आयुष स्टार्ट-अप एक और आकर्षण का प्रमुख बिंदु होगा

 


नई दिल्ली। आयुष मंत्रालय ने 14 से 27 नवंबर 2022 तक नई दिल्ली के प्रगति मैदान में अपने मंडप के माध्यम से 41वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में अपनी पहल और विभिन्न उपलब्धियों को प्रदर्शित करने के लिए पूरी तैयारी कर ली है। मंत्रालय “वैश्विक स्वास्थ्य के लिए आयुष” विषय पर अपनी पहल पर प्रकाश डालेगा।

आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध, सोवा-रिग्पा और होम्योपैथी चिकित्सा प्रणाली के अंतर्गत विभिन्न आयुष संस्थान और अनुसंधान निकाय लोगों को जागरूक करने के लिए अपने स्टाल लगाएंगे। इन स्टाल के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाएगा कि कैसे वे दैनिक दिनचर्या के माध्यम से आयुष प्रणाली के अंतर्गत उपलब्ध आहार संबंधी आदतों को अपनी जीवन शैली में शामिल करके अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रख सकते हैं।

व्यापार मेले में इस वर्ष के आयुष मंडप का मुख्य आकर्षण दिलचस्प विचार-विमर्श की गतिविधियां है, जहाँ आगंतुकों को साबुन, जेल, क्रीम, गोली, आदि, मसालों की पहचान और मिलान जैसी “अपना स्वयं के आयुष आइटम बनाएं” जैसी गतिविधियों के माध्यम से आयुष के लाभों के बारे में पता चलेगा। आगंतुकों को यह भी पता चलेगा कि सांप और सीढ़ी जैसे पुराने आसान खेलों के माध्यम से स्वस्थ जीवन शैली को कैसे विकसित किया जा सकता है। अन्य दिलचस्प गतिविधियाँ जैसे “दादी से पूछो” आयोजित की जाएंगी जहाँ आपको इस बारे में जानकारी दी जाएगी कि आपकी कुछ स्वास्थ्य समस्याओं के लिए रसोई में उपलब्ध समाधानों का उपयोग किया जा सकता है। आगंतुकों को विभिन्न स्वास्थ्य लाभ वाले औषधीय पौधे नि:शुल्क प्रदान किए जाएंगे। आयुष प्रश्नोत्तरी के विजेताओं को आकर्षक पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे।

आयुष मंत्रालय “वैश्विक स्वास्थ्य के लिए आयुष” विषय के अंतर्गत विभिन्न पहलों का प्रदर्शन करेगा

आगंतुकों के लिए नि:शुल्क बाह्य रोगी विभाग-ओपीडी सुविधा का लाभ प्रदान किया जाएगा, जहां आयुर्वेद, यूनानी, होम्योपैथी, सिद्ध, सोवा रिग्पा, योग और प्राकृतिक चिकित्सा के आयुष चिकित्सक/वैद्य स्वास्थ्य परामर्श देंगे। सॉफ्टवेयर आधारित प्रकृति परीक्षण और मिजाज परीक्षण किया जाएगा, जहां व्यक्ति की प्रकृति (आयुर्वेद के सिद्धांतों के अनुसार) और मिजाज (यूनानी के सिद्धांतों के अनुसार) का आकलन किसी व्यक्ति के प्रोफाइल या अद्वितीय मनोदैहिक स्वभाव के आधार पर किया जा सकता है, जिसमें उसका व्यक्तित्व या उसकी शारीरिक, कार्यात्मक और व्यवहारिक विशेषताएं शामिल है।

नई दिल्ली के मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान (एमडीएनआईवाई) के विशेषज्ञों द्वारा योग फ्यूजन कार्यक्रम, सजीव योग प्रदर्शन, कार्यस्थल पर योग विराम और योग चिकित्सा का प्रदर्शन किया जाएगा।

आयुष मंत्रालय भारत के चुस्त स्टार्टअप ईकोसिस्टम के माध्यम से आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी क्षेत्र में उद्यमिता को बढ़ावा दे रहा है। विभिन्न श्रेणियों में 14 से अधिक स्टार्टअप आयुष की बढ़ती क्षमता का प्रदर्शन करेंगे।

आयुष मंडप में दिलचस्प आयुष प्रश्नोत्तरी कियोस्क भी स्थापित किए जा रहे हैं, जिसमें विजेताओं को आकर्षक पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.