सोनिया , हुड्डा के बीच टेस्ट मैच का दूसरा दिन


 

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बीच हरियाणा कांग्रेस में परिवर्तन की मांग को लेकर टेस्ट मैच का आज दूसरा दिन होगा । कल मैच के समय रैफरी के तौर पर हरियाणा प्रदेश कांग्रेस प्रभारी गुलाम नवी आजाद भी मौजूद थे ।

दर्शक दीर्घा में इस समय प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर अपने समर्थकों के साथ मौजूद रहे दिल्ली में । रनिंग कमेंटरी भी बिना अंदर का दृश्य देख बना दी कि श्रीमती सोनिया गांधी ने पूर्व मुख्यमंत्री को गुटबाजी को लेकर कुछ कहा । जब आप बैठक में ही नहीं तो मन से कुछ भी कह सकते हो ।

पर यह बताइए अशोक तंवर जी , गुटबाजी या ताली कभी एक हाथ से बजती है ? आपने इसे बढाने में कोई कम योगदान दिया ? कांग्रेस भवनों पर ताले किसने लगवाए ? एकदूसरे के फोटो किसने हटवाए ? विधायक दल के साथ तालमेल नहीं बिठा पाए । यहां तक कि आरोप है कि इतने वर्षों में संगठनात्मक ढांचा ही खडा नहीं कर पाए ।

इतनी चर्चा जरूर है कि आपने समांनांतर प्रदेश कांग्रेस जरूर बना दी और बिना हाईकमान की अनुमति के कितने ही नेताओं पर हाथ रख कर उन्हें टिकटों के दावेदार बना दिया । इससे फूट बढने लगी । विधायक शिकायत करने लगे कि अध्यर् हमारे क्षेत्र में बिना हमें बताए आते हैं । यह सब क्या था ? कांग्रेस को कौन गुटबाजी में कोई कमी छोड रहा था ?

अब विधानसभा चुनाव ऐन सिर पर हैं लेकिन कांग्रेस की गुटबाजी चरमसीमा पर है । कार्यकर्त्ता निराश है । हताश है हाईकमान की असमंजस या दुविधा की स्थिति से । कब फैसला आयेगा ? अफवाहें भी गर्म रहती हैं कि बदलाव हो गया या होने ही वाला है । अभी दो दिन पहले तो अफवाह फैलाने वालों ने सुश्री सैलजा को तंवर की जगह प्रदेशाध्यक्ष बना ही दिया था ।कल टेस्ट मैच बराबर रहा । आज के परिणाम का इंतजार है ।

वैसे एक समय काॅर्टून आया था । सोनिया गांधी और चौ भजन लाल मेज के आमने सामने बैठे हैं । काॅर्टून में लिखा गया कि एक को हिंदी तो दूसरे को अंग्रेजी कोनी आवे   बात कैसे हो ? पर इस मामले में तो सोनिया गांधी और हुड्डा दोनों अंग्रेजी अच्छे से जानते हैं । फिर फैसले की घडी में देरी क्यों ?

कमलेश भारतीय, वरिष्ठ  पत्रकार 

टीम डिजिटल

leave a comment

Create Account



Log In Your Account