प्रमुख सुर्खियाँ :

टीम इंडिया ने रचा इतिहास, पहली बार ऑस्ट्रेलिया में जीती सीरीज

रणवीर सिंह

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई चार मैचों की टेस्ट सीरीज को भारतीय टीम ने 2-1 से अपने नाम कर इतिहास रच दिया। ये पहला मौका है जब भारत ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने में कामयाब रहा है। भारत ने पहली बार साल 1947 में ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था और ये दौरा भारत का 12वां ऑस्ट्रेलियाई दौरा था। भारत के लिए ऑस्ट्रेलिया में जीत हासिल करना कभी भी आसान नहीं रहा और लगातार 11 बार ऑस्ट्रेलिया दौरा करने के बाद भी भारत वहां एक बार भी सीरीज नहीं जीत सका था।

लेकिन चौथा टेस्ट जैसे ही ड्रॉ घोषित हुआ वैसे ही भारत ने ऑस्ट्रेलिया में परचम लहरा दिया। सुबह के पूरे सत्र में पिच कवर से ढकी रही। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड के ऊपर काले घने बादल छाये हुए हैं और इस बीच हल्की बारिश भी हुई। भारत ने अपनी पहली पारी सात विकेट पर 622 रन बनाकर समाप्त घोषित की थी, जिसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया 300 रन पर आउट हो गया और उसे अपनी धरती पर पिछले 30 साल में पहली बार फॉलोऑन के लिये उतरना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में बिना किसी नुकसान के छह रन बनाए हैं।

भारतीय टीम की ये जीत कई मायनों में बेहद खास है। क्योंकि टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया फतह करने में 71 साल, 12 दौरे और 12 कप्तान बदलने पड़े हैं। विराट कोहली भारत ऑस्ट्रेलिया में भारत की कप्तानी करने वाले 13वें कप्तान हैं। आपको ये भी बता दें कि SENA देशों में (दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड) में भारत साल 2009 के बाद कोई टेस्ट सीरीज जीता है। इन देशों में सीरीज जीतने की बात की जाए तो भारत ने आखिरी बार न्यूजीलैंड में साल 2009 में सीरीज जीती थी। इसके बाद से ही भारत इन देशों में सीरीज नहीं जीत सका है।

SENA देशों की बात की जाए तो भारत अब इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीत चुका है और अब सिर्फ दक्षिण अफ्रीका ही ऐसा देश रह गया है जहां भारत अब तक सीरीज अपने नाम नहीं कर सका है। इसके अलावा भारत एशिया का पहला देश है जिसने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीती है। आपको एक और दिलचस्प आंकड़ा बता दें कि किसी भी एशियाई देश को ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने में 71 साल, 31 सीरीज, 98 टेस्ट लग गए। इस दौरान 272 खिलाड़ी और 29 कप्तानों ने ऑस्ट्रेलिया में अपनी किस्मत आजमाई लेकिन सफलता विराट कोहली को हाथ लगी।

चौथे टेस्ट मैच की बात करें तो भारत ने अपनी पहली पारी 7 विकेट के नुकसान पर 622 रनों पर घोषित कर दी थी। भारत की तरफ से चेतेश्वर पुजारा ने (193), ऋषभ पंत ने (159), रविंद्र जडेजा ने (81), मयंक अग्रवाल ने (77) रनों की पारी खेली थी। जवाब में भारतीय गेंदबाजों ने भी शानदार गेंदबाजी की और ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 300 पर समेट कर उन्हें फॉलोऑन खेलने पर मजबूर कर दिया। भारत चौथे टेस्ट को भी जीतने के करीब नजर आ रहा था लेकिन चौथे और पांचवें दिन जमकर बारिश हुई और इस वजह से मुकाबला ड्रॉ घोषित कर दिया गया।

बता दें कि टीम इंडिया ने सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। चेतेश्वर पुजारा (193) और ऋषभ पंत (159*) के दमदार शतकों की बदौलत टीम इंडिया ने अपनी पहली पारी 167.2 ओवर में 622/7 के स्कोर पर घोषित की। जवाब में ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 104.5 ओवर में 300 रन पर सिमटी। इस तरह टीम इंडिया को पहली पारी के आधार पर 322 रन की बढ़त मिली।

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन खेलने को मजबूर किया। फॉलोऑन खेलते हुए मेजबान टीम ने अपनी दूसरी पारी में 4 ओवर में बिना किसी नुकसान के 6 रन बनाए।

सिडनी टेस्ट के चौथे दिन यानी रविवार को सिर्फ 25.2 ओवर का खेल हो सका। पांचवें दिन एक भी गेंद नहीं फेंकी जा सकी और अंपायरों ने इसे रद्द करने का फैसला किया। टीम इंडिया की नई दीवार चेतेश्वर पुजारा को सिडनी टेस्ट में 193 रन की बेहतरीन पारी खेलने के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। पुजारा को ही सीरीज में तीन शतक सहित कुल 521 रन बनाने के लिए मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

टीम इंडिया ने मौजूदा सीरीज में पहला टेस्ट 31 रन से जीता। फिर ऑस्ट्रेलिया ने पर्थ में खेले गए दूसरे टेस्ट में वापसी की और 146 रन से मुकाबला जीतकर सीरीज 1-1 से बराबर की। विराट ब्रिगेड ने मेलबर्न में खेले गए बॉक्सिंग-डे टेस्ट में फिर धमाकेदार प्रदर्शन किया और 137 रन से जीत दर्ज करते हुए सीरीज में 2-1 की अजेय बढ़त बनाई। सिडनी में खेला गया चौथा टेस्ट बेनतीजा रहा।

टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच अब तीन मैचों की वन-डे सीरीज खेली जाएगी, जिसका पहला मुकाबला 12 जनवरी को सिडनी में खेला जाएगा। 15 जनवरी को दूसरा वन-डे एडिलेड और मेलबर्न में तीसरा वन-डे 18 जनवरी को खेला जाएगा।

बता दें कि चौथे टेस्ट के पांचवें व अंतिम दिन एक भी गेंद नहीं फेंकी जा सकी। बारिश और खराब रोशनी के कारण दिन का खेल शुरू नहीं हो सका। ऑस्ट्रेलिया ने 31 साल बाद अपने घर में किसी टीम के खिलाफ टेस्ट मैच में फॉलोऑन खेला। पिछली बार 1988 में ऑस्ट्रेलिया को इंग्लैंड ने इसी मैदान पर फॉलोऑन दिया था। इसके अलावा, 1986 के बाद पहली बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन दिया है। इससे पहले, 1986 में सिडनी में नववर्ष के मौके पर खेले गए मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन दिया था।

दोनों टीमों के बीच चौथे दिन के मैच में भी बारिश खलल बनी थी। बारिश के कारण ही पहले सत्र में एक भी गेंद नहीं फेंकी गई और लंच की घोषणा कर दी गई। इसके बाद, दूसरे सत्र में अपने पिछले दिन के स्कोर छह विकेट के नुकसान पर 236 रनों के स्कोर से आगे खेलने उतरी ऑस्ट्रेलिया ने 64 रन जोड़कर टीम को 300 के स्कोर तक पहुंचाया और इसी स्कोर पर उसकी पहली पारी समाप्त भी हुई।

एडमिन

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account