बरोदा : अब खुला चुनाव , किसकी दलेगी गाल ?

नई दिल्ली। आखिरकार नामांकन का दौर खत्म हुआ और टिकट देने के लिए मंथन का भी समय समाप्त हुआ । अब खुल गया चुनाव और आरोपों का , दावों का दौर शुरू । पार्टी बदल झांकी निकल चुकी । फिर भी कुछ छोटे बड़े नेता इधर उधर हो सकते हैं । कांग्रेस के दीपेंद्र हुड्डा ने यह कहा कि साधारण कार्यकर्त्ता को टिकट दिया जबकि भाजपा-जजपा गठबंधन ने फिर से योगेश्वर दत्त पर भरोसा जताया और उनका प्रचार करने आएंगी दंगल गर्ल बबिता फौगाट । संदीप सिंह भी आ सकते हैं । खेल का, दंगल का अखाड़ा असली राजनीतिक अखाड़ा बन जायेगा । देखते देखते राजनीति के खिलाड़ी मैदान में उतरते जायेंगे ।

बरोदा उप चुनाव में क्या किसान के लिए बनाए गये नये कानून भाजपा को मदद देंगें ? एक तरफ भाजपा कह रही है कि हमने किसान का भला किया । दूसरी तरफ सारा विपक्ष कह रहा है कि किसान का इससे बुरा किसी ने नहीं किया । पिपली में लाठीचार्ज क्या बरोदा में कोई गुल खिलायेगा ? राहुल गांधी को जिस तरह से हरियाणा में आने से रोकने की कोशिश हुई, क्या इसकी कोई  छाप या बात लोगों के दिल में बाकी होगी ? हाथरस कांड का कोई विरोध दिखेगा ? सुशांत केस को तो बिहार में भुनाने की कोशिश की जा रही है । उसकी चिता की आंच सुलगा कर तीन महीने से रखे हुए हैं ।

यह भी पढ़ें – www.newsharpal.in/chennai-will-now-get-a-tough-challenge-for-delhi/

बरोदा उप चुनाव में कांग्रेस और कांग्रेस के दिग्गज पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा व उनके सुपुत्र दीपेंद्र हुड्डा की साख दांव पर लगी है । भाजपा व मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की ओर से यह बड़ा दावा किया जा रहा है कि हमारा साधारण कार्यकर्त्ता भी कांग्रेस को हरा देगा । इसीलिए कांग्रेस ने जवाब में सचमुच साधारण कार्यकर्ता को ला खड़ा किया । यह सही जवाब । नहले से दहला । अब देखो किसका पहलवान अखाड़े में जीत पाता है ? इनेलो ने भी प्रत्याशी आखिरी दिन उतारा । अब खेल शुरू ।

क्या हाथरस की मनीषा बाल्मीकि की आंच हरियाणा या अन्य राज्यों के चुनावों में दिखेगी ? चुनाव में अचानक कौन सा मुद्दा छा जाये या ज़ोर पकड़ जाये । कोई कुछ नहीं कह सकता । सारे समीकरण धरे के धरे रह जाते हैं । चायवाला कहा तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहला चुनाव जीत लिया -नमो टी स्टाॅल खुलना कर देश भर में । दूसरा चुनाव मौत के सौदागर के डायलाॅग ने जिता दिया । इस लिए सोच समझ कर बोलो । नारा दो । चौकीदार चोर है किसी काम नहीं आया । पहले से भी कम रह गये सांसद और विपक्ष का नेता बनने लायक नम्बर भी नहीं जुटा पाई कांग्रेस । इसलिए सब नपा तुला होना चाहिए । नट की तरह जरा से चूके तो नीचे गिरे । बाकी नवरात्र शुरू हो गये और चुनाव में गंगाजल बांटेगा क्या ? जजपा के विधायक व हिसार निवासी जोगीराम सिहाग ने किसानों के लिए चेयरमैनी लेने से इंकार कर दिया । वाह ।।बल्ले बल्ले । सुभान अल्लाह ।

 कमलेश भारतीय, वरिष्ठ पत्रकार

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account