को रोहतक में होने वाली परिवर्तन महारैली की तैयारियों के लिए 4 अगस्त को बुलाए गए कार्यकर्ता सम्मेलन के पोस्टर्स से हुड्डा परिवार ने गांधी परिवार के तीनों सदस्यों सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को आउट कर दिया है। पोस्टर्स में सिर्फ भूपेंद्र हुड्डा और दीपेंद्र हुड्डा के फोटो हैं। हुड्डा रोहतक में नई पार्टी की घोषणा कर सकते हैं।
राजनीतिक प्रेक्षकों का कहना है कि इससे साफ है कि हुड्डा अब समझौता न करने का मन बना चुके हैं। अगर हाईकमान ने हुड्डा परिवार को संगठन में सम्मानजनक हिस्सेदारी नहीं दी तो 18 अगस्त को रोहतक में हुड्डा नई पार्टी बनाने की घोषणा कर सकते हैं।
हुड्डा चाहते हैं कि उन्हें पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह जैसी कमान मिले। मगर राहुल गांधी से छत्तीस के आंकड़े के चलते हुड्डा को प्रदेश कांग्रेस की चौधर नहीं मिल पाई। दिलचस्प बात यह भी है कि कैप्टन का भी राहुल से छत्तीस का आंकड़ा है। हुड्डा, अशोक तंवर को चौधर से बेदखल करने के लिए ही रोहतक में शक्ति प्रदर्शन करने जा रहे हैं। साथ ही पोस्टर्स से गांधी परिवार को आउट करके हुड्डा परिवार ने यह इशारा कर दिया है कि उन्हें अपनी सियासत के लिए गांधी परिवार के सहारे की जरूरत नहीं है।

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account