रुनाया रिफाइनिंग को मिली निवेश-ग्रेड रेटिंग


नई दिल्ली/ टीम डिजिटल।
इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च द्वारा रुनाया रिफाइनिंग को आईएनडी बीबीबी की लंबी अवधि वाली जारीकर्ता रेटिंग दी गई है। उसे यह रेटिंग रुनाया रिफाइनिंग के सामने वाले पक्ष के साथ संचालनात्मक जुड़ाव, परियोजना का नियमित तौर पर समयबद्ध क्रियान्वयन, विदेशी तकनीक कंपनी के साथ कामयाब गठजोड़, कार्यशील पूंजी की कम आवश्यकता और ग्राहकों पर ज्यादा केंद्रित होने के आधार पर दी गई है।
इंडिया रेटिंग एंड रिसर्च के अनुसार, मार्च 2023 तक अशुद्ध् एल्युमीनियम के प्रसंस्करण के लिए रुनाया रिफाइनिंग वेदांता के साथ जिस दृढ़ समझौते का हिस्सा बनी है, वह परियोजना को पूरा होने में अपना योगदान देगा। कंपनी धातु की पुनरूप्राप्ति के लिए झारसुगुडा में वेदांता के निक्षेप गृह के पास गर्म और ठंडी अशुद्ध धातु की यूनिटों को क्रियान्वित कर रहा है। एक अन्य वजह यह बताई जा रही है कि अक्टूबर 2018 से अपने संचालन की शुरुआत के बाद से, रुनाया रिफाइनिंग यूनिटों की स्थापना और क्षमता के प्रसार के मामले में बिल्कुल सही ढंग से आगे बढ़ रही है। अक्टूबर 2019 तक रुनाया द्वारा गर्म अशुद्ध धातु प्रसंस्करण ईकाई और कोयले के ईंट की ईकाई की स्थापना की उम्मीद है, जो कि तय योजना के तहत है।

रुनाया रिफाइनिंग की सीईओ अनन्या अग्रवाल कहती हैं, हमें खुशी है कि रुनाया को निवेश-ग्रेड की क्रेडिट रेटिंग दी गई है, जो कि परियोजना चरण में होने के बावजूद काफी बेहद मजबूत प्रोजेक्ट डायनैमिक्स प्रदर्शित कर रहा है। यह कंपनी और इसके कुशल संचालन मॉडल की मजबूत आर्थिक स्थिति को प्रमाणित करता है। एल्युमीनियम उद्योग में स्थायित्वपूर्ण प्रगति को कायम करना ही रुनाया का दृष्टिकोण है। परियोजना का विकास एक महत्वपूर्ण रणनीतिक पहल होगी, जो कि ऐसे मूल्य-वर्धित उत्पादों को तैयार करेगी, जो क्षेत्रीय और वैश्विक बाजारों को फायदा पहुंचाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.