कांग्रेस ने जीता चुनाव, मोदी के लिए खतरे की घंटी

भोपाल। बीजेपी का गढ़ कहे जाने वाले मध्य प्रदेश के नगरीय निकाय चुनावों के नतीजे घोषित हुए। यहां कांग्रेस ने बीजेपी को बराबर की टक्कर दी। 19 नगरीय निकायों में अध्यक्ष पद पर 9 भाजपा और 9 कांग्रेस के प्रत्याशी जीते। वहीं एक स्थान पर निर्दलीय प्रत्याशी ने बाजी मारी। इस चुनाव नतीजों में सबसे बड़ी जीत धार की पीथमपुर नगर पालिका में भाजपा उम्मीदवार कविता वैष्णव की रही, जिसमें उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी को 22 हजार से ज्यादा मतों के अंतर से पराजित किया। निकाय चुनाव में अपेक्षा के अनुरूप बीजेपी का प्रदर्शन नहीं रहने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, पार्टी में बगावत की वजह से हमारा प्रदर्शन प्रभावित हुआ। धार, धरमपुरी और मनावर में बागी उम्मीदवारों की वजह से ही बीजेपी प्रत्याशियों को हार का सामना करना पड़ा है। मेरे अलावा पार्टी के नेता यदि बागियों को यह चुनाव लड़ने से रोक सकते, तो शायद परिणाम पार्टी के हक में हो सकते थे।
वहीं, धार के सरदारपुर में कांग्रेस उम्मीदवार महेश 1065 मतों के अंतर से जीते, यह जीतने वाले उम्मीदवार का सबसे कम अंतर है। मतगणना के बाद 19 नगरीय निकायों में पार्षद पद के लिए भाजपा के 194, कांग्रेस के 145 और 13 निर्दलीय प्रत्याशी विजयी घोषित किए गए हैं। इसके साथ ही सरपंचों के 90 आम निर्वाचन और 73 उपनिर्वाचन के परिणाम भी घोषित किए गए हैं। जिला पंचायत सदस्य के तीन और जनपद पंचायत सदस्य के 15 सदस्यों के उपनिर्वाचन के परिणाम भी घोषित किए गए हैं।
कांग्रेस साल 2003 के बाद पहली बार यानी पिछले 14 सालों में पहली बार इन चार म्युनिसिपैलिटीज को बीजेपी से छीनने में कामयाब रही। कांग्रेस ने धार, बारवानी, राघोगढ़ और मनावर म्युनिसिपैलिटीज बीजेपी से झटकी। बीजेपी केवल सेंधवा और पीथमपुर में ही जीत सकी। वहीं 13 नगर परिषदों में सात पर बीजेपी ने जीत हासिल की और पांच पर कांग्रेस ने।

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account