मोहन सपरा : कविता लिखकर ॠणमुक्त महसूस करता हूं


नई दिल्ली/ टीम डिजिटल।  कविता लिखकर मैं खुद को ऋणमुक्त महसूस करता हूं । कविता लेखन मेरी मजबूरी भी और सहज प्रक्रिया भी । नये नये प्रयोग कर पाता हूं कविता के माध्यम से । यह कहना है कवि , प्राध्यापक और फ्रकाशक मोहन सपरा का । मूल रूप से हरियाणा के सिरसा के निवासी मोहन सपरा ने बीए यहीं से की और एम ए हिंदी जालंधर के लायलपुर खालसा काॅलेज में डाॅ चंद्रशेखर के पास । उनके प्रिय शिष्यों में एक रहे । बाद में नकोदर के डी ए वी काॅलेज में हिंदी के प्राध्यापक हो गये और बत्तीस साल बाद सेवानिवृत होकर जालंधर आ बसे । प्रकाशन का शौक प्राध्यापक रहते ही था । अब यह इनका व्यवसाय बन गया । पत्नी संदीपिका सपरा लगातार कंधे से कंधा मिलाकर प्रकाशन में सहयोग कर रही हैं । गुरु द्रोणाचार्य की तरह इनके एक छात्र राजेंद्र चुघ आकाशवाणी पर मुख्य समाचार वाचक रहे तो रमेंद्र जाखू हरियाणा के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी के रूप में सेवानिवृत हुए हैं ।
– कविता लिखने का कारण ?
– कोई कारण नहीं । बस । स्वाभाविक प्रक्रिया । सहजता से अपनेआप कोअभिव्यक्त कर पाता हूं । यह मेरी मजबूरी भी ।कविता लिखे बिना रह नहीं पाता । लोगों तक अपनी बात पहुंचाने का माध्यम है कविता मेरे लिए ।
– आपके प्रिय कवि कौन ?
– ऐसा तो कुछ नहीं । नौवीं कक्षा में था जब लिखने लगा । काॅलेज में गंभीरता से लेखन में जुट गया ।  कभी डाॅ हुकुमचंद राजपाल ने मुझे पंजाब का धूमिल कहा था । मेरा सौभाग्य । मुझे शुरू शुरू में जगदीश चतुर्वेदी अच्छे लगते थे । पंजाबी कवि मिंदर और मोहनजीत भी ।
– प्रकाशकों को लेखकों का शोषण करने वाला क्यों कहते हैं ?
– मैं उस श्रेणी में नहीं आता । खुद एक समय उपेंद्रनाथ अश्क जी के शोषण का शिकार हुआ । क्या कहूं ? वैसे यह बात काफी हद तक सही है । बडे बडे प्रकाशक इसके लिए बदनाम हैं । पुस्तकें बिकती भी कम हैं और प्रकाशक सिर्फ बाजार तलाशते हैं ।
– पंजाब में हिंदी लेखन की स्थिति ?
– बहुत बढिया है । खूब लिख रहे हैं लोग । यह सोचने के आधार पर है कि कौन किस एंगल से सोचता है ।
– पत्रिका जनश्री निकालने का आधार?
– संपादन प्रकाशन का शौक है । व्यावसायिक पत्रिकाएं बंद हो जाती हैं । वैसे पत्रिकाओं की बहार है । अच्छी पत्रिका निकालने में रूचि । जल्द प्रकाशन शुरू होगा ।
– मुख्य पुरस्कार ?
– पंजाब का शिरोमणि साहित्यकार पुरस्कार । हरियाणा साहित्य अकादमी का पुरस्कार । पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा सम्मानित । इस समेत अनेक पुरस्कार ।
– चर्चित काव्य संग्रह ?
– रक्तबीज आदमी है । नवीनतम । कीडे सबसे पहला । वक्त की साजिश के खिलाफ । आदमी जिंदा है आदि । प्रेम कविताओं का संग्रह भी ।
हमारी शुभकामनाएं मोहन सपरा को ।

कमलेश भारतीय, पत्रकार 

एडमिन

leave a comment

Create Account



Log In Your Account