नाग पंचमी पर्व पर महाकाल के दरबार में उमड़ी भक्तों की भीड़


भोपाल/ उज्जैन। श्रावस मास के तीसरे सोमवार को नाग पंचमी का पर्व एक साथ होने से सुबह से भगवान भोलेनाथ के मंदिरों में सुबह से भक्तों की भारी भीड़ उमड़ रही है। नाग पंचमी और श्रावण सोमवार का त्योहार एक साथ होने से मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना की गई। भांग, धतूरे और दूध से भगवान महादेव शिव का अभिषेक कर भक्त अपने अराध्य को प्रसन्न करने में जुटे हैं। भोपाल के पास भोजपुर शिव मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने के लिए पहुंच रहे हैं।

नागपंचमी के चलते देश के कोने-कोने से भक्त न सिर्फ भगवान महाकाल के दर्शन के लिए पहुंचे हैं, बल्कि साल में एक बार नागपंचमी के दिन खुलने वाले भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन को लेकर भी भक्तों में जबरदस्त उत्साह है। बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन में सावन के तीसरे सोमवार के महाकालेश्वर मंदिर में बाबा महाकाल के दर्शन करने के लिए रविवार रात से ही भक्तों की कई किलोमीटर लंबी कतारें लगी हुई हैं।

सोमवार तड़के भगवान महाकालेश्वर का पूरे विधि-विधान से पंचामृत अभिषेक किया गया। इसके बाद पंडे-पुजारियों ने भगवान महाकाल की भस्मारती की। महाकालेश्वर मंदिर के गर्भगृह के पट रात ढाई बजे खोल दिए गए थे। जिसके बाद श्रद्धालुओं ने महाकाल को जल चढ़ाया। मंदिर के पुजारियों ने दूध, दही, पंचामृत, घी, शहर और फलों के रस से महाकाल का अभिषेक किया। भगवान महाकालेश्वर का नागचंद्रेश्वर रूप में श्रृंगार किया गया। जिसके बाद पुजारियों ने विधि-विधान से महाकालेश्वर की भस्म आरती की। इस दौरान पूरा मंदिर महाकाल की भक्तिमय हो गया। इसके बाद भक्तों के दर्शन का सिलसिला शुरू हुआ, जो देर रात तक जारी रहेगा।

एडमिन

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account