प्रमुख सुर्खियाँ :

ऊबर ने कई अस्पतालों में किया निःशुल्क सेवाओं का विस्तार

 

नई दिल्ली । ऊबर ने आज नई दिल्ली के दो और सार्वजनिक अस्पतालों, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज और कलावती सरन चिल्ड्रन हॉस्पिटल के फ्रंटलाईन स्वास्थ्यसेवा कर्मियों के परिवहन के लिए अपनी निःशुल्क ऊबरमेडिक सेवा का विस्तार किया है। यह प्रस्ताव सरकार द्वारा राजधानी में प्रतिबंधित परिवहन के आदेश के ठीक बाद दिया गया है, गौरतलब है कि राजधानी दिल्ली को रैड ज़ोन में रखा गया है। नई दिल्ली के कई अग्रणी सार्वजनिक अस्पताल जैसे सर गंगा राम अस्पताल, डॉ राम मनोहर लोहिया अस्प्ताल, सफदरजंग अस्पताल पहले से ऊबरमेडिक सेवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं।

सेवाओं के बारे में बात करते प्रभजीत सिंह, डायरेक्टर, ऑपरेशन्स एवं हैड ऑफ सिटीज़, ऊबर इण्डिया एण्ड साउथ एशिया ने कहा, ‘‘सरकार कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए अथक प्रयास कर रही है, ऐसे में यह साझेदारी भारत को महामारी से जीत हासिल करने की दिशा में हमारी ओर से एक योगदान है। ऊबर में हम स्वास्थ्यसेवा कर्मियों को सलाम करते हैं, जो अपने जीवन को जोखिम में डालर कर दूसरों का जीवन बचा रहे हैं। हम ऊबरमेडिक ड्राइवरों के प्रति भी आभारी हैं जो इन फ्रंटलाईन स्वस्थ्य कर्मियों को अस्पताल आने-जाने में मदद कर रहे हैं। आने वाले समय में भी हम भारत सरकार को इस चुनौतीपूर्ण स्थिति में पूर्ण सहयोग प्रदान करते रहेंगे।’’ 

 

 

 

नई दिल्ली के अस्पतालों को दी गई सभी ऊबरमेडिक कारों में फर्श से छत तक प्लास्टिक की शीट लगाई गई है जो ड्राइवर और राइडर केे बीच बैरियर का काम करती है। इसके अलावा, सुरक्षा और हाइजीन के सर्वोच्च मानकों को सुनिश्चित करने के लिए ऊबरमेडिक ड्राइवरों को प्रशिक्षित किया जाता है और उन्हें निजी सुरक्षा के उपकरण जैसे मास्क, दस्ताने, सैनिटाइज़र और डिसइन्फेक्टेन्ट मुहैया कराए जाते हैं, ताकि हर राईड के बाद कार को सैनिटाइज़ किया जा सके।

 

डॉ प्रीति सिंह, एसोसिएट प्रोफेसर, पीडिएट्रिक्स विभाग, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज और कलावती सरन चिल्ड्रन हॉस्पिटल ने कहा, ‘‘देश डॉक्टरों और स्वास्थ्यसेवा कर्मियों के प्रति आभारी है जो रोज़ाना अपने जीवन को खतरे में डालकर कोविड-19 के खिलाफ़ लड़ाई लड़ रहे हैं। ऊबर के साथ यह साझेदारी समय की मांग है और ऊबरमेडिक सुनिश्चित करेगा कि हमारे डॉक्टर, नर्सें और मेडिकल स्टाफ परिवहन के सुविधाजनक एवं भरोसेमंद सेवाओं से लाभान्वित हो सकें। इस मुश्किल समय में आसान परिवहन सेवाओं का लाभ उठा कर वे अपना ध्यान और अपनी उर्जा को दूसरों का जीवन बचाने में लगा सकें।’’

 

ऊबरमेडिक ड्राइवर, विशाल शर्मा ने कहा, ‘‘जब मुझसे पूछा गया कि क्या मैं डॉक्टरो,नर्सों और अन्य हॉस्पिटल स्टॉफ को परिवहन सेवाएं प्रदान करना चाहूंगा, मैंने तुरंत सहमति दे दी। मैंने एक बार भी नहीं पूछा कि मुझे इसके लिए क्या भुगतान मिलेगा। जब सब लोग घर पर हैं, इस लड़ाई को कौन लड़ रहा है? हर व्यक्ति को अपनी ओर से यथासंभव योगदान देना चाहिए, और मैं ड्राइविंग कर अपनी अपनी ओर से यथासंभव योगदान दे रहा हूं। फर्श से छत तक प्लास्टिक की शीट लगाकर ड्राइवर के केबिन को पूरी तरह से सील कर दिया जाता है और किसी को भी ड्राइवर के साथ बैठने की अनुमति नहीं होती। हर राईड से पहले सभी सीटों को डिसइन्फेक्ट किया जाता है। मैं मास्क, दस्ताने और हैण्ड सैनिटाइज़र इस्तेमाल करता हूं। स्वास्थ्यसेवा कर्मी इस मोर्चे पर डटे हैं। बिना मदद के वे कैसे इस लड़ाई को लड़ सकते हैं? डॉक्टर और नर्सें मुझे सम्मान देते हैं। मुझे बहुत अच्छा लगता है कि जब उन्हें सुरक्षित रूप से, आराम से घर पहुंचाने के लिए वे मेरा धन्यवाद करते हैं।’’

 

 

 

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account