प्रमुख सुर्खियाँ :

Rajasthan News : इन्वेस्ट राजस्थान 2022 – दिल्ली में रोडशो का सफल आयोजन

नई दिल्ली। आगामी जनवरी में प्रस्तावित राजस्थान सरकार द्वारा आयोजित इन्वेस्टर्स समिट – ‘इन्वेस्ट राजस्थान 2022’ का प्रथम स्थानीय रोडशो दिल्ली में आयोजित हुआ। राजस्थान सरकार रु 68,698 करोड़ के सहमति पत्र (एम्ओयू) तथा रु 10,099 करोड़ के आशय पत्र (एलओआई) हस्ताक्षरित करवाने में सफल रही। यह निवेश राज्य के घीलोठ, भिवाड़ी, नीमराना, जयपुर, उदयपुर, अलवर एवं कई अन्य जिलों में स्थापित इकाइयों में प्रस्तावित है। यहाँ रीको द्वारा गत वर्षो में विशिष्ट सेक्टोरल ज़ोन विकसित किये गए है।

राजस्थान सरकार के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री श्रीमती शकुंतला रावत ने कहा की, ” राज्य सरकार ने नीति नियामक तंत्र का सृजन कर औद्योगिक विकास को गति दी है । RIPS 2019 प्रोत्साहन योजना, एमइसएमइ अधिनियम, एकल खिड़की योजना (सिंगल विंडो सिस्टम) एवं वन स्टॉप शॉप (OSS) हमारी वह पहल है जिन्होंने निवेश की प्रक्रिया को सहज व् सरल बनाया है।”

विशेष तौर पर कुछ अग्रणी निवेश समूहों ने प्रदेश में वृहद परियोजनाएँ स्थापित करने की मंशा जताई है, जैसे की रिन्यू पावर ने राज्य के विभिन्न जिलों में रु 50,000 करोड़ का निवेश अक्षय ऊर्जा एवं सोलर मॉड्यूल विनिर्माण हेतु प्रस्तावित किया है; जे. के. लक्ष्मी ने नागौर, उदयपुर एवं अलवर में रु 4250 करोड़ का निवेश सीमेंट उत्पादन तथा लाइम स्टोन उत्खनन में प्रस्तावित किया है; वहीँ लेन्सकार्ट ने भिवाड़ी में रु 400 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव रखा है; डाइकिन एयरकंडिशनिंग ने रु 294 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव; ओकाया ईवी ने रु 121.36 करोड़ के निवेश से नीमराना में इलेक्ट्रिक टू-थ्री व्हीलर के उत्पादन एवं एसेंबलिंग इकाई प्रस्तावित की है।

राजस्थान सरकार के प्रमुख आवासीय आयुक्त व अतिरिक्त मुख्य सचिव समन्वय, सुश्री शुभ्रा सिंह ने कहा की, “राजस्थान क्षेत्रफल की दृष्टि से देश का विशालतम राज्य है तथा खनिज व् अन्य प्राकृतिक संपदा से परिपूर्ण है। पिछले कुछ वर्षों में राज्य में एक सुदृढ़ नीति एवं आधारभूत सुविधा तंत्र विकसित किया गया है जो की औद्योगिक विकास का कारक बन गया है। राजस्थान निवेशकों का पसंदीदा राज्य बन गया है क्योंकि यहाँ इज़ ऑफ़ डूइंग बिज़नेस एवं निवेश सहयोगी नीतिओं का निर्माण किया गया है। ”

इन्वेस्ट राजस्थान रोड शो एक तरह से अनूठा आयोजन है, क्योंकि यह कोरोना महामारी के बाद प्रथम ऐसा आयोजन है जिसमें इन्वेस्ट राजस्थान 2022 से पहले विभिन्न जिलों और राज्यों में 28 और रोड शो आयोजित किए जा रहे हैं।

निवेश अनुकूल नीतियों के कारण राजस्थान कई बड़े औद्योगिक घरानों, कॉर्पोरेट समूहों और उत्पादन इकायों का स्थल बन गया है, जिन्होंने रीको द्वारा 49000+ एकड़ भूमि पर विकसित 350 विशाल औद्योगिक क्षेत्रों में अपनी इकाइयाँ स्थापित की है। रीको के औद्योगिक क्षेत्रों में 40,000+ इकाइयाँ कार्यरत है एवं लगभग 150 और औद्योगिक क्षेत्रों का विकास हो रहा है। राज्य का लगभग 58% क्षेत्र डीएमआईसी के प्रभाव क्षेत्र में पड़ता है, इसके अतिरिक्त नयी गैस ग्रीड परियोजना 1730 किमी तक फैली हुई है। राज्य में 3 इस ई ज़ेड (स्पेशल इकनोमिक ज़ोन) तथा 9 आईसीडी (इन-लैंड कंटेनर डेपो) कार्यरत है जो औद्योगिकी विकास को सुदृढ़ कर रहे है।

दिल्ली रोडशो का नेतृत्व श्रीमती शकुंतला रावत, माननीय उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री – राजस्थान सरकार; सुश्री शुभ्रा सिंह – प्रमुख आवासीय आयुक्त व अतिरिक्त मुख्य सचिव समन्वय; श्री आशुतोष ए टी पेडणेकर – सचिव उद्योग व प्रबंध निदेशक रीको;, सुश्री अर्चना सिंह – आयुक्त उद्योग व निवेश संवर्धन ब्यूरो, राजस्थान सरकार तथा श्री धीरज श्रीवास्तव – आयुक्त राजस्थान फाउंडेशन द्वारा किया गया।

श्री माधव सिंघानियां – उप प्रबंध निदेशक व सीईओ – जे के सीमेंट; श्री गौरव रूंगटा – प्रबंध निदेशक – मान स्ट्रक्चरल्स तथा श्री मयंक बंसल – मुख्य वाणिज्यिक अधिकारी – रिन्यू पावर ने अपनी परियोजनाओं के विषय में बताया एवं राजस्थान में निवेश करने के अपने अनुभव साझा किये। श्री कंवलजीत जावा – अध्यक्ष सीआईआई दिल्ली स्टेट कॉउंसिल व सीएमडी डाइकिन ऐरकंडीशनिंग इंडिया तथा श्री संजय साबू – अध्यक्ष सीआईआई राजस्थान एवं प्रबंध निदेशक वेंकटेश्वरा वायर्स ने क्रमशः स्वागत टिपण्णी दी और कार्यक्रम का परिचालन किया।

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account