बच्चों में जागरूकता लगाएगी बाल अपराध पर अंकुश

करनाल। नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी द्वारा स्थापित कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन (केएससीएफ) के तत्वावधान में चल रहे ‘एक्सेस टू जस्टिस’ प्रोजेक्ट के तहत करनाल जिले के नेवल गांव के राजकीय मिडिल स्कूल में एमडीडी ऑफ इंडिया द्वारा एक सेमिनार का आयोजन किया गया। जिममें एमडीडी ऑफ इंडिया की ओर से रामेश्वर दास द्वारा बच्चों को पॉक्सो कानून, गुड टच, बैड टच, बाल श्रम, बंधुआ मजदूरी, ट्रैफिकिंग व चाइल्ड हेल्पलाइन के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी गई।

एमडीडी ऑफ इंडिया की ओर से सुश्री राधिका सपरा (ORW) राजकीय मिडिल स्कूल नेवल की अध्यापिका सुश्री तनुजा, सुमन, ममता, मास्टर रामकुमार जी ने सेमिनार में हिस्सा लिया। अध्यापिका तनुजा जी ने सेमिनार के अंत में बच्चों को उपरोक्त विषयों पर दी गई जानकारी को याद रखने के लिए कहा और इसके साथ ही केएससीएफ और एमडीडी के प्रयासों को सराहा।

एमडीडी ऑफ इंडिया बाल अधिकारों के प्रति लोगों को जागरूक करने के मकसद से लगातार ऐसे सेमिनार का आयोजन कर रहा है। इस मौके पर एमडीडी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह मान ने कहा कि इस मुहिम का उद्देश्य आमजन और विशेषतः स्कूली बच्चों को जागरूक करना है ताकि वे सही और गलत का अंतर समझते हुए खुद को ‘बाल यौन शोषण’, ‘ट्रैफिकिंग’ और ‘बाल-श्रम’ के संभावित खतरे से बचा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.