साल का गरजता प्रीमियर ‘आरआरआर’, इस रविवार दोपहर 12 बजे, सिर्फ & %A

नई दिल्ली। राम की जबर्दस्त ज्वाला, भीम की भयंकर दहाड़ और, इन दोनों का जोरदार संगम जिसने एक इतिहास रच दिया! एंड पिक्चर्स के लिए यह अक्टूबर एक बड़ा त्यौहारआरआर लेकर आया है, जहां फिल्म ‘आरआरआर’ के साथ इस रविवार 16 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे, रामचरण, जूनियर एनटीआर, अजय देवगन और आलिया भट्ट मिलकर इस साल के गरजते प्रीमियर से पर्दा उठाने जा रहे हैं। भव्यता के मास्टर एस. एस. राजामौली के निर्देशन में बनी इस फिल्म में वो सबकुछ है, जिसकी आप कल्पना कर सकते थे और इसके अलावा भी बहुत कुछ शामिल है! धुआंधार एक्शन, जानदार विजुअल्स, अभूतपूर्व स्टंट्स, बेहतरीन कलाकार और एक ऐसी कहानी जो आपको बांधे रखेगी… जहां ये सारी खूबियां एक साथ हों, तो इसमें आश्चर्य नहीं कि आरआरआर ने तमाम रिकॉर्ड्स तोड़े और दुनिया भर में एक बड़ी सफलता हासिल की।

यदि इन खूबियों ने अब भी आपको आकर्षित नहीं किया तो आइए नज़र डालते हैं उन 7 कारणों पर जो इस रविवार 16 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे प्रसारित होने वाली आरआरआर को देखने लायक बनाते हैं, आरआरआर भारत में सबसे ज्यादा कमाई करने वाली तीसरी फिल्म है और दुनिया भर में सबसे ज्यादा कमाई करने वाली दसवीं फिल्म है। इस फिल्म से आलिया भट्ट और अजय देवगन ने साउथ में डेब्यू किया है; बता दें कि आलिया ने खास तौर पर इस फिल्म के लिए तेलुगू बोलना सीखा था।
राम चरण के प्रभावशाली इंट्रोडक्शन सीन, जिसे इतिहास में हमेशा याद रखा जाएगा, के लिए इस टीम ने 32 दिनों तक शूटिंग की थी। इस शॉट को लेकर डायरेक्टर एस. एस. राजामौली ने कहा, “रामचरण का इंट्रो ‘आरआरआर’ के सबसे ज्यादा दिल दहलाने वाले शॉट्स में से एक था। इसमें कम से कम 1000 लोग रामचरण पर हमला करने के लिए आगे बढ़ते हैं। ये शॉट इतना हाई-वोल्टेज था कि शॉट के दौरान मैं खुद ही घबरा गया था। जब एक हजार लोगों की गैंग किसी एक आदमी पर टूट पड़े तो किस तरह महसूस होता है, इसे पूरे जज़्बात के साथ पेश किया गया। लेकिन शुक्र है कि उन्होंने बिना किसी खरोंच के यह शॉट पूरा किया।”
अकेले आरआरआर का शानदार एनिमेशन तैयार करने में छह महीने लग गए।

आप भी ‘आरआरआर’ के धमाकेदार प्रीमियर के साथ इस फुल-ऑन एंटरटेनर का मजा लीजिए, रविवार 16 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे, सिर्फ एंड पिक्चर्स पर।

डायरेक्टर एस. एस. राजामौली अपनी ज्यादातर फिल्मों में एक प्रभावशाली और भव्य इंटरवल सीन डिज़ाइन करने के लिए जाने जाते हैं। इसी ट्रेंड को जारी रखते हुए आरआरआर में भी भारतीय सिनेमा के सबसे यादगार और रोमांचक इंटरवल सीन्स में से एक दिखाया गया।
आरआरआर अब तक की सबसे महंगी भारतीय फिल्मों में से एक है।
इस फिल्म की असली शूटिंग से पहले की रिहर्सल, ऑडिशन और स्क्रीन टेस्ट करने में पूरे 200 दिन लगे।
शानदार विजुअल्स और बेमिसाल डायरेक्शन के साथ फिल्म आरआरआर, दो प्रसिद्ध क्रांतिकारियों अल्लुरी सीताराम राजू (चरण) और कोमारम भीम (रामाराव) की ज़िंदगी और अपने घर से दूर उनका सफर दिखाती है। राम और भीम, दोनों अलग-अलग विचारधाराओं के साथ पले बढ़े हैं, लेकिन दोनों का मकसद एक ही है। उनके रास्ते उन्हें एक दूसरे से मिलाते हैं और फिर उनके बीच दोस्ती का एक अटूट रिश्ता बन जाता है। यह फिल्म उनकी ज़िंदगी के उस दौर को दिखाती है, जब इन दोनों बागियों ने अपने देश के लिए लड़ने से पहले गुमनामी की ज़िंदगी गुजारी थी।