प्रमुख सुर्खियाँ :

वाराणसी के जवाहर नवोदय विद्यालय में हुआ ‘सैमसंग स्मार्ट स्कूल’ का उद्घाटन

 

वाराणसी। सैमसंग ने अपना फ्लैगशिप वैश्विक नागरिकता कार्यक्रम सैमसंग स्मार्ट स्कूल शुरू किया। वाराणसी के जवाहर नवोदय विद्यालय (JNV) से शुरू किया गया यह कार्यक्रम छात्रों को डिजिटल लर्निंग के अवसर प्रदान करेगा और साथ ही उनकी सीखने की क्षमताओं को भी सुधारेगा। स्कूल के शिक्षकों के इंटरैक्टिव शिक्षण के तरीकों को उन्नत बनाने के लिए सैमसंग उन्हें प्रशिक्षित भी करेगी।

सैमसंग स्मार्ट स्कूल कार्यक्रम का लक्ष्य भारत के आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को डिजिटल शिक्षा और उन्हें अपने‘टुगेदर फॉर टुमॉरो! इनेबलिंग पीपुल’ (भविष्य के लिए साझेदारी! लोगों का सशक्तीकरण) विजन के तहत विकसित ट्रांसफॉर्मेटिव इनोवेशंस के फायदे उपलब्ध करा कर भविष्य के लिए युवा नेतृत्व तैयार करना है। कार्यक्रम के तहतJNV वाराणसी के छात्र सैमसंग द्वारा स्कूल में स्थापित दो स्मार्ट क्लासरूम में डिजिटल शिक्षण केआधुनिकतम बुनियादी ढांचे का लाभ उठा सकेंगे।

कक्षा में, पारंपरिक ब्लैकबोर्ड की जगह 85-इंच का सैमसंग फ्लिप इंटरैक्टिव डिजिटल बोर्ड होगा, जो छात्रों के लिए पढ़ाई के माहौल को रोचक और मजेदार बना देगा। छात्र दूसरे सैमसंग फ्लिप (55-इंच) का उपयोग लेक्चर, प्रश्नोत्तरी, क्लास वर्क और प्रोजेक्ट वर्क में हिस्सा लेने के लिए कर सकेंगे, और स्वाध्याय के लिए हर कक्षा में मौजूद 40 गैलेक्सी टैब का इस्तेमाल कर सकेंगे। साथ ही, कक्षाओं में एक प्रिंटर, एक सर्वर PC, एक टैबलेट चार्जिंग स्टेशन, और पावर बैकअप होगा।

JNVवाराणसी के छात्रों के साथ आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान वाराणसी के जिलाधिकारी और JNV के पूर्व छात्र श्री कौशल राज शर्मा, नवोदय विद्यालय समिति क्षेत्रीयकार्यालय, वाराणसीके उपायुक्तश्रीएसकेमहेश्वरी, सैमसंग इंडिया के उप प्रबंध निदेशक श्री पीटर री, सैमसंग इंडिया के कॉरपोरेट सिटिजनशिप वाइस प्रेसिडेंट श्री पार्थो घोष और जवाहर नवोदय विद्यालय, वाराणसी के प्राचार्य श्री पी के सिंह ने नए सैमसंग स्मार्ट स्कूल का उद्घाटन किया।

जवाहर नवोदय विद्यालय, वाराणसी के प्राचार्य श्री पी के सिंह ने कहा,“वाराणसी के दूर-दराज के इलाकों में छात्रों को डिजिटल शिक्षण में समर्थ बनाने के लिए सैमसंग द्वारा किए गए प्रयासों को देख कर हमें बहुत खुशी हो रही है। सैमसंग स्मार्ट स्कूल और इस कार्यक्रम का सुदृढ़ शिक्षक प्रशिक्षण हिस्सा पहले से ही छात्रों के लिए शिक्षण प्रक्रियाओं को बेहतर करने में हमारी मदद कर रहे हैं और आगे ये डिजिटल खाई को पाटने में बहुत उपयोगी साबित होंगे।”

