राज कपूर की बेटी से राजीव का ब्याह कराना चाहती थीं इंदिरा गांधी

नई दिल्ली। राजनीति में प्रभावशाली गांधी-नेहरू परिवार और फिल्मी दुनिया के दिग्गज कपूर परिवार की करीबी जगजाहिर है, मगर यह कम ही लोगों को पता होगा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी अपने बड़े बेटे राजीव गांधी की शादी जानेमाने अभिनेता दिवंगत राज कपूर की बेटी से कराना चाहती थीं। पत्रकार रशीद किदवई ने अपनी किताब ‘नेता अभिनेता: बॉलीवुड स्टार पॉवर इन इंडियन पॉलिटिक्स’ में लिखा है कि देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और दिग्गज अभिनेता रहे पृथ्वीराज कपूर के बीच गहरी दोस्ती थी और इंदिरा के मन में भी कपूर परिवार के लिए बहुत आदर एवं सम्मान था।

किताब के मुताबिक, इंदिरा चाहती थीं कि दोनों परिवारों के बीच का रिश्ता दोस्ती से आगे बढ़े और इसलिए उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की शादी राज कपूर की बड़ी बेटी ऋतु से कराने की सोची। अपनी किताब में रशीद लिखते हैं, ‘‘ऐसा नहीं है कि इंदिरा गांधी को बॉलीवुड से जुड़ी बहू की तलाश थी या ‘स्टार’ जैसी चीज से उन्हें कोई लगाव था। उनके दिल में कपूर परिवार के लिए सम्मान और आदर था।’’ हालांकि, राज कपूर की बेटी से राजीव गांधी की शादी कराने की इंदिरा गांधी की चाहत पूरी नहीं हो पाई। राजीव जब पढ़ाई के सिलसिले में ब्रिटेन की कैंब्रिज यूनिवर्सिटी गए तो वहां उनकी मुलाकात सोनिया मायनो (अब सोनिया गांधी) से हुई, दोनों में प्यार हुआ और फिर उन्होंने 1968 में शादी कर ली।  रशीद ने अपनी किताब में यह भी बताया है कि राज कपूर की पोती और बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा करीना कपूर ने 2002 में राहुल गांधी को अपनी पसंद बताया था। उन्होंने यह भी लिखा कि कथित तौर पर राहुल भी करीना की फिल्में ‘पहले दिन, पहला शो’ देखने में दिलचस्पी रखते थे।

‘रोंदेवू विद सिमी गरेवाल’ नाम के टीवी शो में जब करीना से पूछा गया था कि किसी ऐसे शख्स का नाम बताएं जिन्हें वह ‘डेट’ करना चाहेंगी। इस पर करीना ने जवाब दिया था, ‘‘मैं कह दूं? मुझे नहीं पता कहना चाहिए कि नहीं….यह विवादित है…राहुल गांधी….मुझे उन्हें जानने-समझने में कोई दिक्कत नहीं है। मैंने उनकी तस्वीरें देखी हैं…और सोचा है कि उन्हें जानना-समझना कैसा रहेगा। मैं फिल्मी खानदान से आती हूं। वह राजनीतिक खानदान से हैं। तो शायद हमारे बीच दिलचस्प बातचीत हो।’’

हालांकि, 2009 में करीना अपने इस बयान से पलट गईं और जब उनसे राहुल के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘वो बहुत पुरानी बात है। मैंने ऐसा इसलिए कहा था क्योंकि हम दोनों के सरनेम मशहूर हैं। मैं किसी दिन उनकी मेजबानी करना चाहूंगी। उन्हें प्रधानमंत्री के तौर पर देखना चाहूंगी। लेकिन निश्चित तौर पर मैं उन्हें ‘डेट’ नहीं करना चाहती।’’

पत्रकार-लेखिका मधु जैन की किताब ‘दि कपूर्स: दि फर्स्ट फैमिली ऑफ इंडियन सिनेमा’ और राज कपूर की बेटी ऋतु की किताब ‘राज कपूर स्पीक्स’ का हवाला देते हुए रशीद ने ‘नेता अभिनेता’ में एक और दिलचस्प वाकये का जिक्र किया है। उन्होंने लिखा कि राज कपूर की फिल्म ‘आवारा’ रिलीज होने के बाद जब देश-विदेश में सुपरहिट हुई तो एक बार नेहरू ने पृथ्वीराज कपूर से पूछा, ‘‘भई ये ‘वैगाबॉंड’ (आवारा) क्या है जो तुम्हारे बेटे ने बनाई है? जब मैं स्टालिन से मिला तो वो पूरे समय इसी के बारे में बातें कर रहा था।’’

गौरतलब है कि जोसेफ स्टालिन सोवियत संघ के तानाशाह थे। ‘हैचेट इंडिया’ द्वारा प्रकाशित अपनी किताब में रशीद ने बॉलीवुड सितारों और सियासी दुनिया के करीबी रिश्तों के कई किस्से को दिलचस्प अंदाज में बयान किया है।

एडमिन

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account