उर्मिला मातोंडकर गयीं कांग्रेस छोडकर

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। फिल्म अभिनेत्री और लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की टिकट पर चुनाव हारी उर्मिला मातोंडकर ने 167 दिन बाद ही कांग्रेस को अलविदा कह दिया । उनका मोहभंग हो गया कांग्रेस से । कह रही हैं कि तुच्छ स्थिति में है पार्टी । वैसे पहले कह रही थीं कि चाहे जीत हो हार नहीं छोडेंगी हाथ पर छह माह के अंदर ही छोड गयीं । कोई बडी हैरानी की बात नहीं ।

फिल्म अभिनेता /अभिनेत्रियां राजनीति में आते और जाते रहते हैं । कोई नयी बात नहीं । सबसे पहले बिग बी अमिताभ बच्चन अपने सखा राजीव गांधी के आग्रह पर राजनीति में आए और हेमवतीनंदन बहुगुणा को इलाहाबाद में चित्त कर दिया । पर उन्हें बोफोर्स के लपेटे में ऐसा लपेटा गया कि वे सदा सदा के लिए राजनीति से तौबा कर गये । लोकसभा से इस्तीफा दे दिया । इसी प्रकार गोबिंदा छोरा विरार का भी कांग्रेस की टिकट पर लोकसभा पहुंचा और जल्द ही मोहभंग हो गया । अगला चुनाव नहीं लडे । फिर ठुमके लगाने लगे छोटी बडी स्क्रीन पर । बडे मियां तो बडे मियां , छोटे मियां सुभान अल्लाह ।

राजेश खन्ना , विनोद खन्ना और शत्रुघ्न सिन्हा कितने ही हीरो आए । देवानंद ने अपनी पार्टी ही बना ली थी । राखी सावंत भी एक बार बडी बेकरार रहीं राजनीति में आने को । हंसराज हंस कभी अकाली दल तो कभी कांग्रेस और अब जाकर भाजपा से दिल्ली में सांसद बन पाए ।  अभिनेता धर्मेंद्र हेमामालिनी के आग्रह पर बीकानेर से सांसद जरूर बने लेकिन हाथ जोड गये । अब सन्नी द्योल गुरुदासपुर से सांसद बने हैं । कब तक राजनीति सुहायेगी ? कितने ही अन्य अभिनेता हैं ।

असल बात यही है कि इन्हें लोकप्रियता और ग्लैमर के कारण राजनीति वाले इन्हें एप्रोच करते हैं । विचार या जनसेवा के लिए कम । फिर इन्हें दुख या पछतावा कैसा ?

कमलेश भारतीय, वरिष्ठ  पत्रकार  

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.