प्रमुख सुर्खियाँ :

लेगो लीग इंडिया- 2018 का गुरुग्राम से हुआ आगाज़

गुड़गाँव| प्रथम लेगो लीग इंडिया प्रतियोगिता की शुरुआत 13 जनवरी से गुरुग्राम के पाथवेस स्कूल से हुआ | भारत के विभिन्न शहरों में आयोजित होने वाली इस प्रतियोगिता में 2000 से अधिक छात्रों के भाग लेने की संभावना है | यह आयोजन पैन इंडिया स्तर पर भारत के आठ शहरों में आयोजित हो रहा है | जिसमें दिल्ली-एनसीआर, कोलकाता, बैंगलोर, चेन्नई, अहमदाबाद, कोयम्बटूर, मुंबई और हैदराबाद शामिल हैं| भारतीय स्टेम फाउंडेशन (ISF) द्वारा आयोजित इस प्रतियोगिता का उद्देश्य छात्रों को एक ऐसा मंच प्रदान करना है जिससे छात्र स्टेम के क्षेत्र में कैरियर की संभावना तलाश सकें और समाज के बेहतरी के लिए अपना योगदान दे सकें | यह प्रतियोगिता पहले क्षेत्रीय स्तर पर होगी, उसके बाद 10 -11 फ़रवरी को वेलामल बोधि कैम्पस चेन्नई में ग्रैंड नेशनल चैंपियनशिप का आयोजन होगा | राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में जीतने वाली टीम अमेरिका, हंगरी और एस्टोनिया में आयोजित होने वाले अंतराष्ट्रीय चैम्पियनशिप में 80 से अधिक देशों के बीच भारत का प्रतिनिधित्व करेगी |

इस लेगो लीग में सबसे पहले 9 से 16 आयु वर्ग के छात्रों के लिए स्टेम रोबोटिक्स प्रतियोगिता हुआ, जो बच्चों को मजेदार तरीके से विज्ञान और प्रद्योगिकी में आने वाले कठिनाइयों से रूबरू कराया वहीं 2-10 सदस्यों की एक टीम में छात्र वर्तमान वास्तविक दुनिया के वैज्ञानिक प्रश्न या समस्या को अपने शोध और डिजाइन से स्वयं समाधान ढूंढते नज़र आये , तथा स्वयं रोबोट का निर्माण भी किये | जो विभिन्न मिशन के लिए एक श्रृंखला प्रदर्शित करती हैं तथा 21 वीं सदी के कौशल या जीवन कौशल में तुरंत सुधार करने में सक्षम है | यह आयोजन ‘हाईड्रोडायनामिक्स’ के केंद्र पर आधारित रहा , तथा यह कार्यक्रम मानव जल-चक्र संबंधित मुद्दों के लिए अपने अभिनव समाधानों का प्रदर्शन करने वाले छात्रों का गवाह बन रहा है। इंडिया स्टेम फाउंडेशन (आईएसएफ) के सीईओ और निदेशक सुधांशु शर्मा ने बताया कि –“ भारत और अन्य जगहों पर कौशल तेजी से विकसित हो रहे हैं |फिक्की – नास्काम के एक रिपोर्ट के आधार पर 2022 तक, भारत के एक तिहाई से अधिक कर्मचारियों को नए कौशल की आवश्यकता होगी। युवाओं को अलग अलग कौशल क्षेत्र में आवश्यकतानुसार सक्षम करना होगा , ऐसे प्लेटफार्मों के माध्यम से शुरुआती उम्र में छात्रों को विज्ञान और प्रौद्योगिकी की दुनिया से रूबरू कराना आवश्यक है। इन प्लेटफार्मों में छात्रों के बीच मज़ेदार तरीके से आवश्यक स्टेम कौशल को विकसित करने के अलावा एक बेहतर भविष्य के लिए तैयार करने में काफी मदद मिलेगी | यह भी उल्लेख करना महत्वपूर्ण है कि ऐसे कार्य में लगे संगठनों का समर्थन कार्यक्रम की सफलता सुनिश्चित करता है। आईएसएफ वर्तमान एफएलएल इंडिया सीजन के लिए रॉकवेल ऑटोमेशन इंडिया, फोर्ड मोटर्स इंडिया और वेलामल बोधी स्कूल द्वारा समर्थन के लिए आभारी हैं |”

पहली लेगो लीग इंडिया की शुरुआत 2009 में हुई थी और उसके बाद से, 1000 से अधिक टीमों ने प्रतियोगिता में भाग लिया है। राष्ट्रीय स्तर पर योग्य टीमों ने भारत का प्रतिनिधित्व किया है तथा टीम वर्क द्वारा अपनी रणनीतियों और डिजाइन, अनुसंधान और नवाचार के माध्यम से कई अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं जैसे- वर्ल्ड फेस्टिवल अमेरिका , एशिया पैसिफिक चैम्पियनशिप आस्ट्रेलिया , यूरोपीय ओपन चैम्पियनशिप, और अंतर्राष्ट्रीय ओपन चैंपियनशिप में पुरस्कार जीते हैं।

 

टीम डिजिटल

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account