चेन्नयन एफसी के खिलाफ ‘सूखे’ से चिंतित नहीं पुणे सिटी

पुणे । हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के चौथे सीजन में एफसी पुणे सिटी रविवार को पहली बार चेन्नयन एफसी से भिड़ेगी और अपने घर मे खेलते हुए चेन्नयन एफसी के खिलाफ जीत के अपने ‘सूखे’ को खत्म करना चाहेगी। एफसी पुणे सिटी के कोच रैंको पापोविक हालांकि इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि इस बार उनकी टीम चेन्नयन एफसी को हराकर ही दम लेगी। चार साल पहले शुरू हुए लीग के इतिहास में अब तक पुणे ने एक बार भी चेन्नयन को नहीं हराया है।
पुणे के पास इस दफे बीती तमाम हारों को भुलाकर नई शुरुआत करने का मौका है क्योंकि चौथे सीजन में पहली बार उसका सामना चेन्नयन एफसी से अपने ही घर में हो रहा है। पापोविक ने मैच पूर्व संध्या पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘यह एक ऐसा कारण है जो हमें प्रेरित कर रहा है।’’ बीते छह मुकाबलों में चेन्नयन एफसी ने चार मौकों प जीत हासिल की है जबकि दो मैच बराबरी पर छूटे हैं। पापोविक ने आगे कहा, ‘‘जो कुछ भूतकाल में हुआ है, वह बदल जाएगा। यही बात हमें प्रेरित कर रही है लेकिन हमारे लिए प्रेरणा का सबसे बड़ा कारण तीन अंक हैं। मैं अपने खिलाड़ियों से एक अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद कर रहा हूं। हमें अच्छा खेलना होगा।’’
एफसी पुणे सिटी का आत्मविश्वास सातवें आसमान है। पोपोविक की टीम इस मैच से पहले दो मैचों में जीत हासिल कर चुकी है और अंतिम मैच उसने अपने प्रतिद्वंद्वी मुम्बई सिटी एफसी के खिलाफ जीता है। पोपोविक की टीम गोल करने में भी इस सीजन में आगे है। उसने तीन मैचों में नौ गोल किए हैं। उसके स्टार स्ट्राइकर मार्सेलिन्हो और एमिलियानो एल्फारो लगातार गोल कर रहे हैं। चेन्नयन एफसी के कोच जॉन ग्रेगरी को मार्सेलिन्हो और एल्फारो से होने वाले खतरे का अंदाजा है। अपने पहले मैच में एफसी गोवा के हाथों 2-3 से हारने के बाद चेन्नई की टीम ने लय पकड़ ली है और कोच मानते हैं कि अगर उनकी रक्षापंक्ति ने अच्छा खेल दिखाया तो वह लय बरकरार रख सकेंगे। ग्रेगोरी ने कहा, ‘‘हमें पुणे के खिलाफ अपना श्रेष्ठ खेल दिखाना होगा। बीते कुछ मैचों में पुणे के दो लड़कों ने काफी सुर्खियां बटोरी हैं। मार्सेलिन्हो और एल्फारो शानदार खेल रहे हैं। इन दोनों ने आपसी साझेदारी से कई गोल किए हैं और इन सब बातों पर रोक लगाने के लिए हमें निश्चित तौर पर अपना श्रेष्ठ खेल दिखना होगा।’’
यह पूछे जाने पर पुणे को बीते छह दिनों में तीन मैच खेलने पड़े हैं और इसका उनके खेल पर कोई असर पड़ेगा और क्या इसका चेन्नई को कोई फायदा मिलेगा, ग्रेगोरी ने इस पूरी तरह नकार दिया। ग्रेगोरी ने कहा, ‘‘पुणे की टीम काफी अच्छा खेल रही है। मैच जब होता है तो खिलाड़ी तैयार होते हैं। अगर आप जीत रहे हैं, लगातार गोल कर रहे तो फिर आप अगली सुबह भी खेलने के लिए तैयार रहेंगे। मेरी नजर में इन सब बातों का कोई मतलब नहीं।’’

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account