प्रमुख सुर्खियाँ :

सदाचार के मार्ग पर चलने को प्रेरित करता है जन्माष्टमी का पर्व : अनूपम चौकसे

नई दिल्ली। इंटीग्रेटेड चैबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के एजुकेशन कमेटी के चेयरमैन अनूपम चौकससे ने कहा कि ने जन्माष्टमी पर्व पर देशवासियों को बधाई देते हुए कहा कि कहा कि यह पर्व हमें सदाचार के मार्ग पर चलने को प्रेरित करता है एवं कर्म के महत्ता को बताता है। अनूपम चौकसे ने कहा कि श्रीकृष्ण सदा धर्म का साथ दिया एवं यह बार बार याद दिलाया कि सही रास्ते का चुनाव कर ही हम सफल हो सकते हैं। जिसका जीवन में महत्व है।

अनूपम चौकसे ने कहा कि यह पर्व संपूर्ण विश्व के लिए आनंद मंगल का संदेश देता है। श्री कृष्ण के दिए गए संदेश के सार को समझने की आवश्यकता है। भगवान कृष्ण के जीवन का साफ संदेश है निष्काम कर्म। यह पर्व हमें मन वचन और कर्म से शील और सदाचार के मार्ग पर चलने की प्रेरणा देता है। श्रीकृष्ण ने द्वापर युग में जब दुष्ट राक्षसों का भार बढ़ गया तो भगवान विष्णु ने आठवां अवतार लिया था। भगवान विष्णु का यह अवतार इस बात का प्रतीक है कि अधर्म पर हमेशा धर्म की ही विजय होती है। कृष्ण का जीवन यह याद दिलाता है कि आपको जीवन में हमेशा सही रास्ते का ही चुनाव करना चाहिए। शांति, प्रेम और सच्चाई के रास्ते पर ही चलना चाहिए।

अनूपम चौकसे ने कहा कि श्रीकृष्ण ने अपने अनुयायियों को जीवनभर प्रेरित किया यही कारण है कि इनके अनुयायी ना केवल भारत में बल्कि पूरे विश्व में मौजूद हैं। आईसीसीआई के एजुकेशन कमेटी के चेयरमैन ने कहा कि आज के समय में श्री कृष्ण के दिए गए उपदेश ज्यादा प्रासंगिक हो गए हैं जिससे पूरे विश्व में शांति का संदेश को फैलाया जा सके। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिन के रूप में हमलोग मनाते हैं। यह पर्व हमें एक साथ कई संदेश दे जाता है। विश्व में मंगल कामना का संदेश भी इस पर्व से जाता है। पूरे विश्व में श्रीकृष्ण के अनुयायी हैं। जो शांति का संदेश फैला रहे हैं।

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account