प्रमुख सुर्खियाँ :

ज़ूमकार ने अपने कार-शेयरिंग मार्केटप्‍लेसपर 20,000 से ज्‍यादा कारों की घोषणा की

 

नई दिल्ली। भारत में कम समय मेंलाभ कमाने का लक्ष्‍य ज़ूमकार इस साल के अंत तक भारत में लाभकमाना चाहता है, यह लाभ कंपनी की शेयर्ड पर्सनल मोबिलिटी कम्‍युनिटीके भागीदार होस्‍ट्स और गेस्‍ट्स की वृद्धि से मिलेगा बेंगलुरु, भारत।1 जून, 2022:उभरते बाजारों में कार शेयरिंग के अग्रणी मार्केटप्‍लेस ज़ूमकार नेआज अपने व्‍यापक ज़ूमकार व्‍हीकल शेयरिंग प्‍लेटफॉर्म पर भारत में 20,000 से ज्‍यादा कारें लाइव होने की घोषणा की है। अपनी मजबूत ऑर्गेनिकवृद्धि के चलते, कंपनी को 2022 के अंत तक भारत में लाभ कमानेकी आशा है।

 

ज़ूमकार की उपलब्धियों पर ज़ूमकार के सह-संस्‍थापक एवं सीईओग्रेग मोरान ने कहा,“हम अपने प्‍लेटफॉर्म पर मेजबानों और अतिथियों, दोनों के लिये वृद्धि की गति को देखकर सचमुच उत्‍साहित हैं। हमारी टीम ज़ूमकारपर प्रसन्‍नता से भरा ग्राहक अनुभव देने के लिये लगातार केन्द्रित है। अब हम अपनेमार्केटप्‍लेस की क्षमताओं को बढ़ाने के लिये दोगुना प्रयास कर रहे हैं और इस सालके अंत तक भारत में अच्‍छा लाभ कमाने की उम्‍मीद करते हैं।” ज़ूमकार ने अपने लॉन्‍च के बाद से स्‍थायी वृद्धि की है और ज्‍यादासे ज्‍यादा लोग इस प्‍लेटफॉर्म पर अपनी कारों की होस्टिंग कर रहे हैं, ताकिअतिरिक्‍त आय अर्जित कर सकें। ज़ूमकार के होस्‍ट एक महीने में 50,000 रूपये से अधिक कमाते हैं और कई होस्‍ट्स ने पिछले 6 महीनों में 3 लाखरूपये से ज्‍यादा कमाये हैं। यह मार्केटप्‍लेस अब ऑडी, मर्सिडीजऔर मिनी कूपर की लक्‍जरी कारों  और नये7-सीटर व्‍हीकल्‍स, जैसे टाटा सफारी और एमजी हेक्‍टर प्‍लसकी पेशकश भी करता है।

 

लक्‍जरी कारों के होस्‍ट्स ने ज़ूमकार पर पिछले 6 महीनों में5 लाख रूपये से ज्‍यादा कमाये हैं और उनका प्रतिमाह कमाई का औसत 70,000 रूपये रहा है। ज़ूमकार का अनोखा प्‍लेटफॉर्म कार शेयरिंग को आसान बनाता है।निजी,व्‍यक्तिगत या नॉन-ट्रांसपोर्ट व्‍हीकल्‍स के मालिक (होस्‍ट्स) इसप्‍लेटफॉर्म पर अपने वाहन सूचीबद्ध कर सकते हैं और योग्‍य यूजर्स (गेस्‍ट/अतिथि)निजी उपयोग के लिये इन वाहनों की बुकिंग कर सकते हैं। ज़ूमकार पर होस्टिंग आसान है:होस्‍ट मुफ्त में साइन अप कर सकते हैं और ऑनबोर्डिंग की प्रक्रिया के दौरान सम्‍मानार्थउनकी कार का हेल्‍थ चेकअप होगा। फिर कार में एक सुरक्षा निगरानी उपकरण लगाया जाएगाऔर वह प्‍लेटफॉर्म पर सूचीबद्ध होने के लिये तैयार हो जाएगी और बुकिंग मिलने केबाद होस्‍ट के लिये पैसा कमाएगी।

 

होस्‍ट अपनी सुविधा के अनुसार कभी भी कार को शेयरकर सकते हैं। ज़ूमकार सीधे होस्‍ट के बैंक खाते में पैसा डालता है। अपने होस्‍टप्रोग्राम के माध्‍यम से ज़ूमकार निजी वाहनों की लीजिंग द्वारा खाली पड़े वाहन कीक्षमता को बदलना चाहता है, ताकि उसका बेहतर उपयोग हो,सड़क का यातायात कम हो और शहरों का वायु प्रदूषण भी कम हो।ज़ूमकार की वृद्धि के बारे में ज़ूमकार इंडिया के सीईओनिर्मल एनआर ने कहा,“ज़ूमकार का कार-शेयरिंग मार्केटप्‍लेस लोगों को भारत में वाहनों केसबसे विविधतापूर्ण संग्रह तक पहुँच देता है। और हम यह घोषणा करते हुए उत्‍साहितहैं कि भारत में हमारे पास अब अपने अनूठे कार-शेयरिंग प्‍लेटफॉर्म पर 20,000 से ज्‍यादा कारें हैं। हमने हमारे प्‍लेटफॉर्म का उपयोग करने वालेहोस्‍ट्स की संख्‍या में बेमिसाल वृद्धि देखी है और हमें इसके बढ़ने की आशा है,क्‍योंकि ज्‍यादा से ज्‍यादा कार मालिक ज़ूमकार पर होस्टिंग केआर्थिक लाभों को समझ रहे हैं। हमारी स्‍थायी वृद्धि भारत में शहरी यातायात सेजुड़ी प्रमुख चुनौतियों को दूर करने के लिये स्‍थानीयकृत समाधान निर्मित करने कीहमारी प्रतिबद्धता का प्रमाण है।”

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account