प्रमुख सुर्खियाँ :

Zee Cinema पर Dabangg 3

नई दिल्ली। Zee Cinema पर Dabangg 3 का वर्ल्ड टेलीविजन प्रीमियर हुआ है। प्रभु देवा के निर्देशन में बनी Dabangg 3 में सलमान खान, सोनाक्षी सिन्हा, महेश मांजरेकर, अरबाज़ खान और खूबसूरत नवोदित अभिनेत्री सई मांजरेकर हैं। Dabangg 3 में एक पुलिस ऑफिसर के रूप में चुलबुल पांडे की शुरुआत दिखाई गई है। उनका सामना बाली सिंह नाम के एक पुराने दुश्मन से होता है। जिससे उनकी पुरानी यादें ताजा हो जाती हैं। फिर वो अपने चाहने वालों को बचाने के लिए इस स्थिति से निपटते हैं। ग्लैमरस सोनाक्षी सिन्हा ने दबंग फ्रैंचाइज का हिस्सा बनकर इसमें रज्जो का रोल निभाया है। फिल्म के वर्ल्ड टेलीविजन प्रीमियर के अवसर पर उन्होंने अपना अनुभव बताते हुए एक खास चर्चा की।

इस फिल्म की तीनों फ्रैंचाइज में काम करने वालीं आप अकेली एक्ट्रेस हैं, तो ऐसे में आपको कैसा महसूस होता है?

Dabangg मेरे लिए घर की तरह है। मैंने इस फिल्म से इंडस्ट्री में अपना करियर शुरू किया था। मुझे खुशी है कि मैं इस फ्रैंचाइज का अभिन्न हिस्सा हूं। यह मेरे लिए सम्मान की बात है और मैं सभी की आभारी हूं, खासतौर पर सलमान खान की, जिन्होंने रज्जो के रोल के लिए मुझमें विश्वास जताया और मुझे मेरा पहला ब्रेक दिया। Dabangg सबसे सफल फ्रैंचाइज में से एक है और ऐसे में इस सफर का हिस्सा बनकर मजबूती से आगे बढ़ते हुए बहुत अच्छा लगता है।

Zee Cinema पर Dabangg 3 का प्रीमियर, दबंग 1 से लेकर दबंग 3 में काम करने का अनुभव कैसा रहा?

Dabangg एक दिलचस्प फिल्म है और हर फ्रैंचाइज में हमें साथ काम करते हुए बहुत मजा आया। हालांकि पहली फिल्म में मैं नई थी और हर चीज सीख रही थी और फिर बाद की फिल्मों में इसे समझने लगी। तब तक मुझे कुछ अनुभव हो गया था, इसलिए मुझमें ज्यादा आत्मविश्वास था। फिल्म की हर किस्त के साथ मैं अपने किरदार रज्जो के और करीब आती गई। मैंने अपने किरदार को समझा और इसे ज्यादा आसानी से प्रस्तुत किया। पिछले कुछ वर्षों में रज्जो के किरदार में भी काफी बदलाव आए हैं। वो एक बेटी से लेकर एक खुशमिजाज और प्रोटेक्टिव पत्नी, बहू और एक मां बनी। ऐसे में इस किरदार के गुणों में भी बदलाव आए हैं। इसलिए हर इंस्टॉलमेंट में मेरे लिए कुछ नया था।

आपको ऐसा क्यों लगता है कि दबंग एक जबर्दस्त मनोरंजक फिल्म है, जो हर तरह के दर्शक को पसंद आती है?

मेरा मानना है कि दर्शक किसी फिल्म को तब पसंद करते हैं, जब वो फिल्म के किरदारों और स्थितियों से व्यक्तिगत रूप से जुड़ते हैं या फिर वो कोई प्रेरणादायक किरदार देखते हैं। दबंग में अपने-से लगने वाले किरदार और स्थितियां दोनों ही हैं। इस फ्रैंचाइज में एक्शन और ड्रामा से लेकर कॉमेडी और यहां तक कि रोमांटिक सीक्वेंस, सभी खूबियां हैं। Dabangg 3 के साथ मसाला और मनोरंजन बड़ा और बेहतर हो गया है। जहां इसमें मशहूर कॉप चुलबुल पांडे के कारनामे हैं, वहीं यह दर्शकों को बीती हुई कहानी में ले जाती है, जिसकी वजह से वो आज चुलबुल पांडे यानी रॉबिनहुड पांडे बने। जब फिल्म के विलेन बाली सिंह के रूप में उनका अतीत उनके सामने आता है तो स्थिति एक अनपेक्षित मोड़ लेती है और यही खूबी इसे एक संपूर्ण फैमिली एंटरटेनर बनाती है।

Zee Cinema पर Dabangg 3, दबंग को लेकर प्रभु देवा का नजरिया आपको कैसा लगा?

मुझे प्रभु सर के साथ काम करके मजा आया। मैं उनके साथ तीन फिल्मों में काम कर चुकी हूं और वो सेट पर हमेशा समर्पित और पूरे जोश में रहते हैं। उनकी एनर्जी दबंग की एनर्जी से बखूबी मेल खाती है। मुझे लगता है कि चुलबुल की शुरुआत वाली कहानी के साथ प्रभु सर से बेहतर न्याय कोई और नहीं कर सकता था। मसाला फिल्मों के मामले में उन्हें भारतीय दर्शकों की पसंद अच्छी तरह पता है और मुझे उनकी इस खूबी पर रश्क होता है। उनके साथ काम करना हमेशा एक मस्ती भरा और सीखने वाला अनुभव रहता है।

Zee Cinema पर Dabangg 3, आज भी दबंग 3 को लेकर आपको किस बात की सबसे ज्यादा खुशी होती है?

मैं बहाव के साथ आगे बढ़ने में यकीन रखती हूं और मैं हमेशा से ऐसी ही रही हूं। मुझे खुशी है कि मुझे दबंग मिली। जैसा कि मैंने बताया दबंग ने मुझे आकर्षित किया और इसी फिल्म के साथ मैंने अपना करियर शुरू किया है, इसलिए यह फिल्म हमेशा मेरे लिए खास रहेगी। इस फिल्म को इतना प्यार और तारीफें मिलीं कि अब इसकी शुरुआत की कहानी की मांग हो रही थी। मैं उन सभी की आभारी हूं, जिन्होंने मेरे लिए Dabangg को मुमकिन बनाया। इसलिए मैं इस फ्रैंचाइज की किसी एक फिल्म को सेलिब्रेट नहीं कर सकती। दबंग ने ही इंडस्ट्री में मुझे मेरी पहचान दिलाई। Dabangg को सेलिब्रेट करना अपने करियर को सेलिब्रेट करने जैसा है और इसकी हर कड़ी के साथ यह और बड़ी और बेहतर होती जा रही है।

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account