जो भाजपा में वो सेवादार , जो कांग्रेस में वो गद्दार

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। एक बडी मजेदार बात कही रोहतक से भाजपा विधायक और मंत्री मनीष ग्रोवर ने । उनकी टिप्पणी है कि इनेलो के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व प्रदश अध्यक्ष अशोक अरोडा ने कांग्रेस में शामिल होकर गद्दारी की है । वाह । भाजपा में इनेलो के अनेक विधायक पूर्व में शामिल हो चुके उनके बारे में क्या राय है आपकी ? वो गद्दार हैं या सेवादार ? बडा अजीब सा मामला है ।

हमारी पार्टी में कोई शामिल हो तो ताकत और दूसरी पार्टी में शामिल हो तो कोई फर्क नहीं । ऐसे कैसे ? यह कौन सा फाॅर्मूला ? अगर भाजपा में आओगे तो ताकत बन जाओगे , अगर कांग्रेस में जाओगे तो गद्दार के तगमे से नवाजे जाओगे । क्यों ? हर चुनाव से पहले राजनीतिक दलों में उठापटक होती है । नेता पाला बदलते हैं । इधर से उधर जाते हैं ।

अगर ऐन आखिरी वक्त पर अरलिंद शर्मा को टिकट नहीं मिलती तो वे कांग्रेस में वापसी की कोशिश में थे । अब बढ चढ कर बातें कर रहे हैं । इसी प्रकार चौ वीरेंद्र , राव इंद्रजीत , धर्मवीर सिंह , रमेश कौशिक कितने ही नेता कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए और मंत्री व सांसद बने हुए हैं । क्या मनीष ग्रोवर जी ये सभी गद्दार की श्रेणी में रखे जायेंगे ? क्या परिभाषा होगी गद्दार की ?

वैसे भी यह जानकारी वायरल हो रही है कि कम षे कम इस संसद में डेढ सौ सांसद ऐसे हैं जो कांग्रेस से ही आए हैं तो इतने गद्दारों के साथ केंद्र में सरकार क्यों चला रहे हो ? अभी शारदा राठौर और सुमन दहिया गद्दारी करके भाजपा में शामिल हुई हैं । ऐसी गद्दारों को टिकट दोगे ? यह सेवादारों की श्रेणी में आ गयीं ? कुछ लोग चुनावों से पहले हवा का रूख देखकर पाला बदलते ही हैं । पांच नेताओं के एक साथ कांग्रेस।में शामिल होने पर हवा बदल रही है , यह तो समझोगे कि आंख मूंद लोगे ?

  कमलेश भारतीय, वरिष्ठ  पत्रकार     

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account