Literature News : JCB प्राइज फॉर लिटरेचर 2022 ने की अंतिम चयन सूची की घोषणा

नई दिल्ली। जेसीबी प्राइज फॉर लिटरेचर ने आज शहर के ग्लेनबर्न पेंटहाउस, कोलकाता में शहर के प्रतिष्ठित लेखकों, अनुवादकों और साहित्यिक समुदाय की विशेष बैठक में अपनी 2022 की अंतिम चयनित सूची की घोषणा की। यह प्रतिष्ठित साहित्यिक पुरूस्कार 2018 में प्रारम्भ किया गया था और इस वर्ष यह अपनी पांचवी वर्षगांठ मना रहा है। जेसीबी प्राइज फॉर लिटरेचर प्रत्येक वर्ष विशेष निर्णायक मंडल द्वारा चुने गए किसी भारतीय लेखक को साहित्य के क्षेत्र में किये एक विशिष्ट कार्य के लिए प्रदान किया जाता है। निर्णायक मंडल के प्रमुख, ए एस पन्नीरसेलवन ने कोलकाता कार्यक्रम में अंतिम चयनित सूची की घोषणा की। ये चयनित उपन्यास 5 अलग-अलग भाषाओं के अनुवाद हैं जिनमें उर्दू, हिंदी, बांग्ला, मलयालम और नेपाली शामिल हैं। साथ ही इस बार सूची में 2 नवोदित उपन्यासकार भी शामिल हैं। अंतिम चयन सूची की घोषणा के बाद, श्री जयंत कृपलानी, श्रीमती परमिता साहा और श्री संदीप रॉय ने श्रोताओं के लिए चयनित किये गए उपन्यासों के कुछ विशेष अंशों का पाठ किया।

चयनित सूची पर टिप्पणी करते हुए, निर्णायक मंडल 2022 के अध्यक्ष, श्री एएस पन्नीरसेल्वन ने कहा, “साहित्य को आंकना एक चुनौती है। नयी विषयवस्तु की खोज तथा नवीन साहित्यिक उपकरणों के प्रयोग से लेखक लगातार नए तथा उत्कृष्ट मापदंडों को पेश कर रहे हैं। हर प्रयोग महत्वपूर्ण है और हर नवाचार बहुमूल्य है। हालाँकि, जब चयन सूची का अंतिम मूल्यांकन किया गया, तो मानवीय मस्तिष्क के इन आश्चर्यजनक अविष्कारों ने मन की भावनात्मक शक्ति को प्राथमिक स्थान दिया, जहाँ साहित्य में सहानुभूति की भावना अंतिम चयनित सूची को निर्धारित करने का मापदंड बन गयी। अंतिम चयनित सूची में शामिल किये गए सभी उपन्यास सहानुभूति के विचार, सहमानवी के लिए चिंता और एक ऐसे विश्व दृष्टिकोण का उदाहरण पेश करते हैं जिसमें तर्क या बुद्धि प्रेम को दोयम दर्जे में नहीं धकेलती” ।

 

इस अंतिम चयनित सूची में शामिल किए गए उपन्यास हैं:

श्री मनोरंजन ब्यापारी द्वारा लिखित “ईमान”, जिसे श्री अरुणव सिन्हा द्वारा बांग्ला से अनुवादित किया गया है (प्रकाशक EKA)
श्री खालिद जावेद द्वारा लिखित “दी पैराडाइज़ ऑफ़ फूड”, जिसे उर्दू से श्रीमती बरन फारूकी द्वारा अनुवादित किया गया है (प्रकाशक जगरनॉट)
श्रीमती शीला टोमी द्वारा लिखित “वल्ली”, जिसे श्रीमती जयश्री कलाथिल द्वारा मलयालम से अनुवादित किया गया है (प्रकाशक हार्पर पेरेनियल)
श्रीमती गीतांजलि श्री द्वारा लिखित “टॉम्ब ऑफ़ सेंड”, जिसे श्रीमती डेज़ी रॉकवेल द्वारा हिंदी से अनुवादित किया गया है (प्रकाशक पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया)
श्री चुदेन कबीमो द्वारा लिखित “सॉन्ग ऑफ़ दी सॉइल”, जिसे श्री अजीत बराल द्वारा नेपाली से अनुवादित किया गया है (प्रकाशक रचना बुक्स)

 

जेसीबी प्राइज फॉर लिटरेचर के साथ सहयोग पर बात करते हुए प्रज्ञा शर्मा, निदेशक, मीडिया बिज़नेस, Amazon India, ने कहा कि “Amazon, के लिए यह बहुत ख़ुशी की बात है कि हम ‘जेसीबी प्राइज फॉर लिटरेचर’ की शुरुआत से ही इसके साथ जुड़े हैं। हम सब मिलकर देश में पढ़ने के जुनून को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। भारत कई अलग-अलग भाषाओं और विविध संस्कृतियों का घर है जो इतनी बड़ी संख्या में उच्च गुणवत्ता वाले साहित्य को लिखे जाने का कारण है। जेसीबी प्राइज फॉर लिटरेचर पिछले 4 वर्षों से लगातार भारतीय लेखकों द्वारा फिक्सन के क्षेत्र में किये गए विशिष्ट कार्यों को मान्यता देने वाला एक भरोसेमंद और प्रतिष्ठित स्रोत रहा है और Amazon India इन बहुमूल्य साहित्यिक रत्नों को पूरे देश और उसके बाहर के पाठकों के समक्ष लाने के लिए उत्साहित है। ”

अगले महीने इस पुरुस्कार के विजेता की घोषणा की जाएगी, इसी के साथ साहित्य निदेशक मीता कपूर ने कहा , “असल में बात ये है कि जेसीबी प्राइज फॉर लिटरेचर के 5वें वर्ष हमारे पास अभी तक की सबसे अधिक विविधता वाली अंतिम चयनित सूची है, जो हमें आशा से भर देती है। यह एक ऐसी सूची है जो भारत को अपने विभिन

समयों और स्थानों के दृष्टिकोणों से सामने ला रही है। यह वास्तव में भाषाओं, लेखकों और प्रकाशकों के एक ऐसे इंद्रधनुष का प्रतिनिधित्व कर रहा है जो हमारे साहित्यिक जगत को बनाते हैं, लेकिन सबसे बढ़कर यह ऐसे उत्कृष्ट लेखन की गुणवत्ता को प्रदर्शित करता है जो भारत विश्व को दे सकता है।”

पुरस्कार की बात करें तो अंतिम रूप से चयनित किए गए पांच लेखकों में से प्रत्येक को 1 लाख रुपये मिलेंगे; और यदि इसमें अनुवादित रचना का चयन किया जाता है, तो अनुवादक को अतिरिक्त 50,000 रुपये मिलेंगे। साहित्य के लिए 25 लाख रुपये के जेसीबी प्राइज फॉर लिटरेचर के विजेता की घोषणा 19 नवंबर, 2022 को की जाएगी। यदि इसमें अनुवादित रचना का चयन किया जाता है, तो अनुवादक को अतिरिक्त 10 लाख रुपये मिलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.