नूज़ीलैण्ड में स्वागत है

नई दिल्ली। न्यूजीलैंड उन चुनिंदा जगहों में से एक है, जहां नए दिन की पहली किरण सबसे पहले पड़ती है। इस तथ्य से प्रेरित होकर टूरिज्म न्यूजीलैंड ने ‘100% प्योर वेलकम – 100% प्योर न्यूजीलैंड’ के तहत प्रचार सामग्रियों की एक श्रृंखला जारी की है। इसमें स्थानीय लोग आगंतुकों को देशभर में उनकी पसंदीदा जगहों से ‘गुड मॉर्निंग वर्ल्ड’ के संदेश देते नजर आते हैं। अभियान दिखाता है कि कैसे गर्मजोशी से भरपूर दोस्ताना लोग, हैरान कर देने परिदृश्य और शामिल होने के लिए ढेर सारी तरह-तरह की गतिविधियां न्यूजीलैंड को एक अनूठा अवकाश गंतव्य बनाती हैं।

 

टूरिज्म इंडस्ट्री पार्टनरशिप की शुरुआत मूलत: नवंबर 2014 में हुई थी। पहले साल में यह केवल इंसेंटिव वीजा के लिए मान्य थी, तब कुल 876 आवेदनों पर कार्रवाई की गई थी। पिछले साल, जून 2018-जुलाई 2019 की अवधि के दौरान इस गठबंधन के तहत 5,000 से अधिक (5,492) आवेदनों (जिनमें इंसेंटिव और अवकाश वीजा शामिल थे) को संसाधित किया गया। पहले वर्ष की तुलना में यह 627% की सकारात्मक वृद्धि है।

 

टूरिज्म न्यूजीलैंड की रीजनल कंज्यूमर मार्केटिंग मैनेजर (एशिया) सुश्री वेनेसा चेन कहती हैं, “वैश्विक ब्रांड मार्केटिंग पहल के एक हिस्से के रूप में ‘गुड मॉर्निंग वर्ल्ड’ सामग्री श्रृंखला का उद्देश्य अद्‌भुत दृश्यावलियों और उन गतिविधियों के बारे में बताना है जिनका आगंतुक आनंद ले सकते हैं। हमने दुनिया के लिए अपने दिल और घर के दरवाजे खोल रखे हैं। हम भारतीय यात्रियों को हमारे देश की यात्रा के लिए प्रोत्साहित करना चाहते हैं।”

टूरिज्म न्यूजीलैंड के रीजनल ट्रेड मार्केटिंग मैनेजर (एशिया) श्री स्टीवन डिक्सॅन ने कहा, “पिछले पांच वर्षों में हमारी मौजूदा साझेदारी की सफलता के आधार पर इस कार्यक्रम का विस्तार किया गया है। हम कुलिन कुमार हॉलीडेज प्रा.लि., एसओटीसी ट्रैवल और थॉमस कुक इंडिया के साथ अपने निरंतर जारी सहयोग के लिए कृतज्ञ हैं और हम फ्लेमिंगो ट्रांसवर्ल्ड प्रा.लि., केसरी टूर्स प्रा.लि. तथा वीणा वर्ल्ड को जोड़ते हुए और भी ढेर सारे हिंदुस्तानी पर्यटकों के स्वागत के लिए उत्सुक हैं। तीन नए पार्टनर्स के चलते अब भारतीय आगंतुकों को पूरे भारत में 60 अतिरिक्त स्थानों पर शीघ्रता से विजिटर वीजा प्रोसेसिंग की सुविधा मिल सकती है।”

 

 

 

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account