रामा कैसे पार पाएगा एक और मुश्किल से ? 

नई दिल्ली। सोनी सब के ‘तेनाली रामा’ शो ने हमेशा से ही दर्शकों को अपनी अद्भुत कहानी और रामा की बु़िद्धमानी से बांधे रखा है। इसमें कोई शक नहीं कि रामा हमेशा ही मुश्किल से मुश्किल समस्या को सफलतापूर्वक संभाल लेता है।
इस शो के आगामी एपिसोड में दर्शक, उड़ीसा के राजा गजपति विजयनगर में आते हुए देख पायेंगे। उनका राजकृष्णदेव राय के साथ बहुत पुराना झगड़ा है। राजा कृष्णदेव राय को कुछ पवित्र रस्मों को निभाने के लिये मंदिर जाना होता है, लेकिन उसी समय गजपति भी उन्हीं रस्मों को निभाने के लिये मंदिर पहुंचते हैं। गजपति के साथ उनकी बेटी जगमोहिनी भी है, जो राजाकृष्णदेव को देखते ही उनसे प्यार कर बैठती है। दोनों ही राजाओं के बीच थोड़ी बहस हो जाती है, लेकिन रामा बीच-बचाव करके उन्हें रस्में निभाने के काम में लगा देता है।
अगले दिन, जगमोहिनी अपने प्यार का इजहार करने के लिये राजा कृष्णदेव राय के लिये उपहार लेती है। गजपति वह सारा घटनाक्रम देखता है और बहुत गुस्सा हो जाता है। लेकिन जगमाहिनी ऐसी स्थिति बना देती है कि अब राजा कृष्णदेव राय भी गजपति के लिये कुछ उपहार लेने के बारे में सोचते हैं। गजपति राजा से कुछ बहुत ही कीमती चीज मांगने की योजना बनाते हैं। इसी बीच, तथाचार्य बहुत ही कुटील योजना बनाता है और गजपति को उसके दुष्ट इरादों के लिये उकसाता है। तथाचार्य के कुटील षड्यंत्र के परिणामस्वरूप, गजपति अब रामा को उपहार में मांग लेते हैं। अब रामा इस उलझन में फंस गया कि आखिर इस स्थिति से खुद को कैसे बाहर निकला जाये।
अब सवाल उठता है कि क्या रामा गजपति के साथ चला जायेगा? या फिर अपनी बुद्धिमानी से इस स्थिति से बच पायेगा? इस ट्रैक के बारे में अपनी बात रखते हुए तेनाली रामा का किरदार निभा रहे कृष्ण भारद्वाज ने कहा कि यह रामा की जिंदगी का सबसे जटिल मामला है, जहां वह तथाचार्य की धूर्तता के कारण मुसीबत में फंस गया है। हर बार की तरह इस बार भी इस स्थिति से निकलने के लिये कुछ अलग उपाय अपनायेगा और राजा कृष्णदेव राय को प्रभावित करेगा। चूंकि, कृष्णदेव राय अपना वचन निभाने के लिये जाने जाते हैं, इसलिये वह गजपति की मांग को ठुकरा नहीं पाते। रामा इस स्थिति से कैसे निकलता है, वह देखने लायक होगा।

दीप्ति अंगरीश

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account