महामारी के बाद जून 2022 में सबसे ज्यादा लोगों ने यात्रा की

नई दिल्ली। ओयो की वर्ल्ड टूरिज्म डे रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि पिछले 2 साल की महामारी के कारण जो लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे थे, अब वह सभी लोग फिर से घूमने के लिए अपने घर से बाहर की तरफ निकल रहे हैं। जनवरी 2022 से सितंबर 2022 तक ओयो द्वारा अध्ययन किए गए बुकिंग डेटा में यह बात सामने आई है कि पिछले साल इसी अवधि की तुलना में जनवरी-सितंबर 2022 में पर्यटन का आनंद लेने वाले लोगों में 62% की वृद्धि हुई है। लोग अब एक नए विश्वास के साथ अपने घरों से पर्यटन के लिए बाहर निकल रहे हैं जिससे घरेलू पर्यटन को प्रोत्साहन प्राप्त हो रहा है। इसके अलावा, जून 2022 में पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में मांग में सबसे अधिक वृद्धि देखी गई
टूरिज्म के ज्यादातर क्षेत्रों में अच्छी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है परंतु विशेष रूप से भारत में यात्रा और टूरिज्म इकोनामी में प्रमुख योगदान “अवकाश पर्यटन” के कारण देखा जा रहा है। इस डाटा के विश्लेषण में यह बात सामने आई है कि जयपुर और गोवा भारत के पसंदीदा अवकाश स्थलों के रूप में शीर्ष पर हैं हालांकि कोच्चि वाराणसी एवं विशाखापट्टनम भी भारतीय यात्रियों के बीच लोकप्रिय स्थान के रूप में सामने आए हैं। डाटा से पता चलता है कि ज्यादातर लोग समुद्र तट के आसपास के क्षेत्र में घूमने जाना चाहते हैं और उसके बाद भारत के हेरिटेज सिटी की यात्रा करना चाहते हैं। यदि बिजनेस डेस्टिनेशन की बात की जाए तो दिल्ली, हैदराबाद, बेंगलुरु कोलकाता तथा चेन्नई 2022 की पहली तिमाही में भारत में शीर्ष स्थान पर मौजूद हैं।
इस साल गर्मियों की छुट्टियों में टूरिज्म इंडस्ट्री में रिकॉर्ड तोड़ वृद्धि देखी गई थी, इसलिए आगामी त्योहारी सीजन में छुट्टियों के मौसम में छोटे और मध्यम स्थानीय हॉस्पिटैलिटी बिजनेस में बेहतरीन वृद्धि की उम्मीद है। जिस प्रकार लोग अभी बुकिंग कर रहे हैं उस डाटा के हिसाब से विश्लेषण के बाद ऐसा अनुमान है की मेट्रो शहर जैसे कि दिल्ली, हैदराबाद, बेंगलुरु, कोलकाता तथा चेन्नई आने वाले महीनों में सबसे ज्यादा टूरिस्ट की वृद्धि देखेंगे। डाटा के विश्लेषण से यह भी पता चला है कि जयपुर, गोवा, नागपुर, देहरादून और वाराणसी “अवकाश यात्रा” के लिए सबसे टॉप 10 डेस्टिनेशन के रूप में लाभान्वित होंगे।
यदि टॉप हंड्रेड डेस्टिनेशन का विश्लेषण किया जाए तो अक्टूबर से दिसंबर 2022 में लगभग 25% लोगों के लिए हिल स्टेशन घूमने के लिए पसंदीदा जगह बन कर सामने आएंगे, जबकि 20% लोगों का रुझान हेरिटेज सिटी की तरफ होगा तथा 10% लोग समुद्र तट के आसपास के क्षेत्रों में घूमना पसंद करेंगे। प्रयागराज, रायपुर, पुरी, नासिक एवं बरेली कुछ ऐसे डेस्टिनेशन हैं जिन्हें भी सूची में शामिल किया गया है क्योंकि घूमने के लिए भारतीय यात्री ऐसी जगहों को भी चुन रहे हैं जहां पर अभी तक एक्सप्लोर करना बाकी है।
बदलते यात्रा परिदृश्य पर टिप्पणी करते हुए श्रीरंग गोडबोले, चीफ सर्विस ऑफीसर एंडएसवीपी-प्रोडक्ट,ओयो ने कहा “लोगों की घूमने फिरने की आदतों एवं पसंदीदा स्थानों के प्रति उनकी भावनाओं में एक बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है। कई बार अंतिम समय में अनप्लांड छुट्टियां या फिर कम समय के लिए घूमने हेतु लोग आसपास के अलग-अलग डेस्टिनेशन की खोज करना चाहते हैं जो कि इस समय एक प्रासंगिक ट्रेंड के रूप में सामने आ रहा है। यह बहुत ही सुविधाजनक है। ग्राहकों को उनकी सुविधा के अनुरूप उपलब्धता मिलना, अपनी शर्तों के अनुरूप सफर करने का निर्णय लेना, सुविधा और पर्सनलाईज़ेशन, ये सभी तत्व ग्राहकों की यात्रा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यहां पर ओयो में हमने आजकल के उपभोक्ताओं की ट्रेवल हैबिट तथा उनकी वरीयता पर गहराई से अध्ययन किया है और इसीलिए हमने ओयो ऐप पर कई सुविधाएं देनी शुरू कर दी हैं जिससे कि लोगों को अपनी ट्रेवल प्लानिंग में सहायता प्राप्त हो सकेगी, चाहे वह अंतिम समय में ही यात्रा का निर्णय क्यों ना ले रहे हों।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.