प्रमुख सुर्खियाँ :

गन्ना किसानों को 8 हजार करोड़ के राहत पैकेज को मंजूरी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने गन्ना किसानों की मदद के लिए 8 हजार करोड़ से ज्यादा के पैकेज को हरी झंडी दे दी है। बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में सरकार ने शुगर सेक्टर के राहत पैकेज को मंजूरी दी है। इसके साथ ही खबर हैं कि मिल से निकलने वाली चीनी का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी 30 रुपये किलो तय किया गया है। साथ ही करीब 30 लाख टन चीनी का बफर स्टॉक बनाने की भी तैयारी है। बता दें कि चीनी मिलों पर 22 हजार करोड़ रुपये बकाया हैं, अकेले उत्तर प्रदेश में ही करीब 13 हजार करोड़ रुपये किसानों के बकाया हैं।
चीनी मिलें गन्ना उत्पादकों का भुगतान करने में असमर्थ हैं क्योंकि चीनी उत्पादन वर्ष 2017-18 (अक्टूबर-सितंबर) में अब तक 3.16 करोड़ टन के रिकॉर्ड उत्पादन के बाद चीनी कीमतों में तेज गिरावट आने से उनकी वित्तीय हालत कमजोर बनी हुई है। देश के सबसे बड़ी गन्ना उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश में ही किसानों का अकेले 13,000 करोड़ रुपये से अधिक का गन्ना बकाया है। वर्तमान में चीनी की औसत एक्स-मिल कीमत 25.60 से 26.22 रुपये प्रति किलो की सीमा में है, जो उनकी उत्पादन लागत से कम है। केंद्र ने चीनी आयात शुल्क को दोगुना कर 100 फीसदी तक बढ़ा दिया है और घरेलू कीमतों में गिरावट को रोकने के लिए निर्यात शुल्क को खत्म कर दिया है। उसने चीनी मिलों से 20 लाख टन चीनी निर्यात करने को भी कहा है।

एडमिन

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account