प्रमुख सुर्खियाँ :

हर्बललाइफ इंडिया ने लाॅन्च किया हर्बल एलो काॅन्संट्रेट

नई दिल्ली। न्यूट्रिशन कंपनी हर्बललाइफ ने हर्बल एलो काॅन्संट्रेट लाॅन्च करने के साथ ही भारत में अपने डाइजेस्टिव हेल्थ कैटेगरी को सुदृढ़ बना रही है। इस नए लाॅन्च के साथ देश में डाइजेस्टिव हेल्थ श्रेणी में हर्बालाइफ के उत्पादों की कुल संख्या चार हो गई है – जिनमें से अन्य हैं एक्टिवेटेड फाइबर, एक्टिव फाइबर काॅम्प्लेक्स और एलो प्लस। हर्बल एलो काॅन्संट्रेट को पाचन स्वास्थ्य को सपोर्ट करने के लिए उत्तम गुणवत्ता वाले एलो वेरा के साथ तैयार किया गया है। इसे पानी के साथ मिलकार रिफ्रेषिंग ड्रिंक के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है और यह साॅफ्ट ड्रिंक्स या उच्च-षुगर वाले जूस का स्वस्थ रिप्लेसमेंट हो सकता है क्योंकि इस उत्पाद में कैलोरी काफी कम है।
हर्बल एलो काॅन्संट्रेट के लाॅन्च पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए हर्बललाइफ इंटरनेषनल इंडिया प्रा. लि. के वाइस प्रेसिडेंट और कंट्री हेड श्री अजय खन्ना ने कहा कि समग्र कल्याण के लिए प्रारंभिक बिंदु एक अच्छा और स्वस्थ पाचन होता है। असंगत पाचन स्वास्थ्य के कारण बहुत सी बीमारी का मूल कारण खराब पाचन होता है। हर्बालाइफ में हम लोगों को स्वस्थ जीवन जीने में मदद करने के अपने उद्देश्य से प्रेरित होते हैं। हर्बल एलो काॅन्संट्रेट के साथ अब हम डाइजेस्टिव हेल्थ के लिए ग्राहकों की प्राथमिकताओं के अनुरूप इस श्रेणी में उत्पादों के एक सूट की पेशकश कर रहे हैं।
ऐलो वेरा एक आम पौधा है, जो पारंपरिक रूप से घावों के उपचार और सूजन कम करने के गुणों के साथ मान्यता प्राप्त लाभों के लिए मिस्र, चाइनीज़, यूरोपीय और भारतीय संस्कृतियों में हजारों वर्शों से विभिन्न क्षेत्रों में सामयिक रूप से उपयोग किया जाता रहा है। एलो को जब दूसरे रूप में उपभोग किया जाता है तो इसके कई अतिरिक्त लाभ होते हैं। इसका उपयोग आयुर्वेद और दक्षिण अफ्रीकी दवाओं में किया जाता है। पाचन स्वास्थ्य के लिए इस पौधे को आयुर्वेद, सिद्ध, यूनानी और होम्योपैथी समेत भारतीय प्रणाली के स्वदेषी दवाओं में षामिल किया गया है।
इस उत्पाद का अधिकतम खुदरा मूल्य (एमआरपी) 2,206 रु है।

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account