पियर ने रेस्टोरेंट्स को सेवाएं मुफ्त देने की पेशकश

 

नई दिल्ली। भारत में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर वेंचर कैटेलिस्ट पोर्टफोलियो कंपनी पियर टेक्नोलॉजी ने रेस्टोरेंट्स को मुफ्त में कॉन्टेक्टलेस डाइन-इन ऑर्डरिंग सुविधा देने की पेशकश की है। इस समय मुंबई स्थित डीप-टेक स्टार्टअप ने नए रेस्टोरेंट्स के लिए लिस्टिंग शुल्क भी माफ कर दिया है। सोशल डिस्टेंसिंग अब नया मानक बनते जा रहा है और पियर द्वारा की गई पहल से ग्राहक बिना किसी शारीरिक संपर्क के अपने पसंदीदा रेस्टोरेंट में ऑर्डर कर सकेंगे।

इन फीचर के जरिये ग्राहक कंपनी के किसी भी पार्टनर रेस्टोरेंट में जा सकते हैं, टेबल पर क्यूआर कोड को स्कैन कर सकते हैं, 3डी ऑग्मेंटेड रियलिटी में मेनू देख सकते हैं, अपने फोन से कई कोर्स ऑर्डर कर सकते हैं और एक ही बार में बिल का भुगतान कर सकते हैं। इससे मेन टचप्वाइंट जैसे मेनू कार्ड और बिल बुक की जरूरत नहीं होगी और सर्वर स्टाफ के साथ बातचीत भी कम करनी होगी। एक यूनिक 3डी मेनू सुविधा से सुसज्जित, पियर उन्हें ऑर्डर देने से पहले डिश की 3डी तस्वीरें देखने की अनुमति देगा, जिससे ग्राहकों को अधिक सूचित निर्णय लेने में मदद मिलेगी। ग्राहक जोमैटो गोल्ड या डाइनआउट गॉर्मेट पासपोर्ट जैसी मेंबरशिप लिए बिना पियर ऐप के जरिये किए अपने आदेशों पर 50% तक छूट का लाभ उठा सकते हैं। इस प्रकार, कॉन्टेक्टलेस मेनू, कॉन्टेक्टलेस ऑर्डरिंग और कॉन्टेक्टलेस पेमेंट की सुनहरी तिकड़ी को सक्षम करते हुए भोजन को बेहद सुरक्षित बना रहे हैं।

इस घटनाक्रम पर बात करते हुए पियर टेक्नोलॉजी के सह-संस्थापक धार्मिन वोरा ने टिप्पणी की, “हमने हमेशा यह माना है कि ग्राहकों के लिए रेस्टोरेंट में अपने फोन से मेनू और ऑर्डर देखना अधिक सुविधाजनक और स्वास्थ्यकर है। हालांकि, कोविड-19 संकट के बीच अब रेस्टोरेंट के लिए हाई-टच, नॉन-सैनिटाइज्ड ऑब्जेक्ट्स जैसे मेनू कार्ड और बिल बुक्स को हटाना जरूरी हो गया है। हम पहले ही ग्राहकों की आदत में बदलाव देख रहे हैं, जिसमें लोग रेस्टोरेंट में ऑर्डर करते समय तस्वीरों और व्यंजनों के 3डी मॉडल देखना पसंद करते थे। यह महामारी इस बदलाव को और गति देगी। वर्तमान में हम एनआरएआई से बातचीत कर रहे हैं ताकि ग्राहकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए लॉकडाउन के बाद भी कॉन्टेक्टलेस ऑर्डर देने और एक बार फिर आराम से भोजन करने का मौका दिया जा सके।”

वेंचर कैटेलिस्ट्स के संस्थापक डॉ. अपूर्व रंजन शर्मा ने कहा, “हम यकीन है कि इस महामारी की वजह से रेस्टोरेंट में ऑर्डर देने के तरीके में स्थायी बदलाव आ जाएगा। पियर टीम में इस बदलाव से निपटने में रेस्टोरेंट्स की मदद करने की क्षमता है और यह लॉकडाउन खत्म होने के बाद ग्राहकों के लिए इसे सुविधाजनक और सुरक्षित बनाएगा। चूंकि, भारत की कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई जारी है और ऐसे में अपनी सेवाएं मुफ्त में देने का पियर का निर्णय सराहनीय है। हमें उनके प्रयासों का हिस्सा बनने पर गर्व है और हम उनकी आगे की यात्रा का समर्थन करने के लिए तत्पर हैं।”

ग्राहक सुरक्षा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के हिस्से के रूप में पियर भी रेस्टोरेंट्स को एक बार इस्तेमालयोग्य कटलरी का उपयोग करने की सलाह दे रहा है। लॉकडाउन प्रतिबंध हटने के बाद स्वच्छता प्रथाओं के बारे में उन्हें शिक्षित करना आवश्यक होगा। इसके अलावा इसने प्रत्येक रेस्टोरेंट के लिए स्वच्छता रेटिंग प्रदान करना शुरू किया है ताकि ग्राहक सूचित निर्णय ले सकें। स्टार्टअप ने अपने ऐप के माध्यम से संसाधित किए प्रत्येक 100 ऑर्डर पर एक कमजोर तबके के परिवार को खिलाने के लिए सीएसआर अभियान लॉकडाउन के बाद शुरू करने की योजना बनाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.