शिक्षा समस्या का समाधान करने का साधक बने : राजमणि पटेल

नई दिल्ली। सेंटर फॉर एजुकेशन ग्रोथ एंड रिसर्च (सीईजीआर) के द्वारा आयोजित स्कूल एजुकेशन समिट को संबोधित करते हुए सांसद राजमणि पटेल ने कहा कि शिक्षा हर समस्या का समाधान करने का साधक बनना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षा का मिशन तब तक पूरा नहीं होगा जबतक समाज का सपना पूरा नहीं होता जब तक कमजोर व्यक्ति को सहायता न मिल जाएं। राजमणि पटेल ने सीईजीआर को बधाई देते हुए कहा कि आज जिस तरह का माहौल बन रहा है वैसे समय में भी संस्था ने स्कूल एजुकेशन पर खास समिट किया है यह अद्भूत है। सीईजीआर लगातार शिक्षा के जगत में सशक्त राष्ट्र के निर्माण में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। आज देश के युवा भारत ही नहीं दुनिया में अपना नाम रोशन कर रहे हैं। सीईजीआर ने युवाओं को प्रोत्साहित करता रहा है आज जिस प्रकार से युवाओं को अवार्ड दिया गया इससे इनकी प्रतिभा और निखरेगी।

स्कूल एजुकेशन समिट के उद्घाटन सत्र में एआईसीटीई के पूर्व मेम्बर सेक्रेटरी प्रो. एपी मित्तल ने सीईजीआर के द्वारा लगातार किए जा रहे शिक्षा जगत बेहतरीन कार्य पर जोर देते हुए कहा कि सीईजीआर देश भर में ऐसे आयोजन कर रहा है जिससे छिपे हुए प्रतिभाओं को बाहर लाया गया है। इस मौके पर एएसएम ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन के चेयरमैन डॉ. संदीप पचपांडे ने कहा कि आज देश में युवा इंटरप्रेनर को प्रोत्साहित करने की जरूरत है। जिसके लिए सीईजीआर कार्य कर रहा है। आज युवाओं को जॉब क्रियेटर बनाने की जरूरत है जिसके लिए एएसएम ने अपने प्रयास शुरू कर दिए हैं। इसके लिए सीईजीआर जैसे संस्था का विशेष योगदान करने की जरूरत है। स्कूल एजुकेशन समिट को संबोधित करते हुए एएएफटी के चांसलर डॉ. संदीप मारवाह ने कहा कि आज हायर एजुकेशन को बेसिक एजुकेशन से जोड़ने की आवश्यकता है। जिसके लिए आज सीईजीआर लगातार कार्य कर रही है। इस मौके पर एआईसीटीई एडवाइजर प्रो. हरिहरन ने कहा कि एआईसीटीई शिक्षा को व्यवहारिक रूप देने के लिए कई योजनाओं को कार्यरूप दिया है जिससे आज काफी युवा सहित शिक्षा विद् को लाभ मिल रहा है। इस मौके पर शोभित यूनिवर्सिटी के चांसलर कुंवर विजेंद्र शेखर ने कहा कि सीईजीआर समय समय पर एक जगह पर शिक्षा जगत के बड़े धुरंधरों को एकमंच देता है यह अपने आप में एक अद्भूत कार्य है। इसके लिए सीईजीआर के डायरेक्टर रविश रोशन बधाई के पात्र हैं। इस मौके पर स्टूडेंट् इनोवेटर आदित्य पचपांडे ने अपने भाषण से लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया और अपने फ्यूचर प्लानिंग पर खास चर्चा की जिससे लोगों ने उसकी भूरि-भूरि प्रंशसा की। स्कूल एजुकेशन समिट को एमईएससी के सीईओ मोहित सोनी, एनडीआईएम के चेयरमैन वीएम बंसल, सेंटफोर्ट स्कूल के चेयरमैन एसके राठौर, सेठ एमआर जयपुरिया स्कूल के डायरेक्टर कनक गुप्ता, दिल्ली पब्लिक स्कूल ग्रेटर फरिदाबाद सुरजीत खन्ना, एडवेक्ट स्कील की सीईओ डॉ सोनाली सिन्हा, हिमालयन गड़वाल युनिवर्सिटी के वाइस चांसलर एनके सिन्हा, मैकमिलन एजुकेशन के डायरेक्टर शशिकला मीना कुमारी, सलवान पब्लिक स्कूल की प्रिंसिपल डॉ इंदु खेतरपॉल, केआर मंगलम वर्ल्ड स्कूल की प्रिसिंपल संगीता अरोड़ा, कालका पब्लिक स्कूल की डायरेक्टर डॉ ओनिका मेहरोत्रा, गुजरात टेक्नोलोजी यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर नवीन सेठ ने भी संबोधित किया। अंत में सीईजीआर के डायरेक्टर रविश रोशन ने धन्यवाद ज्ञापन करते हुए कहा कि स्कूल एजुकेशन समिट की सफलता में देश भऱ के एजुकेशन से जुड़े सभी विद्वजन का योगदान है उनके मार्गदर्शन से ही आज सीईजीआर देश का लीडिंग एजुकेशन थिंक टैंक है जिसके पास चार इनोवेशन का क्रेडिट है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.