प्रमुख सुर्खियाँ :

राजधानी मैराथन 5 नवंबर को दिल्ली में

 

नई दिल्ली। स्वास्थ्य और स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए दिल्लीवासियों को जागरूक करने के लिए राजधानी मैराथन लीग रविवार 5 नवंबर को मैराथन दौड़ का आयोजन करेगी। राजघाट स्थित गांधी दर्शन के प्रांगण में दिल्ली के धावक और धाविकाएं अपना दमखम दिखाएंगे।
इस मैराथन लीग का आयोजन राजधानी मैराथन लीग और गांधी स्मृति एवं दर्शन समिति के सौजन्य से होगा।
राजधानी मैराथन लीग के चीफ पैट्रन डॉक्टर अखिल भार्गव ने बताया कि इस मैराथन लीग का मकसद है स्वच्छ भारत के लिए काम करें और स्वस्थ रहने के लिए व्यायाम करें। उन्होंने यह भी बताया कि यह मैराथन लीग तीसरी बार आयोजित करने जा रहे हैं। इस बार मैराथन दौड़ में 3000 से अधिक लोगों के जुटने की संभावना है। मैराथन की शुरुआत रविवार 5 नवंबर को सुबह 6.30 बजे से होगी और 10 बजे तक चलेगी। मैराथन में 21 किलोमीटर की दौड़ जो सिर्फ पुरुषों के लिए होगी, जिसमें 18 वर्ष से अधिक उम्र के प्रतिभागी शिरकत कर सकेंगे। 10 किलोमीटर की दौड़ में पुरुष और महिलाएं शामिल होंगी। रन फॉर फन के लिए 5 किलोमीटर की प्रतियोगिता रखी गई है। वहीं फैमिली रन 3 किलोमीटर की होगी।
गौरतलब है कि इस राजधानी मैराथन लीग में जीतने वाले प्रतिभागियों को इनाम से भी नवाजा जाएगा। 21 किलोमीटर में प्रथम स्थान पर रहने वाले को 50 हजार, दूसरे स्थान पर रहने वाले को 25 हजार और तीसरे स्थान पर रहने वाले को 15 हजार रुपये की राशि दी जाएगी। 10 किलोमीटर की रेस जीतने वाले को 20 हजार रुपये, दूसरे स्थान पर रहने वाले को 10 हजार और तीसर स्थान पर रहने वाले को को 5 हजार रुपये की राशि इनाम स्वरूप दी जाएगी।
यह पूछने पर कि धावकों के लिए रजिस्ट्रेशन की क्या फीस रखी गई है। डॉ. भार्गव ने कहा, 21 किलोमीटर की मैराथन के लिए 1200 रुपये, 10.5 किलोमीटर की दौड़ के लिए 800 रुपये, 5 किलोमीटर की दौड़ के लिए 400 रुपये और 3 किलोमीटर की दौड़ के लिए 300 रुपये लिए जाएंगे।
क्या यह राशि ज्यादा नहीं है? इस सवाल पर डॉ. भार्गव ने कहा, ‘हमारे पास प्रायोजकों की कमी है और इस रजिस्ट्रेशन फीस के जरिए कुल खर्च का महज 25 प्रतिशत धन ही आता है। पिछली बार 18 से 20 लाख रुपये खर्च हुए थे। हम स्कूलोें के बच्चों और कुछ एनजीओं के बच्चों को मुफ्त दौड़ने के लिए बुला रहे हैं। अगर कोई बच्चा 45 मिनट तक प्रतिदिन दौड़ता है और व्यायाम करता है तो उसके शरीर को लाभ पहुंंचता है और उसकी याद करने की क्षमता भी बढ़ती है। इसका लाभ उसे पढ़ाई में भी मिलता है।’
डॉ. भार्गव का मानना है कि बिना अच्छी सेहत के कुछ भी संभव नहीं है। आपने सबकुछ हासिल कर लिया लेकिन शरीर ही स्वस्थ नहीं रख पाए तो उस उपलब्धि का क्या फायदा। इसलिए इस अनमोल जीवन में एक अनमोल स्वस्थ शरीर साथ रहना जरूरी है। हमारा मकसद है लोगों को स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने के लिए जागरूक करना इसी के मद्देनजर हम राजधानी मैराथन लीग का आयोजन कर रहे हैं। उन्होंने माना कि उम्र की समस्या जरूर रहती है। बच्चे अपनी उम्र कम करके दौड़ते हैं। यह बड़ी समस्या है। हमें इससे पार पाना होगा।

 

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account