अयोध्या में विहिप ने दिया बड़ा बयान, जमीन का बंटवारा मंजूर नहीं

अयोध्या। अयोध्या में धर्मसभा शुरू हो चुकी है। विश्व हिंदू परिषद ने मामले पर बड़ा बयान दिया है। विहिप ने कहा कि हमें राममंदिर के लिए हमें जमीन का बंटवारा मंजूर नहीं है। हमें पूरी की पूरी जमीन चाहिए। वीएचपी के उपाध्यक्ष चंपत राय ने कहा कि हम जमीन का बंटवारा नहीं चाहते हैं। पूरी जमीन हमारी है। भारत सरकार को अपने संकल्प को पूरा करना चाहिए। वीएचपी के उपाध्यक्ष चंपत राय ने कहा कि छीन कर गई जमीन पर नमाज हमें स्वीकार नहीं है। यह जमीन जबरदस्ती ली गई है। किसी को भी हमारे धैर्य की परीक्षा नहीं लेनी चाहिए। कुछ विद्वान ऐसा मानते हैं कि कि राम मंदिर मुद्दा बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद से शुरू हुआ है। लेकिन, यह लड़ाई पिछले 490 वर्षों से लगातार जारी है।

निगरानी के लिए ड्रोन कैमरे लगाए गए हैं। विहिप का दावा है कि तीन लाख से अधिक रामभक्त धर्मसभा में हिस्सा लेंगे। विहिप के प्रांत संगठन मंत्री (अवध) भोलेन्द्र ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए यह अंतिम धर्म सभा होगी। इसके बाद कोई धर्म सभा नहीं होगी और मंदिर निर्माण शुरू होगा।विश्व हिंदू परिषद की धर्म सभा के मद्देनजर सुरक्षा के नाम पर राम नगरी के प्रवेश की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है। उदया चौराहे और टेढ़ी बाजार तिराहे दोनों ही स्थानों पर प्रशाशन ने बैरियर लगाकर पीएसी के जवानों की तैनाती कर दी है। इन दोनों स्थानों से किसी भी आम नागरिक को आगे नहीं जाने दिया जा रहा है।

 

एडमिन

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account