सैमसंग इंडिया में कॉरपोरेट सिटिजनशिप के वाइस प्रेसिडेंट श्री पार्थाघोषने कहा, “हमारी वैश्विक नागरिकता पहल सैमसंग स्मार्ट स्कूल भारत के विकासात्मक एजेंडे के साथ करीब से जुड़ी हुई है और हम इसे सरकार के साथ बेहद करीबी साझेदारी में कार्यान्वित कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को डिजिटल शिक्षा के फायदों तक पहुंच मिल सके। JNV वाराणसी का सैमसंग स्मार्ट स्कूल छात्रों को डिजिटल शिक्षण के मौके उपलब्ध कराएगा और पढ़ाने में डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर का इस्तेमाल करने की शिक्षकों की क्षमता को उन्नत करेगा। सैमसंग स्मार्ट स्कूल कार्यक्रम #पावरिंगडिजिटलइंडिया (डिजिटल भारत का सशक्तीकरण) के हमारे सपने के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को मजबूत करता है।”

सैमसंग स्मार्ट स्कूल का लक्ष्य संवादात्मक डिजिटल शिक्षण पद्धति, जिसके लिए शिक्षकों को प्रशिक्षित किया गया है, के माध्यम से कक्षा में छात्रों की सीखने की क्षमताओं को बेहतर करना और जटिल अवधारणाओं को समझने में उनकी मदद करना है।

सैमसंग स्मार्ट स्कूल कार्यक्रम के तहत पहले वर्ष में पायलट के तौर पर 10 JNV को शामिल किया जा रहा है। JNV वाराणसी के अतिरिक्त ग्वालियर, रायपुर, उदयपुर, कांगड़ा, संभलपुर, फरीदाबाद, देहरादून, पटना और धनबाद के JNV मेंसैमसंग स्मार्ट स्कूल स्थापित किए गए हैं। इनमें से कई विद्यालय इन शहरों के इर्द-गिर्द दूर-दराज के ग्रामीण इलाकों में स्थित हैं। पायलट के तहत 5,000 छात्रों को लाभ होगा, जिनमें 40% लड़कियां हैं और 260 शिक्षकों को इसके लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। इनमें से लगभग 500 छात्र JNV वाराणसी में हैं।

बुनियादी ढांचे की सहायता के अलावा इन स्कूलों में सैमसंग स्मार्ट स्कूल शिक्षक प्रशिक्षण जैसे कई कार्यक्रमों के माध्यम से छात्रों के लिए डिजिटल शिक्षण को सुलभ बनाएंगे, जिससे ग्रेड 6-12 तक की सभी कक्षाओं में CBSE पाठ्यक्रम के मुताबिक शिक्षक इन कक्षाओं का और प्रभावी रूप से इस्तेमाल करते हुए संवादात्मक और मनोरंजक तरीके से छात्रों की सीखने की प्रक्रिया को सार्थक और प्रासंगिक बना सकें।

‘टुगेदर फॉर टुमॉरो! इनेबलिंग पीपुल’ के अपने वैश्विक नागरिकता विजन के तहत सैमसंग अगली पीढ़ी को इस तरह सशक्त करना चाहती है ताकि वह अपनी पूरी क्षमता का इस्तेमाल कर सकारात्मक सामाजिक बदलावों का नेतृत्व कर सके। सैमसंग सकारात्मक सामुदायिक बदलाव के लिए नवाचारों (इनोवेशंस) का इस्तेमाल करने और नागरिकता पहलों के माध्यम से एक बेहतर जीवन तैयार करने में विश्वास करती है।

सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स पूरी दुनिया में तीन नागरिकता कार्यक्रम चलाती है – सैमसंग स्मार्ट स्कूल, सैमसंग इनोवेशन कैम्पस और सॉल्व फॉर टुमॉरो (भविष्य के लिए समाधान) – जिनके माध्यम से यह भविष्य के नेतृत्व को सशक्त करती है और उन्हें ऐसे उपकरणों से सुसज्जित करती है, जो सार्थक बदलाव लाने के लिए भविष्य में उनकी जरूरत बन सकते हैं।

दीप्ति अंगरीश

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account