खत्म नहीं होने देंगे तीन तलाक कानून : मोदी

कोलकाता । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी की जनसभा में राज्य की ममता सरकार और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस महिलाओं का दर्द नहीं समझती। इसलिए तीन तलाक का विरोध कर रही है, लेकिन हम तीन तलाक पर बने कानून को हटाने नहीं देंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि राजीव गांधी के समय शाहबानो प्रकरण में कांग्रेस ने जो गलती की थी, अब वही गलती वह फिर दोहराने की तैयारी कर रही है। वो भूल गई है कि तीन तलाक से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं को कितने बुरे दौर से गुजरना होता है, कितने संकटों से गुजरना होता है?
प्रधानमंत्री ने राहुल गांधी द्वारा उठाए जा रहे राफेल मुद्दे पर हमला बोलते हुए कहा कि जब भी इनकी सच्चाई बताई जाती है तभी हंगामा करते हैं।
उन्होंने कहा कि दशकों से अटके हुए काम पूरे किए जा रहे हैं। आप सोचिए, साढ़े चार वर्ष पहले यदि आपने एक मजबूत सरकार के लिए वोट नहीं दिया होता तो भारत-बांग्लादेश सीमा विवाद आज भी नहीं सुलझ पाता। मुस्लिम महिलाओं के लिए ट्रिपल तलाक का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि आज यहां जलपाईगुड़ी में, मैं देश से जुड़े एक महत्वपूर्ण विषय पर भी अपनी बात रखना चाहता हूं। ये विषय महिला सशक्तिकरण, महिलाओं को अवसरों की समानता और महिलाओं को न्याय का है, ये विषय तीन तलाक का है।
मोदी ने कहा कि महिला अधिकारों पर झूठ बोलने वाली कांग्रेस ने अपनी असली सच्चाई भी देश के सामने रख दी है। तुष्टीकरण के लिए कांग्रेस किस हद तक जा सकती है, ये भी उसने फिर बता दिया है। कांग्रेस ने अब खुलकर कह दिया है कि वो तीन तलाक पर बन रहे कानून का विरोध करती है। कांग्रेस ने उन लाखों मुस्लिम बहन-बेटियों के साथ अत्याचार किया है, उन्हें धोखा दिया है जो तीन तलाक कानून के लिए वर्षों से प्रदर्शन कर रहीं थीं, मीडिया में आकर अपनी पीड़ा जता रहीं थीं। कांग्रेस ने फिर दिखा दिया है कि उसे सुप्रीम कोर्ट की परवाह नहीं है, जो तुरंत तीन तलाक को असंवैधानिक घोषित कर चुका है। राजीव गांधी के समय, शाहबानो प्रकरण में कांग्रेस ने जो गलती की थी, अब वही गुनाह वह फिर करने जा रही है।
मोदी ने कहा कि कांग्रेस भूल गई है कि तीन तलाक से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं को कितने बुरे दौर से गुजरना होता है, कितने संकटों से गुजरना होता है। यहां पश्चिम बंगाल की भी अनेक बहनों को इस तरह के अत्याचार से गुजरना पड़ा है। वह वर्षों से तीन तलाक के खिलाफ कानून की मांग कर रहीं थीं, जिसे हमारी सरकार पूरा करने का प्रयास कर रही है, लेकिन तुष्टीकरण के लिए किसी भी हद से गुजरने वाली कांग्रेस ने, न सिर्फ तीन तलाक कानून को संसद में रोका, बल्कि उसे अब खत्म करने की भी बात करने लगी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि ये लोग कुछ बोलें, मैं देश की सभी मुस्लिम बहन-बेटियों को भरोसा देना चाहता हूं कि तीन तलाक कानून को हटने नहीं दिया जाएगा। भाजपा महिलाओं के अधिकार के लिए, महिलाओं को न्याय के लिए, पूरी तरह प्रतिबद्ध है।
प्रधानमंत्री ने विपक्षी दलों के गठबंधन पर भी करारा प्रहार किया। उन्होंने कहा कि जब-जब देश को इनकी सच्चाई बताओ, ये ऐसे ही हंगामा करते रहे हैं। ये महा-मिलावट एक ऐसा घालमेल है जिसकी अपनी कोई विचारधारा नहीं है। देश के लिए कोई विजन नहीं है। आप खुद देखिए, पश्चिम बंगाल कांग्रेस के नेता लगातार बोल रहे हैं कि बंगाल में अराजकता है, भ्रष्टाचारियों और गुंडों का राज है, लेकिन दिल्ली में मिस्टर वाड्रा के साले साहब अपनी धुन में मस्त हैं।
उल्लेखनीय है कि तीन तलाक को गैर-कानूनी बनाने वाला विधेयक लोकसभा में पास हो गया है, लेकिन राज्यसभा में विपक्षी दलों के विरोध के कारण पारित नहीं हो सका है। इसको तत्काल लागू करने के लिए सरकार ने अध्यादेश जारी किया है।

एडमिन

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account